Sunday, June 23, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयApple ने अपने स्टोर से कुरान एप हटाया, चीन के कहने पर की कार्रवाई:...

Apple ने अपने स्टोर से कुरान एप हटाया, चीन के कहने पर की कार्रवाई: दुनिया भर में 3.5 करोड़ यूजर

एप्पल के इस कदम का मुस्लिम जगत में विरोध भी शुरु हो गया है। मुस्लिम एसोसिएशन ऑफ़ ब्रिटेन (MAB) ने इस कदम को इस्लामोफोबिया का नाम दे दिया है।

चीन ने अपने देश में एप्पल (Apple) कम्पनी के स्टोर से कुरान एप हटवा दिया है। एप्पल ने यह एक्शन चीन सरकार द्वारा किए गए निवेदन के बाद लिया। कुरान एप (Quran apps) दुनिया भर के मुस्लिमों में चर्चित है। वर्तमान में इस एप पर लगभग डेढ़ लाख रिव्यू हैं। हटाए जाने के समय इस ऐप के चीन में 1 मिलियन से अधिक यूजर हो चुके थे।

मीडिया रिपोर्ट्स से मिल रही जानकारी के अनुसार कुरान एप पर यह एक्शन अवैध धार्मिक सामग्री के चलते लिया गया है। एक आँकड़े के अनुसार, चीन में हटाए गए ऐप कुरान मजीद के वर्तमान समय में दुनिया भर में लगभग 35 मिलियन यूजर हैं। इस कार्रवाई की जानकारी सबसे पहले एप्पल सेंसरशिप नाम की वेबसाइट ने दी थी। यह वेबसाइट ऐप स्टोर में मौजूद ऐप की निगरानी करती है और उनकी गतिविधियों के बारे में अपडेट साझा करती है।

एप्पल के इस कदम का मुस्लिम जगत में विरोध भी शुरु हो गया है। मुस्लिम एसोसिएशन ऑफ़ ब्रिटेन (MAB) ने इस कदम को इस्लामोफोबिया का नाम दे दिया है।

इसी क्रम में मुस्लिम प्रवक्ता और फ़िल्मकार फिदेल सोलीमेन (Fadel Soliman) ने एप्पल के इस कदम को शर्मनाक बताया है।

चीन में रहने वाले मुस्लिमों के मानवाधिकार हनन की शिकायतें अक्सर सामने आती रहती हैं। इसी वर्ष शिनजियांग प्रान्त में उईगर इमामों पर चीनी सरकार के अत्याचारों की खबर सुर्खियाँ बनी थीं। इतना ही नहीं, वहाँ मुस्लिमों के नरसंहार और उन्हें जेल में डालने जैसी घटनाओं पर पहले भी कई देश आपत्ति जता चुके हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -