Tuesday, May 28, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकरीना को घर के बाहर से उठाया, जबरन इस्लाम कबूल करवा खलील से निकाह:...

करीना को घर के बाहर से उठाया, जबरन इस्लाम कबूल करवा खलील से निकाह: पीड़िता ने कहा- पिता के पास भेज दें, कोर्ट ने महिला केंद्र भेजा

करीना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इसमें वह खुद को जबरन मुस्लिम बनाने और खलील के साथ निकाह करवाने के बारे में बता रही है। वीडियो में वह कह रही है, "मुझे बंद कर टॉर्चर किया गया। मैं अपने माता-पिता के साथ रहना चाहती हूँ।"

पाकिस्तान से एक और हिन्दू लड़की के अपहरण और जबरन धर्मान्तरण का मामला सामने आया है। पीड़िता सिंध प्रान्त की करीना कुमारी है, उसे इसी साल 6 जून को अगवा किया गया था। शुक्रवार (12 अगस्त 2022) को उसने कोर्ट में बताया कि अगवा करने के बाद उससे जबरन इस्लाम कबूल करवाया गया। फिर खलील से उसका निकाह करवा दिया। उसने कोर्ट से गुहार लगाई कि उसे उसके पिता के पास भेज दिया जाए। अदालत ने फिलहाल उसे महिला केंद्र में रखने के निर्देश दिए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक करीना कुमारी शहीदाबाद की रहने वाली है। 6 जून 2022 को घर के बाहर से उसे अगवा किया गया था। पिता सुंदरमल ने उसे खोजने की बहुत कोशिश की। लेकिन सफलता नहीं मिली। आख़िरकार करीना को बरामद करने के बाद नवाबशाह की एक कोर्ट में वीडियो के जरिए उसकी पेशी करवाई गई।

करीना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इसमें वह खुद को जबरन मुस्लिम बनाने और खलील के साथ निकाह करवाने के बारे में बता रही है। वीडियो में वह कह रही है, “मुझे बंद कर टॉर्चर किया गया। मैं अपने माता-पिता के साथ रहना चाहती हूँ।” वहीं पीड़िता के पिता के मुताबिक, “हम बहुत गरीब हैं। हमारे पास कोर्ट आने-जाने के लिए बस का भाड़ा भी नहीं है। मेरी बेटी के बयान के बाद अब अदालत को उसे हमारे साथ भेज देना चाहिए। अदालत लड़कियों का अपहरण कर के दुष्कर्म करने वालों को सज़ा भी दे, क्योंकि ये लड़कियों को बेच भी देते हैं।” करीना के साथ हुई इस घटना के विरोध में पाकिस्तान में हिन्दुओं ने प्रदर्शन भी किया है।

सुंदरमल के वकील दिलीप कुमार मंगलानी के मुताबिक, “पीड़िता करीना नाबालिग है। जबरन निकाह और धर्मान्तरण से हिन्दू लड़कियों और उनके घर वालों को खतरा है जो सिंध के अंदर काफी ज्यादा है। अधिकतर कम उम्र की लड़कियों को निशाना बनाया जाता है, जिसमें पुलिस भी मदद नहीं करती। आरोपित कोर्ट में फर्जी कागजात पेश कर देते हैं। इसी साल मार्च में 3 हिन्दू लड़कियों का अपहरण कर जबरन इस्लाम कबूल करवाया गया और उनका निकाह मुस्लिम लड़कों से करवा दिया गया। उनमें से एक भी लड़की को पुलिस अब तक नहीं खोज पाई है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2014 – प्रतापगढ़, 2019 – केदारनाथ, 2024 – कन्याकुमारी… जिस शिला पर विवेकानंद ने की थी साधना वहीं ध्यान धरेंगे PM नरेंद्र मोदी, मतगणना...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सातवें चरण के लिए प्रचार-प्रसार का शोर थमने के साथ थी 30 मई को ही कन्याकुमारी पहुँच जाएँगे, 4 जून को होनी है मतगणना।

पंजाब में Zee मीडिया के सभी चैनल ‘बैन’! मीडिया संस्थान ने बताया प्रेस की आज़ादी पर हमला, नेताओं ने याद किया आपातकाल

जदयू के प्रवक्ता KC त्यागी ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि AAP का जन्म मीडिया की फेवरिट संस्था के रूप में हुआ था, रामलीला मैदान में संघर्ष के दौरान मीडिया उन्हें खूब कवर करता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -