Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका में भी चीनी ऐप्स TikTok और वीचैट पर रविवार से बैन: राष्ट्रीय सुरक्षा...

अमेरिका में भी चीनी ऐप्स TikTok और वीचैट पर रविवार से बैन: राष्ट्रीय सुरक्षा में सेंधमारी बताई गई वजह

“अधिकारियों ने बताया कि पूरे अमेरिका में रविवार से टिक टॉक और वीचैट के ऑपरेशंस पर पूरी तरह से प्रतिबंध लग दिया जाएगा। अमेरिकी अधिकारियों ने शुक्रवार को लोकप्रिय चीनी मोबाइल एप्लिकेशन WeChat और TikTok के डाउनलोड पर प्रतिबंध लगाने का आदेश देते हुए कहा कि उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है।"

भारत में बैन की मार झेल रहे वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटॉक पर अब अमेरिका भी प्रतिबंध लगाने जा रहा है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश के मुताबिक अमेरिका में रविवार से TikTok चीनी ऐप की डाउनलोडिंग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसी के साथ We Chat की डाउनलोडिंग पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है।

AFP न्यूज एजेंसी के मुताबिक, “अधिकारियों ने बताया कि पूरे अमेरिका में रविवार से टिक टॉक और वीचैट के ऑपरेशंस पर पूरी तरह से प्रतिबंध लग दिया जाएगा। अमेरिकी अधिकारियों ने शुक्रवार को लोकप्रिय चीनी मोबाइल एप्लिकेशन WeChat और TikTok के डाउनलोड पर प्रतिबंध लगाने का आदेश देते हुए कहा कि उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है।”

अमेरिकी सरकार ने भी इन एप्स को बैन करने के पीछे राष्ट्रीय सुरक्षा में सेंधमारी को कारण बताया है। कोरोना वायरस, चीन की चालबाजी, टैक्नोलॉजी पर बढ़ते तनाव और अमेरिकी निवेशकों के लिए वीडियो ऐप TikTok की बिक्री के बीच यह फैसला सामने आया है।

जानकारी के मुताबिक, अमेरिकी वाणिज्य विभाग ने आज एक आदेश जारी करने की योजना बनाई है, जिसके तहत 20 सितंबर के बाद से अमेरिका में रहने वाले लोग चाइनीज वीडियो-शेयरिंग एप्स टिकटॉक और वीचैट को डाउनलोड नहीं कर पाएँगे। अमेरिका में टिकटॉक के करीब 100 मिलियन यानी 10 करोड़ यूजर्स हैं। बता दें कि अब से कुछ दिन पहले ही भारत ने भी टिकटॉक पर बैन लगा दिया था।

बता दें इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के साथ बढ़ते तनाव और जासूसी के आरोपों के बीच इसको बैन करने के संकेत दिए थे। उन्होंने टिकटॉक की जगह दूसरे विकल्प को तलाशने की बात कही थी।

गौरतलब है कि अब से कुछ दिन पहले ही भारत ने भी टिकटॉक पर बैन लगा दिया था। चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध के बीच बड़ा फैसला लिया गया था। भारत सरकार ने जून के अंत में टिकटॉक समेत कुल 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया था। चीनी ऐप्स पर बैन लगाने के फैसले पर भारत सरकार का कहना था कि सुरक्षा के मद्देनजर ये कदम उठाया गया है।

इसके बाद पिछले दिनों चीन के 47 और ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। इसके अलावा बताया गया था कि PUBG समेत 250 ज्यादा ऐप्स की केंद्र सरकार समीक्षा करते हुए हाल ही में बैन किया है। बता दें कि सरकार ने इन चीनी एप्स पर आईटी एक्ट 2000 के तहत बैन लगाया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेगासस: ‘खोजी’ पत्रकारिता का भ्रमजाल, जबरन बयानबाजी और ‘टाइमिंग’- देश के खिलाफ हर मसाले का प्रयोग

दुनिया भर में कुल जमा 23 स्मार्टफोन में 'संभावित निगरानी' को लेकर ऐसा बड़ा हल्ला मचा दिया गया है, मानो 50 देशों की सरकारें पेगासस के ज़रिए बड़े पैमाने पर अपने नागरिकों की साइबर जासूसी में लगी हों।

पिता ने उधार लेकर करवाई हॉकी की ट्रेनिंग, निधन के बाद अंतिम दर्शन भी छोड़ा: अब ओलंपिक में इतिहास रच दी श्रद्धांजलि

वंदना कटारिया के पिता का सपना था कि भारतीय महिला हॉकी टीम ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीते। बचपन में पिता ने उधार लेकर उन्हें हॉकी की ट्रेनिंग दिलवाई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe