Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'PM मोदी के शपथग्रहण समारोह में जाना सम्मान का विषय, ये ऐतिहासिक क्षण': लाइन...

‘PM मोदी के शपथग्रहण समारोह में जाना सम्मान का विषय, ये ऐतिहासिक क्षण’: लाइन पर आ गए मालदीव के राष्ट्रपति मुहम्मद मुइज्जु

अब एक बार फिर से दोनों देशों के संबंध सामान्य हुए हैं और 'मोदी 3.0' में ये हो रहा है। नरेंद्र मोदी के लगातार तीसरी बार शपथ लेने को मालदीव के राष्ट्रपति मुहम्मद मुइज्जु ने ऐतिहासिक क्षण करार दिया।

मालदीव के राष्ट्रपति मुहम्मद मुइज्जु भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तीसरे शपथग्रहण समारोह में शामिल होंगे, उन्होंने भारत का न्योता स्वीकार कर लिया है। ये इसीलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब इस साल की शुरुआत में लक्षद्वीप गए थे तो मालदीव नाराज़ हो गया था क्योंकि भारतीय पर्यटकों को पता चला कि मालदीव जितना सुंदर स्थल उनके अपने ही देश में है। अब एक बार फिर से दोनों देशों के संबंध सामान्य हुए हैं और ‘मोदी 3.0’ में ये हो रहा है।

नरेंद्र मोदी के लगातार तीसरी बार शपथ लेने को मालदीव के राष्ट्रपति मुहम्मद मुइज्जु ने ऐतिहासिक क्षण करार दिया। उन्होंने शनिवार (8 जून, 2024) को कहा कि ये दिखाता है कि द्विपक्षीय संबंध सही दिशा में जा रहे हैं। बता दें कि रविवार को शाम सवा 7 बजे नरेंद्र मोदी नई मंत्रिमंडल के साथ शपथ लेने वाले हैं। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू उन्हें शपथ दिलाएँगी। मालदीव में भारत के हाई कमिश्नर मनु माहवार ने मुहम्मद मुइज्जु से मिल कर उन्हें आमंत्रण-पत्र सौंपा।

हाई कमिश्नर ने इस दौरान मालदीव के राष्ट्रपति मुहम्मद मुइज्जु को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से शुभकामनाएँ दी और उनसे कहा कि पीएम मोदी इस अत्यंत महत्वपूर्ण समारोह में शामिल होने के लिए उन्हें आमंत्रित किया। इस पर मुहम्मद मुइज्जु ने कहा कि ये उनके लिए सम्मान की बात है कि वो इस समारोह में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि वो भारत के साथ अपने रिश्तों को मजबूत कर के भारत-मालदीवर रिश्ते को और सकारात्मक दिशा देने के लिए प्रयास करेंगे।

इस दौरान राष्ट्रपति मुहम्मद मुइज्जु ने ने भारत का हाई कमिश्नर को इसके लिए धन्यवाद दिया कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से आकर उन्हें आमंत्रण दिया है। इससे पहले मुहम्मद मुइज्जु ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनकी जीत पर शुभकामनाएँ भी दी थी। 17 नवंबर, 2023 को दोबारा सत्ता सँभालने के बाद ये पहला मौका होगा जब वो भारत दौरे पर आएँगे। लक्षद्वीप विवाद के दौरान पीएम मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए निलंबित कर दिया गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले उइगर औरतों के साथ एक ही बिस्तर पर सोए, अब मुस्लिमों की AI कैमरों से निगरानी: चीन के दमन की जर्मन मीडिया ने...

चीन में अब भी उइगर मुस्लिमों को लेकर अविश्वास है। तमाम डिटेंशन सेंटरों का खुलासा होने के बाद पता चला है कि अब उइगरों पर AI के जरिए नजर रखी जा रही है।

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -