Wednesday, September 22, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय73 सालों में भारत में कभी ऐसी सरकार नहीं रही, इसलिए मजबूत फ़ौज की...

73 सालों में भारत में कभी ऐसी सरकार नहीं रही, इसलिए मजबूत फ़ौज की जरूरत: इमरान खान का Video वायरल

भारत सरकार से इमरान का यह डर मोदी शासन की राष्ट्रवादी साख को रेखांकित करता है। यह डर पीएम मोदी के पिछले 6 वर्षों के शासन में लिए गए निर्णय की वजह से आया है।

सोशल मीडिया पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में इमरान खान वर्तमान भारतीय सरकार द्वारा उत्पन्न खतरे को देखते हुए पाकिस्तानी सशस्त्र बलों को मजबूत करने की आवश्यकता पर बल दे रहे हैं। वहीं मोदी सरकार से डर जताते हुए खान को यह भी कहते हुए सुना जा सकता है कि भारत में पिछले 73 सालों में कभी ऐसी सरकार नहीं आई, जो आज है। हालाँकि यह वीडियो कब की है, इसका पता नहीं चल पाया है।

संभवतः खान किसी रैली में बोल रहे हैं। इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार के बाद पाकिस्तान के लिए बढ़े खतरे को मद्देनजर रखते हुए अपने देश को चेतावनी दी कि उन्हें अपनी ताकतों को मजबूत करने की जरूरत है।

पाकिस्तान पीएम इमरान ने कहा, “पाकिस्तान को एक मजबूत फौज की जरूरत है। यह आज की जरूरत है, क्योंकि हमारे साथ जो हमारा हम साया है… वहाँ 73 साल में ऐसी हुकूमत नहीं आई, जो आज हिंदुस्तान में है।”

यह क्लिप लाहौर स्थित 92 न्यूज चैनल द्वारा प्रसारित 73 वें स्वतंत्रता दिवस की रिपोर्ट का एक हिस्सा प्रतीत होता है। भारत सरकार से इमरान का यह डर मोदी शासन की राष्ट्रवादी साख को रेखांकित करता है। बता दें कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री में वर्तमान भारत सरकार द्वारा विकसित यह डर पीएम मोदी के पिछले 6 वर्षों के शासन में लिए गए निर्णय की वजह से आया है।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान द्वारा 2016 में उरी में हुए हमले में लगभग 18 भारतीय सैनिकों के बलिदान होने के बाद मोदी सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक का आदेश देने में जरा भी संकोच नहीं किया था। घातक आतंकी हमले के ग्यारह दिन बाद, 29 सितंबर 2016 को भारतीय सशस्त्र बल ने रात में नियंत्रण रेखा को पार कर पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक किया था।

वहीं तीन साल बाद 2019 में मोदी सरकार ने पाकिस्तान में जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी शिविर में हवाई हमले का आदेश दिया था। बता दें, 14 फरवरी 2019 को जेएम के प्रशिक्षित आतंकवादी ने सीआरपीएफ के काफिले के साथ अपनी विस्फोटक से लदी कार से हमला किया, जिसमें 40 सैनिक बलिदान हो गए थे। बारह दिन बाद 26 फरवरी 2019 को, भारतीय लड़ाकू जेट विमानों ने बालाकोट में जेएम के आतंकी शिविर पर बम गिराए, जिसमें 200-300 के करीब आतंकवादी मारे गए थे।

उसी के कुछ महीनों बाद भारत सरकार ने जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 को अमान्य कर दिया था। सरकार के इस कदम से पाकिस्तान बौखला गया था और अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद अगस्त 2019 से ही हमला और घुसपैठ करने का प्रयास कर रहा है। लेकिन भारत सरकार ने यह स्पष्ट कर दिया है कि पाकिस्तान के विरोधों के चलते यथास्थिति को नहीं बदला जा सकता है। इसके बजाय, मोदी सरकार ने अब जम्मू-कश्मीर की बातचीत को पाकिस्तान द्वारा अवैध रूप से कब्जे वाले कश्मीर के क्षेत्रों में स्थानांतरित कर दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर से माथे पर तिलक लगाकर स्कूल जाता था छात्र, टीचर निशात बेगम ने बाहरी लड़कों से पिटवाया: वीडियो में बच्चे ने बताई पूरी...

टीचर निशात बेगम का कहना है कि ये सब छात्रों के आपसी झगड़े में हुआ। पीड़ित छात्र को बाहरी लड़कों ने पीटा है। अब उसके परिजन कार्रवाई की माँग कर रहे हैं।

सोहा ने कब्र पर किया अब्बू को याद: भड़के कट्टरपंथियों ने इस्लाम से किया बाहर, कहा- ‘शादियाँ हिंदुओं से, बुतों की पूजा, फिर कैसे...

कुणाल खेमू से शादी करने वाली सोहा अली खान हाल में अपने अब्बू की कब्र पर अपनी माँ शर्मिला टैगोर और बेटी इनाया के साथ पहुँचीं। लेकिन कट्टरपंथी यह देख भड़क गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,766FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe