Monday, May 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयभगोड़े मेहुल चोकसी को लेने डोमिनिका पहुँचा भारत का विमान, एंटीगुआ के PM ने...

भगोड़े मेहुल चोकसी को लेने डोमिनिका पहुँचा भारत का विमान, एंटीगुआ के PM ने कहा – गर्लफ्रेंड के साथ टूर पर गया था

गुरजीत भाण्डाल और गुरमीत सिंह नाम के दो व्यक्तियों के यात्रा सम्बन्धी दस्तावेज मिले हैं, जिन्होंने 45 दिनों के भीतर दो बार कैरिबिया का दौरा किया।

भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी को गिरफ्तार कर के लाने के लिए भारत ने डोमिनिका विमान भेज दिया है, जहाँ की जेल में उसे फ़िलहाल रखा गया है। अभी तक ये मिस्ट्री बनी हुई है कि आखिर भगोड़ा हीरा कारोबारी एंटीगुआ से डोमिनिका पहुँचा कैसे? एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गेस्टन ब्राउन ने कहा कि मेहुल चोकसी अपनी गर्लफ्रेंड के साथ ट्रिप पर डोमिनिका गया था, लेकिन वहाँ धरा गया। अब सामने आया है कि यात्रा के लिए उसने दस्तावेजों की हेराफेरी भी की थी।

‘इंडिया टुडे’ की पड़ताल के अनुसार, गुरजीत भाण्डाल और गुरमीत सिंह नाम के दो व्यक्तियों के यात्रा सम्बन्धी दस्तावेज मिले हैं, जिन्होंने 45 दिनों के भीतर दो बार कैरिबिया का दौरा किया। ये दोनों अप्रैल में ‘हैकशॉ बोट चार्टर्स लिमिटेड’ की सेवाओं का इस्तेमाल करते हुए सेंट लुसिया गए थे और खुद को यूके का नागरिक बताया था। इसके डेढ़ महीने बाद दोनों नाव से डोमिनिका पहुँचे, जहाँ उनमें से एक ने खुद को भारत का नागरिक बताया।

रिकार्ड्स में तो मेहुल चोकसी नाम के किसी शख्स के एंटीगुआ से डोमिनिका जाने के कोई साक्ष्य मौजूद नहीं हैं, ऐसे में एक व्यक्ति को भारतीय दिखाए जाने के पीछे क्या मंशा थी? ‘कोबरा टूर्स’ नाम की ट्रेवल कंपनी भी जाँच के घेरे में है। डोमिनिका का कहना है कि मेहुल चोकसी अवैध रूप से घुसा। वहीं उसका वकील कह रहा है कि उसका अपहरण कर के वहाँ ले जाया गया। वहीं कोबरा टूर्स ने मेहुल चोकसी द्वारा उसकी सेवाएँ लिए जाने से इनकार किया है।

वहीं इन दोनों को सेंट लुसिया ले जाने वाली नाव सेना कंपनी का कहना है कि दोनों ने उस समय भी डोमिनिका में जाने की कोशिश की थी, लेकिन 17 दिन के क्वारंटाइन के नियम के कारण वापस आ गए थे। फिर वो दोनों फ्लाइट के लिए निकल गए थे। अब सवाल ये है कि क्या ये दोनों चोकसी और उसका कोई दोस्त था? फिर गर्लफ्रेंड वाली बात भी इसमें पेंच घुसा रही है क्योंकि दस्तावेज में ये दोनों पुरुष हैं।

डोमिनिका की अदालत इस केस में भारत को भी पक्षकार बनाना चाहती है, इसीलिए भारत ने कुछ अधिकारियों को मेहुल चोकसी से सम्बंधित दस्तावेज और डिटेल्स लेकर वहाँ विमान से भेजा है। प्रत्यर्पण के लिए ज़रूरी इमरजेंसी सर्टिफिकेट भी भेजे गए हैं। वहीं चोकसी की जारी हुई तस्वीरों में ऐसा दिख रहा है जैसे उसकी पिटाई की गई हो। ‘न्यूज़ 18’ के सूत्रों का कहना है कि शारीरिक दुर्व्यवहार के आरोप निराधार हैं, क्योंकि चोकसी खुद इसे मानवाधिकार का मुद्दा बनाना चाहता है।

बुधवार (जून 2, 2021) को इस मामले की सुनवाई होनी है। डोमिनिका हाईकोर्ट ने तब तक मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर रोक लगा रखी है। चोकसी और उसका रिश्तेदार नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक (PNB) का इस्तेमाल कर के 13,500 करोड़ रुपयों की हेराफेरी करने का आरोपित है। नीरव मोदी फ़िलहाल लंदन के जेल में है और उसके प्रत्यर्पण की सुनवाई भी वहाँ की अदालत में चालू है। वहीं चोकसी ने 2018 में भारत छोड़ने से पहले ही एंटीगुआ की नागरिकता ले ली थी।

इस पूरे मामले पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने अभी तक कोई बयान नहीं दिया है। एंटीगुआ पहले ही डोमिनिका से कह चुका है कि वो मेहुल चोकसी को वापस नहीं लेगा और वो उसे सीधे भारत को प्रत्यर्पित कर सकता है। एंटीगुआ के PM ने कहा कि उनके देश का वो नागरिक था, इसीलिए वहाँ से उसे प्रत्यर्पित नहीं किया जा सकता था। भारत सरकार दोनों ही सरकारों के संपर्क में है। संभावना है कि एंटीगुआ में मेहुल चोकसी की नागरिकता छीन ली जाएगी।

इससे पहले चोकसी के वकील ने कहा था, “मेरे क्लाइंट एक इंसान हैं, कोई मोहरा नहीं हैं कि उन्हें कोई भी अपनी मर्जी से शतरंज के खेल की तरह घुमाते रहे। मेरा स्टैंड सही साबित हुआ है। मैं एंटीगुआ की यूनाइटेड प्रोग्रेसिव पार्टी के बयान की प्रशंसा करता हूँ कि एंटीगुआ को अपने हर नागरिक के अधिकारों की रक्षा करनी चाहिए। मेरे क्लाइंट मेहुल चोकसी एंटीगुआ के नागरिक हैं और एंटीगुआ के संविधान के तहत सभी कानूनी संरक्षण के हकदार भी हैं।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत में 1300 आइलैंड्स, नए सिंगापुर बनाने की तरफ बढ़ रहा देश… NDTV से इंटरव्यू में बोले PM मोदी – जमीन से जुड़ कर...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आँकड़े गिनाते हुए जिक्र किया कि 2014 के पहले कुछ सौ स्टार्टअप्स थे, आज सवा लाख स्टार्टअप्स हैं, 100 यूनिकॉर्न्स हैं। उन्होंने PLFS के डेटा का जिक्र करते हुए कहा कि बेरोजगारी आधी हो गई है, 6-7 साल में 6 करोड़ नई नौकरियाँ सृजित हुई हैं।

कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने अपने ही अध्यक्ष के चेहरे पर पोती स्याही, लिख दिया ‘TMC का एजेंट’: अधीर रंजन चौधरी को फटकार लगाने के बाद...

पश्चिम बंगाल में कॉन्ग्रेस का गठबंधन ममता बनर्जी के धुर विरोधी वामदलों से है। केरल में कॉन्ग्रेस पार्टी इन्हीं वामदलों के साथ लड़ रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -