Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाज'ऐसा ब्रिटेन बनाऊँगा जहाँ हमारे बच्चे दीया जला सके': 10 डाउनिंग स्ट्रीट में दीवाली...

‘ऐसा ब्रिटेन बनाऊँगा जहाँ हमारे बच्चे दीया जला सके’: 10 डाउनिंग स्ट्रीट में दीवाली समारोह, ऋषि सुनक ने नवनिर्माण का संकल्प दुहराया

"इस पद पर रहते हुए मैं एक ऐसे ब्रिटेन के निर्माण के लिए सब कुछ करूँगा, जहाँ पर हमारे बच्‍चे और पोते-पोतियाँ दिया जला सकें और अपने भविष्य को लेकर आशान्वित हों।"

आर्थिक संकट में फँसे ब्रिटेन के ​नवनिर्माण को लेकर ऋषि सुनक (Rishi Sunak) ने अपनी प्रतिबद्धता दीपावली संदेश में भी दोहराई है। उन्होंने ब्रिटिश प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास 10 डाउनिंग स्ट्रीट में आयोजित दीवाली समारोह की तस्वीर ट्वीट कर कहा है कि वे ऐसे ब्रिटेन का निर्माण करेंगे, जहाँ हर बच्चा दीया जला सके।

सुनक ब्रिटेन के पहले अश्वेत और भारतीय मूल के प्रधानमंत्री हैं। उन्होंने गुरुवार (27 अक्टूबर 2022) को ट्वीट कर कहा है, “आज की रात 10 डाउनिंग स्ट्रीट के दीवाली कार्यक्रम में हिस्सा लेना बेहतरीन रहा। इस पद पर रहते हुए मैं एक ऐसे ब्रिटेन के निर्माण के लिए सब कुछ करूँगा, जहाँ पर हमारे बच्‍चे और पोते-पोतियाँ दिया जला सकें और अपने भविष्य को लेकर आशान्वित हों। आप सबको दीपावली की शुभकामनाएँ।’

​42 साल के सुनक अपनी हिंदू जड़ों और संस्कृति तथा आस्था को लेकर बेहद मुखर रहे हैं। उन्होंने बतौर सांसद गीता पर हाथ रखकर शपथ ली थी। ब्रिटेन का वित्त मंत्री रहते हुए भी अपने आधिकारिक आवास में दीपावली मनाई थी। ऐसे में इस बार उनके लिए दीवाली बेहद खास थी। उन्होंने मंगलवार (25 अक्टूबर 2022) को किंग चार्ल्स III से मुलाकात कर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी सँभाली थी।

प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद ऋषि सुनक ने अपने पहले भाषण में देश में चल रहे आर्थिक संकट और रूस-यूक्रेन युद्ध पर बात की थी। उन्होंने कहा था, “इस समय हमारा देश एक गहरे आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। यूक्रेन में युद्ध ने दुनिया भर के बाजारों को अस्थिर कर दिया है। पूर्व प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने इस देश के आर्थिक लक्ष्यों को प्राप्त करने की कोशिश की। मैं उनकी प्रशंसा करता हूँ। लेकिन उनके कार्यकाल में कुछ गलतियाँ हुईं हैं। हालाँकि, ये गलतियाँ गलत इरादे से नहीं की गईं, लेकिन गलतियाँ तो गलतियाँ ही होती हैं।”

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने यह भी कहा था, “मैं इस सरकार के एजेंडे के केंद्र में आर्थिक स्थिरता और विश्वास को रखूँगा। इसका मतलब होगा कि सरकार कठिन फैसले लेने वाली है। अपनी पार्टी और अपने देश को एक साथ लाना ही मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता है। यही एक तरीका है जिसके जरिए हम सभी चुनौतियों का सामना करेंगे और अपने बच्चों के लिए एक बेहतर भविष्य तैयार करेंगे। मैं ईमानदारी के साथ दिन-रात काम करूँगा और ब्रिटेन के लोगों की सेवा करूँगा।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शुक्र है मीलॉर्ड ने भी माना कि वो इंसान हैं! चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने को मद्रास हाई कोर्ट ने नहीं माना था अपराध, अब बदला...

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को अपराध नहीं बताने वाले फैसले को मद्रास हाई कोर्ट के जज एम. नागप्रसन्ना ने वापस लिया और कहा कि जज भी मानव होते हैं।

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -