Sunday, April 18, 2021
Home रिपोर्ट अंतरराष्ट्रीय मुस्लिम होने के लिए सताया तो 'एंटी सोशल' हो गया: 10 लोगों की हत्या...

मुस्लिम होने के लिए सताया तो ‘एंटी सोशल’ हो गया: 10 लोगों की हत्या करने वाले अहमद के भाई का दावा

कुछ वायरल पोस्ट देख कर पता चलता है कि अहमद बेहद शक्की किस्म का शख्स है। हर चीज के लिए वह इस्लामोफोबिया को जिम्मेदार मानता है। 5 जुलाई 2019 को उसने अपने फोन के हैक होने के पीछे भी इस्लामोफोबिया को कारण बता दिया था।

अमेरिका के कोलोराडो के बोल्डर स्थित सुपरमार्केट में कल (मार्च 23, 2021) फायरिंग कर 10 लोगों को हत्या करने वाले अहमद अल अलीवी अलीसा (Ahmad Al Aliwi Alissa) पुलिस की हिरासत में है। इस बीच उसके भाई ने दावा किया है कि अहमद मानसिक तौर पर शायद बीमार हो। भाई के मुताबिक हाई स्कूल में अहमद को उसके नाम और मुस्लिम होने के कारण सताया जाता था, जिसके कारण वह ‘एंटी सोशल’ हो गया था। 

वहीं डैमिन क्रूज नाम के एक व्यक्ति का कहना है कि वह अहमद को 5वीं कक्षा से जानता है। क्रूज का दावा है कि अहमद बहुत अकेला था। लोग उसके गुस्से के कारण उससे उलझते भी नहीं थे। क्रूज के मुताबिक अहमद अक्सर मुस्लिमों के साथ होते रवैए पर बात करता था। वह कहता था कि मुस्लिमों को बराबरी नहीं दी जा रही। उनके साथ बुरा बर्ताव होता है।

अहमद के एक पूर्व क्लासमेट की मानें तो वह (अहमद) अक्सर सोचता था कि उसे मुस्लिम होने के कारण प्रताड़ित किया जा रहा है। एक क्लासमेट के अनुसार, वह अपने मुस्लिम होने पर बात करता था और कहता था कि अगर किसी ने उसके साथ कुछ भी किया तो वह हेटक्राइम फाइल करेगा।

इतना ही नहीं अहमद अपने आपको नस्लवाद का पीड़ित बताता था और सोचता था कि लोग उसके बारे में अनाप-शनाप बोल रहे हैं। उसके एक रिश्तेदार ने ये भी बताया है कि सुपरमार्केट में गोलीबारी करने से दो दिन पहले उन्होंने उसे मशीन गन जैसी दिखने वाली चीज से खेलते देखा था।

2018 में अहमद को थर्ड डिग्री हमले का दोषी पाया गया था। उस समय उसने एक क्लासमेट पर हमला किया था। इसके बाद उसे 1 साल की सजा हुई थी। 

फेसबुक ने डिलीट की अहमद की सोशल मीडिया प्रोफाइल

शूटर अहमद की पैदाइश सीरिया की है। पुलिस ने अभी उसकी कोई जानकारी रिवील नहीं की है। मगर उसके सोशल मीडिया प्रोफाइल से पता चला है कि वह सीरिया में जन्मा और आधे से ज्यादा जीवन अमेरिका में बिताया। उसके कट्टरपंथी विचार वाले कई पोस्ट हर जगह वायरल होने के बाद फेसबुक ने उसके अकाउंट को डिलीट कर दिया है। उसकी प्रोफाइल न केवल फेसबुक से हटी है, बल्कि इंटरनेट की अर्काइव वेबसाइट से भी गायब है। फेसबुक का कहना है कि Dangerous Individuals and Organizations policy के तहत उसकी प्रोफाइल हटाई गई है। 

कुछ वायरल पोस्ट देख कर पता चलता है कि अहमद बेहद शक्की किस्म का शख्स है। हर चीज के लिए वह इस्लामोफोबिया को जिम्मेदार मानता है। 5 जुलाई 2019 को उसने अपने फोन के हैक होने के पीछे भी इस्लामोफोबिया को कारण बता दिया था।

इसके अलावा वह डोनाल्ड ट्रंप से नफरत करता था। वह अक्सर ऐसे आर्टिकल लिंक शेयर करता था जिसमें ट्रंप के विरोध में बातें हो या उनकी आलोचना हो।

वह कट्टर इस्लामी समर्थक था और खुलेआम समलैंगिकता का विरोध करता था। उसने एक पोस्ट में लिखा था, “अगर कोई सीधा इंसान जेल जाए और गे बनकर लौटे तो इसका मतलब ये नहीं होता कि वह अपनी मर्जी से गे बना है।”

बता दें किअहमद ने जिस सुपरमार्केट में गोलीबारी की थी वहाँ हमले के वक़्त अच्छी-खासी भीड़ थी। मरने वालों में एक पुलिस अधिकारी भी शामिल थे। फिलहाल इस वारदात के पीछे की मंशा का पता नहीं चल पाया है। फायरिंग में अहमद भी घायल हो गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दूसरी लहर सँभल नहीं रही, ठाकरे सरकार कर रही तीसरी की तैयारी: महाराष्ट्र के युवराज ने बताया सरकार का फ्यूचर प्लान

महाराष्ट्र के अस्पतालों में न सिर्फ बेड्स, बल्कि वेंटिलेटर्स और ऑक्सीजन की भी भारी कमी है। दवाएँ नहीं मिल रहीं। ऑक्सीजन और मेडिकल सप्लाइज की उपलब्धता के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भारतीय सेना से मदद के लिए गुहार लगाई है।

10 ऑक्सीजन निर्माण संयंत्र, हर जिले में क्वारंटीन केंद्र, बढ़ती टेस्टिंग: कोविड से लड़ने के लिए योगी सरकार की पूरी रणनीति

राज्य के बाहर से आने वाले यात्रियों के लिए सरकार रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बस स्टैन्ड पर ही एंटीजेन और RT-PCR टेस्ट की व्यवस्था कर रही है। यदि किसी व्यक्ति में कोविड-19 के लक्षण दिखाई देते हैं तो उसे क्वारंटीन केंद्रों में रखा जाएगा।

हिंदू धर्म-अध्यात्म की खोज में स्विट्जरलैंड से भारत पैदल: 18 देश, 6000 km… नंगे पाँव, जहाँ थके वहीं सोए

बेन बाबा का कोई ठिकाना नहीं। जहाँ भी थक जाते हैं, वहीं अपना डेरा जमा लेते हैं। जंगल, फुटपाथ और निर्जन स्थानों पर भी रात बिता चुके।

जिसने उड़ाया साधु-संतों का मजाक, उस बॉलीवुड डायरेक्टर को पाकिस्तान का FREE टिकट: मिलने के बाद ट्विटर से ‘भागा’

फिल्म निर्माता हंसल मेहता सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। इस बार विवादों में घिरने के बाद उन्होंने...

फिर केंद्र की शरण में केजरीवाल, PM मोदी से माँगी मदद: 7000 बेड और ऑक्सीजन की लगाई गुहार

केजरीवाल ने पीएम मोदी से केंद्र सरकार के अस्पतालों में 10,000 में से कम से कम 7,000 बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने और तुरंत ऑक्सीजन मुहैया कराने की अपील की है।

SC के जज रोहिंटन नरीमन ने वेदों पर की अपमानजनक टिप्पणी: वर्ल्ड हिंदू फाउंडेशन की माफी की माँग, दी बहस की चुनौती

स्वामी विज्ञानानंद ने SC के न्यायाधीश रोहिंटन नरीमन द्वारा ऋग्वेद को लेकर की गई टिप्पणियों को तथ्यात्मक रूप से गलत एवं अपमानजनक बताते हुए कहा है कि उनकी टिप्पणियों से विश्व के 1.2 अरब हिंदुओं की भावनाएँ आहत हुईं हैं जिसके लिए उन्हें बिना शर्त क्षमा माँगनी चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

‘वाइन की बोतल, पाजामा और मेरा शौहर सैफ’: करीना कपूर खान ने बताया बिस्तर पर उन्हें क्या-क्या चाहिए

करीना कपूर ने कहा है कि वे जब भी बिस्तर पर जाती हैं तो उन्हें 3 चीजें चाहिए होती हैं- पाजामा, वाइन की एक बोतल और शौहर सैफ अली खान।

सोशल मीडिया पर नागा साधुओं का मजाक उड़ाने पर फँसी सिमी ग्रेवाल, यूजर्स ने उनकी बिकनी फोटो शेयर कर दिया जवाब

सिमी ग्रेवाल नागा साधुओं की फोटो शेयर करने के बाद से यूजर्स के निशाने पर आ गई हैं। उन्होंने कुंभ मेले में स्नान करने गए नागा साधुओं का...

’47 लड़कियाँ लव जिहाद का शिकार सिर्फ मेरे क्षेत्र में’- पूर्व कॉन्ग्रेसी नेता और वर्तमान MLA ने कबूली केरल की दुर्दशा

केरल के पुंजर से विधायक पीसी जॉर्ज ने कहा कि अकेले उनके निर्वाचन क्षेत्र में 47 लड़कियाँ लव जिहाद का शिकार हुईं हैं।

ऑडियो- ‘लाशों पर राजनीति, CRPF को धमकी, डिटेंशन कैंप का डर’: ममता बनर्जी का एक और ‘खौफनाक’ चेहरा

कथित ऑडियो क्लिप में ममता बनर्जी को यह कहते सुना जा सकता है कि वो (भाजपा) एनपीआर लागू करने और डिटेन्शन कैंप बनाने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

SC के जज रोहिंटन नरीमन ने वेदों पर की अपमानजनक टिप्पणी: वर्ल्ड हिंदू फाउंडेशन की माफी की माँग, दी बहस की चुनौती

स्वामी विज्ञानानंद ने SC के न्यायाधीश रोहिंटन नरीमन द्वारा ऋग्वेद को लेकर की गई टिप्पणियों को तथ्यात्मक रूप से गलत एवं अपमानजनक बताते हुए कहा है कि उनकी टिप्पणियों से विश्व के 1.2 अरब हिंदुओं की भावनाएँ आहत हुईं हैं जिसके लिए उन्हें बिना शर्त क्षमा माँगनी चाहिए।

रोजा-सहरी के नाम पर ‘पुलिसवाली’ ने ही आतंकियों को नहीं खोजने दिया, सुरक्षाबलों को धमकाया: लगा UAPA, गई नौकरी

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले की एक विशेष पुलिस अधिकारी को ‘आतंकवाद का महिमामंडन करने’ और सरकारी अधिकारियों को...
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,230FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe