Monday, August 2, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपत्नी सहित दबोचा गया भगोड़ा ईसाई 'पैगम्बर': करोड़ों की संपत्ति का है मालिक, चर्च...

पत्नी सहित दबोचा गया भगोड़ा ईसाई ‘पैगम्बर’: करोड़ों की संपत्ति का है मालिक, चर्च में ‘चमत्कार’ दिखा लेता था डोनेशन

दक्षिण अफ्रीका की पुलिस को कई दिनों से उसकी तलाश थी। चमत्कारी होने का दावा करते-करते उसने अकूत धन-संपत्ति जमा कर ली थी। वो अपनी शानो-शौकत वाली ज़िंदगी के लिए भी जाना जाता है। पिछले सप्ताह दक्षिण अफ्रीका की अदालत ने उसे जमानत देते हुए कई शर्तें लगा दी थीं, जिसके कारण वो वहाँ से मलावी भाग गया था।

पूर्वी अफ्रीका में स्थित मलावी की पुलिस ने एक करोड़पति ईसाई ‘पैगम्बर’ को गिरफ्तार किया है, जो चमत्कार के द्वारा काफी कुछ करने का दावा करता रहा है। अपने अनुयायियों के पीच ‘पैगम्बर’ कहे जाने वाले ईसाई उपदेशक पर धोखाधड़ी से लेकर मनी लॉन्ड्रिंग तक के मामले दर्ज हैं। उसे बुधवार (नवंबर 18, 2020) को गिरफ्तार किया गया। ईसाई उपदेशक शेफर्ड बुशिरी खुद को भी Prophet कहता है।

दक्षिण अफ्रीका की पुलिस को कई दिनों से उसकी तलाश थी। चमत्कारी होने का दावा करते-करते उसने अकूत धन-संपत्ति जमा कर ली थी। वो अपनी शानो-शौकत वाली ज़िंदगी के लिए भी जाना जाता है। पिछले सप्ताह दक्षिण अफ्रीका की अदालत ने उसे जमानत देते हुए कई शर्तें लगा दी थीं, जिसके कारण वो वहाँ से मलावी भाग गया था। ‘पैगम्बर’ के साथ-साथ उसकी पत्नी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

अब इस जोड़े को अदालत में पेश किया जाना है। प्रेटोरिया में उसके खिलाफ इंटरपोल ने नोटिस भी जारी किया था। भगोड़े ‘पैगम्बर’ शेफर्ड बुशिरी के खिलाफ मंगलवार को मलावी पुलिस ने तलाशी अभियान शुरू किया था। जबकि उसके प्रवक्ता का कहना है कि शेफर्ड बुशिरी ने खुद को जानबूझ कर पुलिस के हवाले किया है, उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया है। उसका कहना है कि ये इसीलिए किया गया, ताकि उन्हें कोई भगोड़ा न कहे।

शेफर्ड बुशिरी के प्रवक्ता का कहना है कि उन्होंने मलावी में इसीलिए आत्मसमर्पण किया, क्योंकि उन्हें लगता है कि दक्षिण अफ्रीका में न्याय नहीं मिल सकता है। साथ ही उसने अपनी जान का भय भी बताया है। प्रोटेरिया के चर्चों में उपदेश देकर उसने अपने अनुयायियों से दान के रूप में काफी धन कमाया है। माइनिंग और टेलीकम्युनिकेशन्स सहित कई बड़े लक्ज़री क्षेत्रों में उसका और उसकी पत्नी का भारी निवेश है।

दक्षिण अफ़्रीकी प्रशासन को अभी तक नहीं पता चल पाया है कि आखिर वो भागा कैसे। गिरफ्तार होने के बाद अब शेफर्ड बुशिरी के प्रत्यर्पण के लिए प्रक्रिया शुरू की जा रही है। अब उसकी 27 करोड़ रुपए की एक संपत्ति को जब्त किए जाने की तैयारी चल रही है। 2.6 करोड़ का तो उसका घर ही है। साथ ही उसके प्राइवेट जेट को भी जब्त किया जाएगा। इस एयरक्राफ्ट को भी आपराधिक तरीके से खरीदा गया था। शेफर्ड बुशिरी का कहना है कि उसकी लोकप्रियता के कारण उसके खिलाफ साजिश रची जा रही है।

भारत का भगोड़ा इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक ने भी इसी तरह अकूत संपत्ति अर्जित की है और उसके वीडियो देख कर कई युवाओं ने आतंक का रास्ता अख्तियार किया है। नाइक के ऐप तथा सोशल मीडिया हैंडल तक भारत विरोधी गतिविधियों में लिप्त हैं तथा इनके माध्यम से मुस्लिम युवाओं को भर्ती करने और कट्टरपंथी बनाने का कार्य किया जा रहा है। वो मलेशिया में है और उसके प्रत्यर्पण के लिए भी कोशिशें हो रही हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe