Saturday, October 1, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकाबुल का दूतावास खाली करेगा भारत, हिन्दुओं व सिखों से भी संपर्क में: 'दोस्त'...

काबुल का दूतावास खाली करेगा भारत, हिन्दुओं व सिखों से भी संपर्क में: ‘दोस्त’ अफगानों के साथ भी खड़ी रहेगी सरकार

केंद्रीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि कई ऐसे कई अफगानी नागरिक भी हैं जो शिक्षा, जनसंपर्क और आपसी विकास को बढ़ावा देने जैसे मुद्दों और भारत के साथ मिल कर काम कर रहे थे, इसीलिए भारत सरकार उनके साथ खड़ी रहेगी।

अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति को देखते हुए भारत सरकार ने निर्णय लिया है कि काबुल में भारतीय राजदूत के साथ ही दूतावास के अन्य कर्मचारियों को भी त्वरित रूप से वापस बुलाया जाएगा। केंद्रीय विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्विटर के जरिए ये जानकारी दी। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि भारत सरकार अफगानिस्तान में फँसे हिन्दुओं, सिखों व अन्य के साथ संपर्क में है।

जैसे ही कमर्शियन फ्लाइट सेवा फिर से शुरू होती है, उन्हें वापस बुलाने के लिए कार्यवाही शुरू की जाएगी। अगले दो दिनों में कमर्शियल फ्लाइट ऑपरेशन्स शुरू किए जा सकते हैं। सोमवार (16 अगस्त, 2021) की दोपहर को एक एयर इंडिया का फ्लाइट अफगानिस्तान से 46 लोगों को लेकर भारत पहुँचा। साथ ही वहाँ से कुछ उपकरण वगैरह भी लाए गए, जो भारत के थे। दिल्ली में हुई एक उच्च-स्तरीय बैठक में भारतीय कर्मचारियों को वापस लाने पर चर्चा हुई।

अफगानिस्तान में मौजूद भारतीय दल वहाँ के स्थानीय अधिकारियों से बात कर रहा है, ताकि एयरपोर्ट का इस्तेमाल कर के भारतीयों को वापस लाया जा सके। भारत सरकार हर गतिविधि की करीब से निगरानी कर रही है। MEA ने कहा कि अफगानिस्तान में स्थिति दिनोंदिन बिगड़ती जा रही है और पल-पल घटनाक्रम बदल रहा है। भारतीय नागरिकों के लिए समय-समय पर एडवाइजरी जारी की जा रही है।

उन्हें वापस बुलाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। इमरजेंसी कॉन्टैक्ट नंबर्स जारी किए गए हैं और भारतीय नागरिकों को सहायता भी मुहैया कराई जा रही है। MEA ने कहा कि अभी भी वहाँ ऐसे भारतीय नागरिक हैं जो वापस आना चाहते हैं, उनसे हम संपर्क में हैं। अफगानिस्तान के सिख व हिन्दू समुदाय के प्रतिनिधियों से भी भारत सरकार संपर्क में है। अफगानिस्तान छोड़ कर भारत आने वालों के लिए केंद्र सरकार व्यवस्था करेगी।

केंद्रीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि कई ऐसे कई अफगानी नागरिक भी हैं जो शिक्षा, जनसंपर्क और आपसी विकास को बढ़ावा देने जैसे मुद्दों और भारत के साथ मिल कर काम कर रहे थे, इसीलिए भारत सरकार उनके साथ खड़ी रहेगी। कमर्शियल ऑपरेशन बंद होने के कारण भारत का निकासी अभियान रुका हुआ है। भारत सरकार ने कहा है कि वो अपने नागरिकों के साथ-साथ अफगानिस्तान में अपने हितों की भी सुरक्षा करेगी।

एयर इंडिया भी फ़िलहाल अफगानिस्तान के एयरस्पेस को नज़रअंदाज़ कर के चल रहा है। इसीलिए, सोमवार को शिकागो-दिल्ली की फ्लाइट्स को UAE के ऊपर से ले जाया गया। काबुल एयरपोर्ट के अधिकारियों ने वहाँ के एयरस्पेस को नियंत्रण से बाहर बताया था। काबुल एयरपोर्ट पर फँसे हजारों लोग वहाँ से निकलने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। तालिबान के शासन संभालने के बाद वहाँ से निकलने के लिए लोग बेचैन हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दुर्गा पूजा कार्यक्रम में गरबा करता दिखा मुनव्वर फारूकी, सेल्फी लेने के लिए होड़: वीडियो आया सामने, लोगों ने पूछा – हिन्दू धर्म का...

कॉमेडी के नाम पर हिन्दू देवी-देवताओं को गाली देकर शो करने वाला मुनव्वर फारुकी गरबा के कार्यक्रम में देखा गया, जिसके बाद लोग आक्रोशित हैं।

धर्म ही नहीं जमीन भी गँवा रहे हिंदू: कब्जे की भूमि पर चर्च-कब्रिस्तान से लेकर मिशनरी स्कूल तक, पहाड़ों का भी हो रहा धर्मांतरण

जमीनी स्थिति भयावह है। सरकारी से लेकर जनजातीय समाज की जमीनों पर ईसाई मिशनरियों का कब्जा है। अदालती आदेशों के बाद भी जमीन खाली नहीं हो रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,570FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe