Tuesday, April 23, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'कपड़े उतरेंगे, अंडरवियर पहन लेना': पाकिस्तानी क्रिकेटर ने US की उड़ान के लिए 'SSSS'...

‘कपड़े उतरेंगे, अंडरवियर पहन लेना’: पाकिस्तानी क्रिकेटर ने US की उड़ान के लिए ‘SSSS’ स्टैंप के साथ शेयर किया बोर्डिंग पास, लोगों ने लिए जमकर मजे

SSSS अमेरिका में अपनाया गया एक एयरपोर्ट सुरक्षा उपाय है, जिसमें अतिरिक्त निरीक्षण के लिए चुनिंदा यात्रियों को शामिल किया जाता है। जिन यात्रियों को सेकेंडरी स्क्रीनिंग के लिए चुना जाता है, उनके बोर्डिंग पास पर 'SSSS' प्रिंट होता है।

पाकिस्तानी क्रिकेटर उमर अकमल ने हाल ही में ट्विटर पर संयुक्त राज्य अमेरिका की अपनी उड़ान के बोर्डिंग पास के साथ अपनी तस्वीरें साझा कीं। अकमल ने कहा कि वह पर्सनल मीटिंग के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका की यात्रा कर रहे हैं और उन्होंने अपने समर्थकों से उनकी सफलता के लिए प्रार्थना करने का आग्रह किया।

अकमल ने तस्वीरों के साथ ट्वीट किया, “मैं कुछ पर्सनल मीटिंग के लिए अमेरिका जा रहा हूँ। अगर सब कुछ ठीक रहा तो मुझे कुछ समय के लिए वहाँ रहना पड़ सकता है! मैं चाहता हूँ कि मेरे सभी शुभचिंतक और फैंस दुआ करें, जैसा कि वो हमेशा से करते रहे हैं।” 

हालाँकि, ट्विटर पर बोर्डिंग पास की तस्वीर पोस्ट करने के तुरंत बाद एक सोशल मीडिया यूजर ने देखा कि अकमल के बोर्डिंग पास पर “SSSS” प्रिंट है। यूजर ने ट्वीट किया, “आपको वहाँ पहुँचने पर एक्स्ट्रा स्क्रीनिंग के लिए चिह्नित किया गया है और आपको कम-से-कम कुछ घंटों तक रुकना पड़ा होगा- आशा है कि यह अच्छा रहा।”

उमर अकमल के बोर्डिंग पास पर लगे ‘SSSS’ स्टैंप पर सोशल मीडिया यूजर्स की प्रतिक्रिया

उमर अकमल के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स ने जमकर मजे लिए और प्रतिक्रियाएँ दी। उनका कहना था कि अमेरिका जाते समय अतिरिक्त सुरक्षा से गुजरना अब पाकिस्तानियों के लिए आम बात हो गई है।

एक अन्य यूजर ने लिखा कि शायद इसी वजह से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाग लेने के लिए व्यक्तिगत तौर पर अमेरिका नहीं गए, क्योंकि उन्हें न्यूयॉर्क एयरपोर्ट पर जाँच का डर था। इसलिए उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए इसमें हिस्सा लिया।

एक अन्य ट्विटर यूजर ने कहा कि अकमल की संयुक्त राज्य अमेरिका में तलाशी ली जाएगी। उसने लिखा, “कपड़े उतरेंगे।”

एक ट्विटर यूजर ने उमर अकमल को यह कहते हुए अंडरगारमेंट्स पहनने की सलाह दी कि न्यूयॉर्क एयरपोर्ट का इतिहास अच्छा नहीं है। यूजर ने लिखा, “अंडरवियर पहन लेना। न्यूयॉर्क एयरपोर्ट का इतिहास ठीक नहीं है।”

बोर्डिंग पास पर ‘SSSS’ का क्या अर्थ है और इसका क्या कारण है?

SSSS (Secondary Security Screening Selection or Secondary Security Screening Selectee) संयुक्त राज्य अमेरिका में अपनाया गया एक एयरपोर्ट सुरक्षा उपाय है, जिसमें अतिरिक्त निरीक्षण के लिए चुनिंदा यात्रियों को शामिल किया जाता है। जिन यात्रियों को सेकेंडरी स्क्रीनिंग के लिए चुना जाता है, उनके बोर्डिंग पास पर ‘SSSS’ प्रिंट होता है। इससे यह संकेत दिया जाता है कि उक्त यात्री की अतिरिक्त जाँच की आवश्यकता है।

ऐसे कई कारण हैं जिनकी वजह से यात्रियों को SSSS लिस्ट में डाला जा सकता है। एक आर्टिकल के अनुसार, यात्रियों को अतिरिक्त सुरक्षा जाँच के लिए चुने जाने के कारणों में से एक उनके असामान्य या अजीब यात्रा कार्यक्रम है, जिसमें अंतिम मिनट में बुक की गई उड़ानें, अंतरराष्ट्रीय एकतरफा टिकट, ‘हाई-रिस्क’ देशों में होने वाली यात्रा शामिल है। पाकिस्तान के अधिकांश इस्लामिक आतंकी संगठनों के साथ घनिष्ठ संबंध होने के कारण, यह पूरी तरह से संभव है कि वे संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा ‘हाई-रिस्क’ देशों में सूचीबद्ध हों। अन्य कारणों में वन-वे टिकट की बुकिंग, नकद में खरीदे गए टिकट, अतीत का आपराधिक रिकॉर्ड, हवाईअड्डे पर सुरक्षा से संबंधित अपराध का आरोप लगाया जाना या अतीत में प्रतिबंधित सामग्री या हथियार ले जाना शामिल हैं।

यूएस सेकेंड्री स्क्रीनिंग के लिए चिह्नित किए जाने पर एयरपोर्ट पर क्या होता है?

एक बार जब परिवहन सुरक्षा प्रशासन (TSA) के अधिकारी को बोर्डिंग पास पर ‘SSSS’ अंकित मिलता है, तो वह यात्री को लाइन से बाहर निकलने और सेकेंडरी स्क्रीनिंग के लिए कहता है। यात्री के अनुपालन और इससे गुजरने की तत्परता के आधार पर अतिरिक्त स्क्रीनिंग में आमतौर पर 10 से 30 मिनट लगते हैं।

‘SSSS’ स्टैंप वाले यात्रियों को आमतौर पर मेटल डिटेक्टर से गुजरने और फिर वापस आने के लिए कहा जाता है। उन्हें अपने जूते और बेल्ट हटाने के लिए कहा जाता है। उन्हें फुल-बॉडी स्कैनर से गुजरने के लिए भी कहा जाता है। उसके बाद, उन्हें शारीरिक तलाशी से भी गुजरना पड़ता है। इसके लिए यात्री प्राइवेट जगह चुन सकते हैं।

जो लोग अपने साथ इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जैसे फोन, लैपटॉप, घड़ियाँ ले जाते हैं, उन्हें आमतौर पर उन सभी को ऑन करने के लिए कहा जाता है, जिसके बाद टीएसए एजेंट उनमें से किसी की जाँच करते हैं।

फिर, एक विस्फोटक और नशीले पदार्थों का संपर्क स्कैन भी होता है, जिसमें यात्रियों के कपड़े, सामान, बेल्ट, जूते और अन्य सामानों पर एक कॉटन/फैब्रिक/ पेपर के स्वाब को रगड़ना और नशीले पदार्थों के संपर्क का पता लगाने के लिए इसे ION स्कैनर के तहत स्कैन करना शामिल है।

अंत में, टीएसए अधिकारी या सुरक्षा अधिकारी द्वारा बोर्डिंग पास पर एक स्टिकर चिपकाया जाएगा, जो बताता है कि यात्री की अतिरिक्त सुरक्षा जाँच पूरी हो चुकी है। एक बार जब सुरक्षा अधिकारी अपने निरीक्षण से संतुष्ट हो जाते हैं और कुछ भी गलत नहीं पाते हैं तो यात्रियों को सुरक्षा क्षेत्र से जाने की अनुमति दी जाती है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नरेंद्र मोदी ने गुजरात CM रहते मुस्लिमों को OBC सूची में जोड़ा’: आधा-अधूरा वीडियो शेयर कर झूठ फैला रहे कॉन्ग्रेसी हैंडल्स, सच सहन नहीं...

कॉन्ग्रेस के शासनकाल में ही कलाल मुस्लिमों को OBC का दर्जा दे दिया गया था, लेकिन इसी जाति के हिन्दुओं को इस सूची में स्थान पाने के लिए नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री बनने तक का इंतज़ार करना पड़ा।

‘खुद को भगवान राम से भी बड़ा समझती है कॉन्ग्रेस, उसके राज में बढ़ी माओवादी हिंसा’: छत्तीसगढ़ के महासमुंद और जांजगीर-चांपा में बोले PM...

PM नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया कि कॉन्ग्रेस खुद को भगवान राम से भी बड़ा मानती है। उन्होंने कहा कि जब तक भाजपा सरकार है, तब तक आपके हक का पैसा सीधे आपके खाते में पहुँचता रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe