Thursday, May 30, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'अल्लाह हू अकबर' चिल्लाते हुए आया और सैनिक के गर्दन में घोंप दी कैंची

‘अल्लाह हू अकबर’ चिल्लाते हुए आया और सैनिक के गर्दन में घोंप दी कैंची

सैनिक पर हमले के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। हालॉंकि बाद में वह पकड़ा गया। पकड़े जाने के बाद भी वह अल्लाह हू अकबर के नारे लगा रहा था। इससे पहले भी उसने एक व्यक्ति पर हमला किया था।

इटली के मिलान रेलवे स्टेशन पर मंगलवार (सितंबर17, 2019) को एक 23 वर्षीय हमलावर ने अल्लाह-हू-अकबर चिल्लाते हुए एक सैनिक के गर्दन में कैंची घोंप दी। घटना को अंजाम दे वह मौके से फरार हो गया। लेकिन, पिआजा डूका डिऑस्टा (Piazza Duca d’Aosta ) से विया विट्टोर पिसानी (Via Vittor Pisani ) की ओर भागते वक़्त पैरामिलिट्री पुलिस अधिकारियों ने उसे धर दबोचा।

सैनिक की हालत खतरे से बाहर है। घटना के तार आतंकवाद से जुड़े हैं या नहीं, इसकी जाँच के आदेश दिए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक इटली की न्यूज एजेंसी ANSA ने बताया है कि हमलावर हमले से एक दिन पहले उसी इलाके में एक व्यक्ति को पेन घोंपने के कारण भी पकड़ा गया था। ANSA के अनुसार हमले का आरोपित यमन से आया प्रवासी है। उसने गिरफ्तारी के बाद भी अल्लाह हू अकबर का नारा तेज आवाज में बुलंद किया।

गौरतलब है कि अति उदार रवैया रखने वाले लोग जहाँ एक ओर हमेशा से ऐसी घटनाओं में जिहाद के एंगल को नकारते आए हैं, वहीं ऐसी घटनाओं की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। साल 2017 के इसी रेलवे स्टेशन पर एक ऐसे ही हमले की घटना सामने आई थी, जहाँ इटली-तुनिसियन मूल के व्यक्ति ने मिलेट्री और रेलवे पुलिस अधिकारी के 2 सदस्यों पर हमला किया था।

इसके अलावा साल 2018 में भी फ्रांस की राजधानी पेरिस में भी अज्ञात हमलावरों ने सेंट्रल पेरिस के ओपेरा जिले में बीच सड़क पर लोगों पर चाकू से वार किया था। जिसमें एक व्यक्ति की मौत भी हुई थी, वहीं कुछ लोग घायल हो गए थे। हमले के बाद आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा था कि उसी ने यह हत्या करवाई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -