Saturday, June 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयरूस बनाने जा रहा है घातक हथियार, इसी साल शुरू होगा AK-12 असॉल्ट राइफल...

रूस बनाने जा रहा है घातक हथियार, इसी साल शुरू होगा AK-12 असॉल्ट राइफल का उत्पादन: एक मिनट में दागेगा 1000 गोलियाँ, जानें खासियत

रोस्टेक डिफेंस कंसोर्टियम ने युद्ध में तैनात सैनिकों से फीडबैक लेकर अपने हथियारों को अपग्रेड किया है। एके सीरीज की हथियारों का नया बैच अब पूरी तरह से नई तकनीक से लैस होगा।

एके सीरीज के हथियार अब और भी घातक होने जा रहे हैं। एके सीरीज के हथियार बनाने वाली रूसी कंपनी ने सीरीज के हथियारों को अपग्रेड करने का फैसला लिया है। इसके लिए कंपनी सेना की भी मदद ले रही है और दिए गए फीडबैक के आधार पर हथियारों को और भी ज्यादा यूजर फ्रेंडली और घातक बनाया जा रहा है। रूस में इस साल से कलाशनिकोव एके-12 (Kalashnikov AK-12) असॉल्ट राइफल के नए मॉडल का उत्पादन शुरू भी हो जाएगा। यह राइफल पहले के मुकाबले कई गुना ज्यादा खतरनाक और आसानी से इस्तेमाल करने वाली होगी।

‘रूस टुडे’ की रिपोर्ट के अनुसार, रोस्टेक डिफेंस कंसोर्टियम ने युद्ध में तैनात सैनिकों से फीडबैक लेकर अपने हथियारों को अपग्रेड किया है। एके सीरीज की हथियारों का नया बैच अब पूरी तरह से नई तकनीक से लैस होगा। रिपोर्टों के मुताबिक रोस्टेक के प्रमुख सर्गेई चेमेजोव ने नए एके 12 असॉल्ट राइफल का अनावरण किया। AK-12 इस्तेमाल में पहले से और भी आसान होगा। इसमें फायरिंग मोड्स के लिए दो-तरफा नियंत्रण होगा। साथ ही एडजस्टेबल चीक रेस्ट इसका इस्तेमाल सुविधाजनक बनाएगा।

नए एके- 12 असॉल्ट राइफल की विशेषताएँ

  • AK-12 में 5.45 मिमी कैलिबर की गोली लगती है। इस बंदूक पर दूरबीन और टारगेट लेजर लगाने के लिए पिकाटिनी रेल ( Picatinny rail) भी लगाई गई है। इससे निशाना लगाना और भी आसान होगा।
  • मिलिट्री वेबसाइट SOFREP के अनुसार इस बंदूक का वजन लगभग 3.3 किग्रा है।
  • एके-12 राइफल 0.945 एमएम लंबी है। इसके बैरल की लंबाई 415 एमएम है।
  • एके 12 राइफल से एक मिनट में 1000 गोली फायर की जा सकती है।
  • एके 12 राइफल की मैग्जीन में 30 गोलियाँ लगती हैं।
  • राइफल की मारक क्षमता 625 मीटर बताई जा रही है।
  • AK-12 असॉल्ट राइफल का मजल डिजाइन कम आवाज वाले फ्लेमलेस फायरिंग उपकरण स्थापित करने की अनुमति देता है।

मिलिट्री टुडे के एक लेख के अनुसार, इसे AK-74M असॉल्ट राइफल की जगह लेने के लिए डिजाइन किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक एके 74 एम अच्छा संतुलन प्रदान नहीं कर पा रही थी। रिपोर्टों के मुताबिक दुनिया में 75 लाख से ज्यादा एके हथियारों का इस्तेमाल किया जाता है। इसे सिर्फ फौज के जवान ही नहीं बल्कि आतंकी भी इस्तेमाल करते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -