Wednesday, August 4, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमहात्मा गाँधी की प्रतिमा को दंगाइयों ने किया खंडित: भारतीय दूतावास के समाने हुई...

महात्मा गाँधी की प्रतिमा को दंगाइयों ने किया खंडित: भारतीय दूतावास के समाने हुई घटना, जाँच में जुटी पुलिस

अमेरिका में हो रहे हिंसक प्रदर्शन में आईएसआईएस समर्थक और उससे सहानुभूति रखने वाले ऑनलाइन अराजक तत्व भी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। ISIS समर्थकों ने इसे ‘समुदाय के साथ किए जा रहे सलूक के लिए ईश्वरीय सहायता’ बताया है और कहा है कि...

अमेरिका में एक अश्‍वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस के हाथों हुई हत्या के बाद कई राज्‍यों में प्रदर्शन दिन प्रतिदिन उग्र होता जा रहा है। इसी दौरान कई जगह आगजनी, हिंसा और लूटपाट की घटनाएँ भी सामने आई हैं। वहीं अब बुधवार (4 मई, 2020) को प्रदर्शनकारियों ने अमेरिका के वॉशिंगटन में भारतीय दूतावास के सामने लगी गाँधी जी की प्रतिमा को नुकसान पहुँचाया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, वॉशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास के बाहर स्थित महात्‍मा गाँधी की प्रतिमा को कुछ दंगाई लोगों द्वारा क्षति पहुँचाई गई है। अभी इसका पता नहीं लगाया जा सका है कि प्रदर्शन के दौरान महात्मा गाँधी की मूर्ति तोड़ने के पीछे किन लोगों का हाथ है। माना यही जा रहा कि इस प्रदर्शन के दौरान भीड़ की आड़ में ही गाँधी की प्रतिमा को खंडित किया गया है।

एएनआई ने सूत्रों के अनुसार बताया है कि मामले की जानकारी मिलते ही यूनाइटेड स्टेट्स पार्क पुलिस ने इस मामले में जाँच शुरू कर दी है। साथ ही दोषी व्‍यक्तियों की खोज की जा रही है।

अमेरिका में हो रहे हिंसक प्रदर्शन में आईएसआईएस समर्थक और उससे सहानुभूति रखने वाले ऑनलाइन अराजक तत्व भी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इतना ही नहीं, आईएसआईएस समर्थक इन प्रदर्शनों पर अपनी खुशी भी जाहिर कर रहे हैं।

विरोध प्रदर्शनों के चलते अमेरिका में कानून-व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। ISIS समर्थकों ने इसे ‘मजहब वालों के साथ किए जा रहे सलूक के लिए ईश्वरीय सहायता’ बताया है और कहा है कि सोमालिया, अफगानिस्तान, यमन, इराक, सीरिया और फिलिस्तीन में लोगों के साथ जो किया गया, अल्लाह उन्हें उसका मजा चखा रहा है।

वहीं कुछ दिन पहले दंगे के दौरान ‘ला इलाहा इल्लल्लाह’ के नारे भी लगाए गए। इसका एक वीडियो भी सामने आया था। जिसमें देखा जा सकता है कि दंगाई लगातार इस्लामिक नारे लगा रहे हैं। वे ‘ला इलाहा इल्लल्लाह’ के साथ ही ‘अल्लाहु अकबर’ के नारे लगाते हुए देखे और सुने जा सकते हैं।

वायरल हुए एक दूसरे वीडियो में आप देख सकते है कि किस तरह इस विरोध प्रदर्शन के दौरान महिला प्रदर्शनकारी अपने कपड़े उतारते दिख रही है। सैकड़ों की संख्या में सड़क पर जुटे प्रदर्शनकारियों के बीच बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों को अर्धनग्न अवस्था में देखा जा सकता है।

गौरतलब है कि विवादित पत्रकार और MeToo के आरोपित विनोद दुआ ने सोमवार (जून 1, 2020) को अपने डेली शो में भारतीयों को उसी तरह से हिंसा और दंगा करने के लिए उकसाया, जैसा कि फिलहाल अमेरिका में हो रहा है। उन्होंने कहा कि भारतीय अपने अधिकार से अनजान हैं।

इसी हिंसक प्रदर्शन का एक वीडियो और सामने आया था, जहाँ ANTIFA से जुड़े वामपंथियों और दंगाइयों ने एक बेघर इंसान के पास जो भी था, उसे जला डाला था। जिसके बाद लाचार और बेबस गद्दे का मालिक राख में बदलती अपनी चीजों को किसी तरह बचाने की असहाय कोशिश करता रहा। वो आदमी अपने सामानों को जलता हुआ देख चिल्लाते हुए कहता है – “मैं यहाँ रहता हूँ।

बता दें कि पिछले दिनों 46 वर्षीय अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मिनिपोलिस में पुलिस अधिकारी के हाथों मौत हो गई थी। मिनिपोलिस में पुलिस अधिकारी ने फ्लॉयड की गर्दन पर लगभग 9 मिनट तक अपना घुटना रखा था। जॉर्ज फ्लॉयड इस दौरान घुटना हटाने की गुहार लगाता रहा। उसने यह भी कहा कि वह साँस नहीं ले पा रहा है। लेकिन पुलिस अधिकारी नहीं पिघला और फ्लॉयड की मौत हो गई। इसके बाद लोगों का गुस्सा पुलिस के प्रति भड़क गया और हिंसक रुप ले लिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,864FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe