Wednesday, July 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयसपना के साथ लिव इन, कविता को प्यार का झाँसा: अबू बकर ने हिंदू...

सपना के साथ लिव इन, कविता को प्यार का झाँसा: अबू बकर ने हिंदू युवती को तीन टुकड़ों में काटकर फेंका, बांग्लादेश की घटना

पुलिस ने कविता रानी के शव के अन्य हिस्से नंबर 1 गोबरचका क्रॉस रोड, खुलना शहर स्थित किराए के मकान से बरामद किए थे। आरोपित के जुर्म कबूल करने के बाद आरएबी ने शहर के गोबरचका इलाके की एक संकरी जगह से पॉलीथीन में बंद कविता के कटे हुए हाथ बरामद किए थे।

बांग्लादेश (Bangladesh) से दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। खुलना शहर के गोबरचका इलाके में अबू बकर (Abu Bakkar) ने हिंदू महिला (Hindu Women Murder in Bangladesh) को पहले अपने प्यार के जाल में फँसाया, फिर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी और उसके शरीर के तीन टुकड़े कर दिए।

पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। यह घटना 7 नवंबर 2022 की है। मृतका की पहचान कविता रानी के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि आरोपित अबू बकर ने महिला के शव के 3 टुकड़े करने के बाद उसे पॉलीथीन में लपेटकर नाली में फेंक दिया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बांग्लादेश की रैपिड ऐक्शन बटालियन (आरएबी) ने 7 नवंबर 2022 की सुबह हत्यारे अबू बकर को गिरफ्तार कर लिया। आरएबी-6 के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मोस्ताक अहमद ने इस हत्याकांड के बारे में मीडियाकर्मियों को जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि गिरफ्तार अबू बकर और उसकी तथाकथित पत्नी सपना 3 साल से गोबरचका चौराहा नंबर 1 में राजू नाम के व्यक्ति के घर में शौहर-बीवी की तरह रह रहे थे। सपना कानूनी तौर पर अबू की बीवी नहीं है। वह शहर के प्रिंस अस्पताल में नर्स का काम करती है। अबू ने एक रिश्ते में होने के बावजूद कविता को अपने झूठे प्रेम के जाल में फँसाया।

बताया जा रहा है कि हत्याकांड से थोड़े दिन पहले ही कविता और अबू बकर की मुलाकात हुई थी। आरोपित की महिला से मुलाकात घटना से सिर्फ पाँच दिन पहले हुई थी। वह कविता को अपने किराए के मकान में लेकर आया था। उस वक्त उसकी कथित बीवी सपना काम पर गई हुई थी।

इस बीच दोनों के बीच काफी कहासुनी हुई। कविता के जोर-जोर से बोलने पर अबू बकर ने गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। बाद में शव को ठिकाने लगाने के लिए वह किचन से धारदार चाकू लेकर आया और कविता का सिर धड़ से अलग कर दिया। इसके दोनों हाथों को भी काटकर अलग कर दिया। अबू बकर ने उसके कटे हुए सिर और हाथ को पॉलीथिन में लपेट लिया। उसने लाश के बाकी हिस्सों को एक बॉक्स में रख दिया।

आरएबी के अधिकारी ने यह भी खुलाया किया कि उसी रात (5 नवंबर 2022) अबू बकर अपनी तथाकथित बीवी सपना के साथ रूपसा नदी पार की और ढाका के लिए रवाना हो गया। पुलिस के साथ-साथ आरएबी इंटेलिजेंस ने 6 नवंबर 2022 की रात आरोपित अबू बकर के ठिकाने का पता लगाया। उसके बाद गाजीपुर जिले के बसन थाना क्षेत्र के चौरास्ता इलाके से उसे और सपना को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने गिरफ्तार आरोपित को सोनाडांगा थाने की पुलिस को सौंप दिया है।

बता दें कि इससे पहले 6 नवंबर 2022 को सुबह करीब 11 बजे पुलिस ने कविता रानी के शव के अन्य हिस्से नंबर 1 गोबरचका क्रॉस रोड, खुलना शहर स्थित किराए के मकान से बरामद किए थे। आरोपित के जुर्म कबूल करने के बाद आरएबी ने शहर के गोबरचका इलाके की एक संकरी जगह से पॉलीथीन में बंद कविता के कटे हुए हाथ बरामद किए थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -