Monday, May 16, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीययूक्रेन से भारत लाए गए 242 छात्र, रूस पर कई देशों ने लगाए कड़े...

यूक्रेन से भारत लाए गए 242 छात्र, रूस पर कई देशों ने लगाए कड़े प्रतिबंध; आर्थिक कमर तोड़ने की कोशिश

अमेरिका ने नाटो देश एस्टोनिया, लातविया और लिथुआनिया में सेनाओं की तैनाती को बढ़ा दिया है। बाइडेन ने स्पष्ट कर दिया है कि नाटो की एक-एक इंच जमीन के लिए लड़ेंगे। इस बीच अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रूस पर प्रतिबंध लगाए जाने की शुरुआत हो गई है।

रूस और यूक्रेन (Russia-Ukraine) के बीच तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा यूक्रेन के डोनेट्स्क और लोहांस्क को स्वतंत्र देश घोषित करने के बाद वहाँ पर रूसी सेना घुस गई है। बढ़ते तनाव के बीच भारत सरकार ने यूक्रेन में फँसे भारतीय छात्रों को एयरलिफ्ट किया है। एयर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट करीब 242 छात्रों को लेकर यूक्रेन से नई दिल्ली पहुँच गई है। हालाँकि, अभी भी कई और छात्र वहाँ पर फँसे हुए हैं, जिन्हें सुरक्षित निकालने का प्रयास लगातार जारी है।

इस बीच रूस की इस कार्रवाई के बाद अमेरिका की जो बाइडेन सरकार भी एक्शन मोड में है। अमेरिका ने नाटो देश एस्टोनिया, लातविया और लिथुआनिया में सेनाओं की तैनाती को बढ़ा दिया है। बाइडेन ने स्पष्ट कर दिया है कि नाटो की एक-एक इंच जमीन के लिए लड़ेंगे। इस बीच अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रूस पर प्रतिबंध लगाए जाने की शुरुआत हो गई है। अमेरिका, ब्रिटेन के बाद अब जापान ने भी उस पर प्रतिबंध लगा दिए हैं।

रूस पर लगाए जा रहे प्रतिबंध

रूसी राष्ट्रपति पुतिन के लोहांस्क और डोनेट्स्क को स्वतंत्र देश की मान्यता देने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने मंगलवार (22 फरवरी) को रूस पर सख्त प्रतिबंधों का ऐलान कर दिया। इसके तहत रूस के फाइनेंस और उसके अमीर व्यापारियों को टार्गेट किया गया है। डिप्लोमैटिक दरवाजे को खुला छोड़ते हुए बाइडेन प्रशासन ने कहा कि युद्ध से बचने के लिए अभी भी समय है।

अमेरिका के नक्शे-कदम पर आगे बढ़ते हुए जर्मनी ने रूस पर प्रतिबंध लगाकर आर्थिक तौर पर उसकी कमर तोड़ने की कोशिश की है। उसने रूस से नॉर्ड स्ट्रीम 2 गैस पाइपलाइन के सर्टिफिकेशन को रोक दिया है। वहीं, कनाडा ने भी रूस पर प्रतिबंध लगाया है।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने भी पुतिन के खिलाफ एक्शन लेते हुए प्रतिबंधों का ऐलान किया है। रूस पर आर्थिक चोट की कोशिश में ब्रिटेन ने उसके 5 बैंकों और 3 अरबपतियों की संपत्तियों को फ्रीज कर दिया है। इसमें रोसिया, आईएस बैंक, जनरल बैंक, प्रॉमस्व्याज बैंक और ब्लैक सी बैंक शामिल हैं। जबकि, प्रतिबंध झेलने वाले तीन अरबपति गेनेडी टिमचेंको, बोरिस रोटेनबर्ग और आइगर रोटेनबर्ग हैं।

जापान ने भी रूस पर प्रतिबंध लगा दिए हैं। जापानी प्रधानमंत्री फुइमो किशिदा ने ऐलान किया कि फिलहाल रूसी बांड और कुछ व्यक्तियों की संपत्तियों को फ्रीज कर दिया गया है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया भी रूस के राष्ट्रपति पुतिन के शीर्ष सलाहकारों पर प्रतिबंध लगा चुका है।

हालाँकि, रूसी राष्ट्रपति कहते हैं कि यूक्रेन पर हमला करने की उनकी कोई योजना नहीं है और न ही वो सोवियत यूनियन को फिर से पुनर्जीवित करना चाहते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

CRPF करेगी ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग की सुरक्षा, अदालत ने सील की जगह, वजू पर मनाही: जैसे ही दिखे बाबा, ‘हर-हर महादेव’ से गूँजा...

सर्वे के तीसरे दिन हिन्दू पक्ष की तरफ से सोमवार को करीब 12 फीट 8 इंच लंबा शिवलिंग नंदी के सामने विवादित ढाँचे के वजूखाने में मिलने का दावा किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe