Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाज‘Sissy men’ समाज को भ्रष्ट बना रहा है: चीन की सरकार ने 'फैन-कल्चर' से...

‘Sissy men’ समाज को भ्रष्ट बना रहा है: चीन की सरकार ने ‘फैन-कल्चर’ से लेकर ‘स्टार से प्यार’ तक को किया बैन

अधिकारियों ने कहा कि फैंन्स कल्चर अब एक एक्सप्लोइटेटिव इंडस्ट्री (शोषणकारी उद्योग) बन गया है, जिसका उद्देश्य नाबालिगों से लाभ कमाना है। यह कनेक्शन आर्टिफिशल तरी​के से सोशल मीडिया के जरिए बनाया गया है।

चीन के युवा अपने पसंदीदा सितारों और मशहूर हस्तियों को फॉलो और ट्रेंड करवाने के लिए वीबो जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर घंटों समय बिताते हैं। इसको देखते हुए चीन की सरकार ने सोशल मीडिया पर स्टार को फॉलो करने, ऑनलाइन सेलिब्रिटी रैंकिंग आदि जैसे ऑनलाइन उपक्रमों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

चीन की सरकार ने पिछले महीने (सितंबर 2021) “irrational star-chasing” नाम की इस ऐक्टिविटी पर बैन लगा दिया है। पूरी दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाले देश ने ‘नैतिकता की कार्रवाई’ के तहत स्टार को फॉलो करने, ऑनलाइन सेलिब्रिटी रैंकिंग, पैसों के लिए इसके इस्तेमाल और प्रशंसकों द्वारा सोशल मीडिया पर अपनी फोटो को ट्रेंड करने के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले अन्य उपकरणों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इस फैसले को उचित ठहराते हुए वहाँ के अधिकारियों ने कहा कि फैंन्स कल्चर अब एक एक्सप्लोइटेटिव इंडस्ट्री (शोषणकारी उद्योग) बन गया है, जिसका उद्देश्य नाबालिगों से लाभ कमाना है। यह कनेक्शन आर्टिफिशल तरी​के से सोशल मीडिया के जरिए बनाया गया है। अधिकारियों ने यह भी कहा कि फैन्स कल्चर के बढ़ते प्रभाव पर अंकुश लगाने के लिए इन नए नियमों की आवश्यकता थी। इसमें फ़ैन्डम के बीच साइबरबुलिंग, पीछा करना, डॉकिंग और ऑनलाइन वॉर शामिल हैं।

एक अन्य कार्रवाई में चीन के प्रसारण नियामक ने पिछले महीने ‘lapsed morals‘ और ‘विभिन्न राजनीतिक विचारों’ वाले कलाकारों पर बैन लगा दिया। इसके अलावा उन्होंने ‘sissy men’ पर भी बैन लगाया। उन्हें चीन के लोगों द्वारा androgynous अभिनेता जिओ (जो लड़का और लड़की दोनों की तरह दिखते हैं) को पसंद करना और फॉलो करना पसंद नहीं आया है।

दरअसल, गुड लुकिंग जिओ ने साल 2019 में fantasy drama The Untamed में दमदार भूमिका निभाकर लोगों को अपना दीवाना बना दिया था। इस दौरान उनकी फीमेल फैन्स की संख्या काफी बढ़ गई थी। अकेले वीबो पर उनके 29 मिलियन (2,90,00,000 यानी 2 करोड़ से अधिक) से अधिक फॉलोअर्स हैं।

जिओ के एक 16 वर्षीय जबरा फैन ने कहा, “मैं उनके वीबो (Weibo) फैन फोरम में पोस्ट को अपवोट करता था और उनके द्वारा प्रमोट किए गए प्रोडक्ट्स को खरीदता था। मैं उन्हें हर दिन नंबर एक पर ट्रेंड कराने की कोशिश करता था।” वहीं, चीन सरकार द्वारा इसे ‘गलत व्यवहार’ घोषित करने से पहले बीजिंग हाईस्कूल के एक छात्र चेन झिचु ने अभिनेता जिओ जान को ऑनलाइन ट्रेंड कराने के लिए वीबो प्लेटफॉर्म पर 30 मिनट का समय बिताया था।

हम सभी जानते हैं कि चीन ने ‘टिक टॉक’ जैसा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लाकर पूरी दुनिया को इसका आदी बना दिया है, लेकिन सवाल यह है कि वह अपने देश में सोशल मीडिया पर प्रतिबंध क्यों लगा रहा है? हालाँकि, भारत में ‘टिक टॉक’ पर साल 2020 में ही प्रतिबंध लगा दिया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लाइसेंस राज में कुछ घरानों का ही चलता था सिक्का, 2014 के बाद देश ने भरी उड़ान: गौतम अडानी ने PM मोदी को दिया...

गौतम अडानी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था ने 10 वर्षों में टेकऑफ किया है और इसका सबसे बड़ा कारण सही तरीके से मोदी सरकार का चलना रहा है।

राबिया की अम्मी ने ज़हीर-सोनाक्षी की शादी के बहाने ‘लव जिहाद’ को किया व्हाइटवॉश: खुद देती रहती हैं दुनिया भर के ओपिनियन, दूसरों की...

स्वरा भास्कर इजरायल पर ओपिनियन दे सकती हैं, लेकिन वो कहती हैं कि भारत में लोगों को ओपिनियन देने की बीमारी है। ज़हीर-सोनाक्षी की शादी और शत्रुघ्न सिन्हा की नाराज़गी के बीच 'लव जिहाद' को फर्जी बताने का प्रयास।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -