Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'हम कश्मीर लेने की बात करते थे, अब ये हाल है कि POK बचाना...

‘हम कश्मीर लेने की बात करते थे, अब ये हाल है कि POK बचाना भी मुश्किल हो गया है’ – Pak सांसद

"इमरान खान इलेक्टेड (जनता द्वारा चुना हुआ) नहीं, सिलेक्टेड (फौज द्वारा चुना हुआ) पीएम है। मुल्क की जनता अब सिलेक्टेड और सिलेक्टर्स से जवाब माँग रही है।"

कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की हर जगह खिंचाई हो रही है। पाकिस्तान की संसद में इमरान खान को कोसने के बाद इस बार मीडिया में कुछ इसी तरह का बयान दिया है पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चेयरमैन बिलावल भुट्टो जरदारी ने।

बिलावल ने पाकिस्तान में मीडिया से कहा कि पहले हम भारत को धमकी देते थे कि हम उससे कश्मीर छीन लेंगे, लेकिन इस नाकाम सरकार के चलते अब हालात ये हो गए हैं कि हमें मुजफ्फराबाद बचाने के लाले पड़ गए हैं।
कश्मीर को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पूरी दुनिया में समर्थन के लिए घुमते रहे लेकिन एक भी देश पाकिस्तान के पक्ष में खड़ा नजर नहीं आया। वहीं इमरान खान की आलोचना पाकिस्तान में मीडिया से लेकर आम जनता तक कर रही है।

बिलावल ने एक बार फिर प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तान की सेना पर तंज कसते हुए कहा कि इमरान खान इलेक्टेड (जनता द्वारा चुना हुआ) नहीं, सिलेक्टेड (फौज द्वारा चुना हुआ) पीएम है। मुल्क की जनता अब सिलेक्टेड और सिलेक्टर्स से जवाब माँग रही है।

दरअसल, मुजफ्फराबाद पाक-अधिकृत कश्मीर (POK) के आज़ाद कश्मीर क्षेत्र की राजधानी और मुख्यालय है। यह शहर मुजफ्फराबाद ज़िले का भाग है और झेलम व किशनगंगा (जिसे पाकिस्तान में नाम बदलकर अब ‘नीलम नदी’ कहते हैं) नदियों के किनारे बसा है। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद और रावलपिंडी से इस की दूरी 138 किलोमीटर है, जबकि एबटाबाद से इसका फासला मात्र 76 किलोमीटर है।

मीडिया को सम्बोधित करते हुए बिलावल भुट्टो की नाराजगी साफ़ देखी जा सकती है। इस्लामाबाद में उनकी पार्टी पीपीपी की एक अहम बैठक के बाद मीडिया के साथ बातचीत करते हुए बिलावल भुट्टो ने कहा कि अब ये बात बिल्कुल साफ हो गई है कि वर्तमान सरकार जितनी नाकाम साबित हुई है, पहली की कोई भी सरकार इस कदर नाकाम नहीं हुई। इमरान खान पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा- “आपने लोकतंत्र के साथ जो खिलवाड़ किया है, उसे हमने बर्दाश्त कर लिया।”

अपनी बातचीत में भुट्टो ने कहा- “आपने देश की अर्थव्यवस्था बर्बाद कर दी, हमने उसे भी बर्दाश्त कर लिया। आप केवल सोते रहे और जब जागे तो विरोधियों को दबाने के लिए। आप आराम से सोते रहे और मोदी ने कश्मीर छीन लिया। पहले हमारी कश्मीर नीति क्या होती थी? हम प्लान बनाते थे कि कैसे श्रीनगर को लिया जाए? लेकिन अब सिलेक्टेड पीएम इमरान खान के चलते यह हालात बन गए हैं कि हमें सोचना पड़ रहा है कि हम भारत से मुजफ्फराबाद कैसे बचाएँगे?”

इमरान खान सरकार से अपनी नाराजगी प्रकट करते हुए बिलावल भुट्टो ने आगे कहा- “हमारी विदेश नीति क्या है? हमारी आर्थिक नीति क्या है? ये उस सब का नतीजा होता है जब एक सिलेक्टेड (फौज द्वारा चुना गया) एक आदमी को सिलेक्ट (इमरान खान) को प्रधानमंत्री के पद पर बैठाती है। यह सिलेक्टेड व्यक्ति केवल अपने सिलेक्टर्स को खुश करने के लिए देश को तबाह कर देता है। देश की जनता महँगाई की सुनामी में डूब रही है। कश्मीर भी हमारे हाथों से निकल गया। अब यहाँ सवाल यह उठता है कि हम किसे दोषी ठहराएँ? सिलेक्टेड व्यक्ति को या सिलेक्टर्स को? देश में कोई भी क्षेत्र देख लीजिए। हर जगह कठपुतली (इमरान खान) नाकाम हुई है। अब हम दोनों से हिसाब लेंगे।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान हारे भी न और टीम इंडिया गँवा दे 2 अंक: खुद को ‘देशभक्त’ साबित करने में लगे नेता, भूले यह विश्व कप है-द्विपक्षीय...

सृजिकल स्ट्राइक का सबूत माँगने वाले और मंच से 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' का नारा लगवाने वाले भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच रद्द कराने की माँग कर 'देशभक्त' बन जाएँगे?

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,026FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe