Thursday, June 13, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'जो जिम्मेदार हैं उन पर कार्रवाई हो': गाजा के अस्पताल पर हमले की PM...

‘जो जिम्मेदार हैं उन पर कार्रवाई हो’: गाजा के अस्पताल पर हमले की PM मोदी ने की निंदा, तेल अवीव पहुँचे अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा- इसमें इजरायल का हाथ नहीं

आईडीएफ ने हमास के दो कमांडरों की बातचीत का ऑडियो शेयर किया है, जिसमें साफ तौर पर हमास का एक कमांडर दूसरे को बता रहा है कि इस्लामिक जेहाद के हमलावर का रॉकेट भटककर अस्पताल पर गिरा है। ये हमला अस्पताल के परिसर में ही स्थित कब्रिस्तान से किया गया।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन बुधवार (18 अक्टूबर 2023) को इजरायल के तेल अवीव पहुँचे। वहाँ उन्होंने इजरायल के साथ अपने संबंधों को मजबूत करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की। बायडेन ने गाजा के एक अस्पताल पर हुए हमले में इजरायल का हाथ होने से इनकार कर दिया। इस अस्पताल पर रॉकेट से हमले में 500 से अधिक लोगों की मौत हो गई है।

वहीं, इस मामले में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अस्पताल पर हमले की निंदा की है। इसके साथ ही उन्होंने हमले के जिम्मेदार पर कार्रवाई की माँग की है। वहीं, इजरायली रक्षा बलों (IDF) ने इसे ‘इस्लामिक जेहाद’ संगठन की करतूत बताते हुए ऑडियो-वीडियो सबूत जारी किए हैं।

जो बायडेन ने किया इजरायल का बचाव

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने तेल अवीव पहुँचकर इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से मुलाकात की और इजरायल की सुरक्षा सुनिश्चित करने को लेकर अपनी प्रतिबद्ध दोहराई। बायडेन ने गाजा पट्टी में स्थित अस्पताल पर इजरायल के हमले से इनकार किया और कहा कि इजरायल ने ‘हर संभव प्रयास’ के साथ अस्पताल को बचाने की कोशिश की थी।

पीएम नरेंद्र मोदी ने की जवाबदेही तय करने की माँग

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अस्पताल पर हमले की निंदा की और जिम्मेदारों पर कार्रवाई की माँग की। पीएम मोदी ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर लिखा, “गाजा के अल अहली अस्पताल में लोगों की दुखद क्षति से गहरा सदमा लगा।”

पीएम मोदी ने कहा, “पीड़ितों के परिवारों के प्रति हमारी हार्दिक संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना करता हूँ। जारी संघर्ष में नागरिकों की हताहत होना गंभीर और निरंतर चिंता का विषय है। इसमें शामिल लोगों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।”

गाजा शहर के अल-अहली अरब अस्पताल में मिसाइल हमले में सैकड़ों लोगों के मारे जाने की सूचना के बाद मंगलवार (17 अक्टूबर 2023) की रात को इजरायली सेना ने कहा कि ये हमला उसने नहीं किया है।

इस मामले में इजरायली रक्षा बलों (IDF) ने आतंकी संगठन ‘इस्लामिक जिहाद’ के हमले का ऑडियो-वीडियो सबूत जारी किया है। इस वीडियो में हमले वाली जगह को दिखाया गया है।

वीडियो के बाद आईडीएफ ने हमास के दो कमांडरों की बातचीत का ऑडियो शेयर किया है, जिसमें साफ तौर पर हमास का एक कमांडर दूसरे को बता रहा है कि इस्लामिक जेहाद के हमलावर का रॉकेट भटककर अस्पताल पर गिरा है। ये हमला अस्पताल के परिसर में ही स्थित कब्रिस्तान से किया गया।

हमास के हमले में करीब 1400 इजरायलियों की मौत

गौरतलब है कि हमास के हमलों में इजरायल के करीब 1,400 लोगों की मौत हुई है। 3,000 से ज्यादा घायल हैं। हमास ने इस हमले में करीब 250 इजरायली नागरिकों को बंधक भी बना लिया था। इजरायली बंधकों को छुड़ाने और हमास को मिटाने के लिए गाजा की घेराबंदी कर दिया है।

इसके साथ ही उन्होंने बिजली, पानी, राशन की सप्लाई भी रोक दी है। इजरायल के जवाबी कार्रवाई में करीब तीन हजार आतंकी मारे गए हैं। इजरायल वार टीम ने एक एक्स पोस्ट के जरिए बताया है कि इजरायल को टारगेट कर हमास के दागे रॉकेट में से 30 से 40% मिसफायर होकर गाजा पट्टी में ही गिरे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़की हिंदू, सहेली मुस्लिम… कॉलेज में कहा, ‘इस्लाम सबसे अच्छा, छोड़ दो सनातन, अमीर कश्मीरी से कराऊँगी निकाह’: देहरादून के लॉ कॉलेज में The...

थर्ड ईयर की हिंदू लड़की पर 'इस्लाम' का बखान कर धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित किया गया और न मानने पर उसकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी गई।

जोशीमठ को मिली पौराणिक ‘ज्योतिर्मठ’ पहचान, कोश्याकुटोली बना श्री कैंची धाम : केंद्र की मंजूरी के बाद उत्तराखंड सरकार ने बदले 2 जगहों के...

ज्तोतिर्मठ आदि गुरु शंकराचार्य की तपोस्‍थली रही है। माना जाता है कि वो यहाँ आठवीं शताब्दी में आए थे और अमर कल्‍पवृक्ष के नीचे तपस्‍या के बाद उन्‍हें दिव्‍य ज्ञान ज्‍योति की प्राप्ति हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -