Saturday, July 2, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयएलन मस्क का बेटा बन गया लड़की, बदला अपना नाम: कहा - बायोलॉजिकल पिता...

एलन मस्क का बेटा बन गया लड़की, बदला अपना नाम: कहा – बायोलॉजिकल पिता से किसी भी सूरत में कोई रिश्ता नहीं रखना चाहती

एलन मस्क का ट्रांसजेंडर कम्युनिटी को लेकर रुख पर भी आलोचना होती रही है। एक बार उन्होंने ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए 'प्रोनाउन' पर टिप्पणी की थी।

दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क की ट्रांसजेंडर बेटे ने अपने पिता से सारे रिश्ते तोड़ते हुए अपने नाम से ‘मस्क’ सरनेम भी हटा दिया है। ‘ज़ेवियर मस्क’ के रूप में पहचाने जाने वाली एलन मस्क के बेटे ने कैलिफोर्निया के सैंटा मोनिका में दस्तावेजी प्रक्रिया पूरी करते हुए अपना नया नाम ‘विवियाना जेन्ना विल्सन’ रख लिया है और लड़की बन गई है। उन्होंने अपनी ‘जेंडर आइडेंटिटी’ को इसका एक कारण बताया है। वहीं दूसरा कारण चौंकाने वाला है।

उनका कहना है कि वो अब अपने बायोलॉजिकल पिता के साथ नहीं रहती हैं और किसी भी स्थिति में उनके साथ किसी भी प्रकार का सम्बन्ध रखने की इच्छुक नहीं हैं। ये भी स्पष्ट नहीं है कि एलन मस्क की 213 बिलियन डॉलर (16.6 लाख करोड़ रुपए) की संपत्ति में से कोई हिस्सा मिलेगा या नहीं। लॉस एंजेंस काउंटी सुपीरियर कोर्ट में दायर याचिका में उन्होंने अपना नया बर्थ सर्टिफिकेट बनवाने और नाम बदलने की बात कही है।

पूर्व में ‘ज़ेवियर एलेक्जेंडर मस्क’ फ़िलहाल 18 वर्ष की हैं, ने अदालत में दायर याचिका में कहा है कि उनका जेंडर वाला पहचान पुरुष की जगह स्त्री रखा जाए। कैलिफोर्निया में 18 वर्ष के बाद ‘एज ऑफ कंसेंट’ होता है, जहाँ इस तरह की चीजों के लिए अनुमति है। ऑनलाइन दस्तावेजों में उनके नए नाम को संशोधित कर दिया गया है। उनकी माँ जस्टिन विल्सन के साथ एलन मस्क का 2008 में ही तलाक हो चुका है। वो एक कनाडाई लेखिका हैं, जिन्होंने 2000 में एलन मस्क से शादी की थी।

एलन मस्क का ट्रांसजेंडर कम्युनिटी को लेकर रुख पर भी आलोचना होती रही है। एक बार उन्होंने ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए ‘प्रोनाउन’ पर टिप्पणी की थी। एक बार उन्होंने कहा था कि वो ट्रांस के खिलाफ नहीं हैं। हाल ही में एलन मस्क ने अमेरिका में महिलाओं के फर्टिलिटी रेट गिरने पर चिंता जताई थी। उन्होंने कहा था कि वो अपना योगदान दे रहे हैं। उन्होंने कहा था कि जो जितना अमीर होता है, उसके उतने कम बच्चे होते हैं। उन्होंने इसे ‘डेमोग्राफिक डिजास्टर’ नाम दिया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe