Wednesday, July 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकनाडा में जिस पार्क को 1 हफ्ते पहले मिला था 'श्री भगवद गीता' नाम,...

कनाडा में जिस पार्क को 1 हफ्ते पहले मिला था ‘श्री भगवद गीता’ नाम, वहाँ तोड़फोड़: भारतीय उच्चायोग ने बताया- हेट क्राइम, पुलिस का इनकार

पुलिस का कहना है कि ब्रैम्पटन के श्री भगवद गीता पार्क के पर्मानेंट साइन पर शब्द लिखे जाने अभी बाकी हैं। ऐसे कोई प्रमाण नहीं मिले हैं कि वहाँ पर पर्मानेंट साइन को या पार्क के स्ट्रक्चर को क्षतिग्रस्त किया गया है। वो अस्थायी पार्क साइन बोर्ड था जिसे नामकरण दिन पर इस्तेमाल किया गया था

कनाडा के ब्रैम्पटन में श्री भगवद गीता पार्क के साइन बोर्ड को नुकसान पहुँचाने का मामला सोशल मीडिया से प्रकाश में आया है। कुछ तस्वीरें शेयर हो रही हैं जिसमें एक तरफ पार्क का पूरा साइन बोर्ड दिख रहा है और दूसरी जगह खाली बोर्ड है जिस पर से पार्क का नाम उजाड़ दिया गया है।

ट्विटर पर इस घटना का जिक्र कनाडा स्थित भारतीय उच्चायोग @HCI_Ottawa) द्वारा किया गया है। उन्होंने ये दोनों तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा,

“हम ब्रैम्पटन में श्री भगवद गीता पार्क में घृणा अपराध (हेट क्राइम) की निंदा करते हैं। साथ ही कनाडाई अधिकारियों से और पील पुलिस से आग्रह करते हैं कि वो इस मामले की जाँच करें और आरोपितों के विरुद्ध पर्याप्त कार्रवाई की जाए।”

बता दें कि भारतीय उच्चायोग ने अकेले पार्क के साइन बोर्ड क्षतिग्रस्त होने की जानकारी नहीं दी। उनके अलावा मेयर पैट्रिक ब्राउन ने भी इसका जिक्र किया था। साथ ही आश्वासन दिया था कि पुलिस इस पूरे मामले को सुलझाने में प्रयासरत है। हालाँकि जब जाँच पूरी हुई तो पील पुलिस ने बोर्ड क्षतिग्रस्त किए जाने की बात को पूरी तरह नकार दिया।

पुलिस ने नकारा दावा

पील पुलिस के ट्विटर से ट्वीट किया गया कि ब्रैम्पटन के श्री भगवद गीता पार्क के पर्मानेंट साइन पर शब्द लिखे जाने अभी बाकी हैं। ऐसे कोई प्रमाण नहीं मिले हैं कि वहाँ पर पर्मानेंट साइन को या पार्क के स्ट्रक्चर को क्षतिग्रस्त किया गया है। वो अस्थायी पार्क साइन बोर्ड था जिसे नामकरण दिन पर इस्तेमाल किया गया था।

उल्लेखनीय है कि कनाडा के श्री भगवद गीता पार्क का नाम पिछले ही हफ्ते बदला गया था। पहले इसे ट्रॉयर्स पार्क (Brampton’s Troyers Park) के नाम से जाना जाता था। पार्क 3.75 एकड़ में फैला है। इसमें भगवान श्रीकृष्ण और अर्जुन की रथ के साथ मूर्ति है। इसके अलावा अन्य देवी-देवताओं की भी मूर्ति लगी हुई है। इस पार्क का नाम श्री भगवद गीता पार्क होने से हिंदू समुदाय में खुशी थी। मगर कुछ ही दिन में ऐसी खबर आ गई जिसने हिंदुओं को आहत किया।

स्वामीनारायण मंदिर को खालिस्तानियों ने निशाना बनाया

इससे पूर्व कनाडा स्थित श्री स्वामीनारायण मंदिर को टोरंटो में निशाना बनाया गया था। वहाँ खालिस्तानी तत्वों ने मंदिर के दरवाजों पर हिंदुस्तान मुर्दाबाद और खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लिखे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -