Saturday, July 24, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'गरीबी उन्मूलन में अभूतपूर्व परिवर्तन, अक्षय ऊर्जा का निर्विवाद नेता है भारत': जो बायडेन...

‘गरीबी उन्मूलन में अभूतपूर्व परिवर्तन, अक्षय ऊर्जा का निर्विवाद नेता है भारत’: जो बायडेन के स्पेशल दूत ने कहा- हम आपके कृतज्ञ

"आपके पास न सिर्फ दशकों की वैज्ञानिक और तकनीकी आधुनिकता का फायदा मिल रहा है, बल्कि अमेरिका आपका अच्छा मित्र देश और पार्टनर है। भारत के टिकाऊ भविष्य के लिए अमेरिका हमेशा समर्थन करता रहेगा।"

जॉन केरी अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन के स्पेशल दूत के रूप में भारत आए हैं। इस दौरान उन्होंने केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात की। जॉन केरी ने मंगलवार (अप्रैल 6, 2021) को कहा कि भारत वैश्विक नेतृत्व के रूप में उभरा है और दुनिया को कोरोना वायरस के खिलाफ बनी वैक्सीन मुहैया कराने में इसकी बड़ी भूमिका रही है।

उन्होंने इस बात से संतुष्टि जताई कि जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर भी भारत अपना काम कर रहा है। 4 दिवसीय दौरे पर भारत आए जॉन केरी इस दौरान कई मंत्रियों और अधिकारियों के साथ संवाद करेंगे। ‘साउथ एशियन वीमेन इन एनर्जी लीडरशिप समिट’ को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भारत जलवायु के मामले में अच्छा काम कर रहा है। साथ ही उन्होंने अक्षय ऊर्जा के मामले में भारत को ‘निर्विवाद वैश्विक नेता’ करार दिया। 70 देशों को वैक्सीन देने को लेकर उन्होंने कृतज्ञता जताई।

उन्होंने अमेरिका को भारत का दोस्त और पार्टनर बताया। उन्होंने कहा कि जब अमेरिका एक विकासशील राष्ट्र हुआ करता था, तब उसे इस तरह का फायदा उपलब्ध नहीं था। उन्होंने कहा, “आपके पास न सिर्फ दशकों की वैज्ञानिक और तकनीकी आधुनिकता का फायदा मिल रहा है, बल्कि अमेरिका आपका अच्छा मित्र देश और पार्टनर है। भारत के टिकाऊ भविष्य के लिए अमेरिका हमेशा समर्थन करता रहेगा।”

साथ ही उन्होंने भारत में घट रही गरीबी को लेकर भी बातें की। यूएस प्रेजिडेंट के स्पेशल दूत ने कहा कि गरीबी उन्मूलन के मामले में भारत ने ‘अभूतपूर्व परिवर्तन’ लाया है। उन्होंने ‘नेशनल हाइड्रोजन एनर्जी मिशन’ की प्रशंसा की। साथ ही 2030 तक 450 गीगावॉट अक्षय ऊर्जा पैदा करने के भारत के संकल्प की सराहना की। उन्होंने कहा कि क्लीन एनर्जी के मामले में भारत पहले से 5 लाख अतिरिक्त रोजगार पैदा करेगा।

बताते चलें कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन की मेजबानी वाली ‘क्लाइमेट लीडर्स समिट’ में पाकिस्तान को न्योता नहीं दिया गया है। US क्लाइमेट एन्वॉय जॉन केरी अपने एशिया ट्रिप में भारत तो आ गए हैं, लेकिन वो पाकिस्तान का दौरा नहीं करेंगे। क्लाइमेट समिट अप्रैल 22-23, 2021 को होना है। ये समिट वर्चुअल रूप से ही होगा। दुनिया भर के 40 वैश्विक नेता इस समिट का हिस्सा बनेंगे। नवंबर में स्कॉटलैंड के ग्लासगो में ‘UN क्लाइमेट चेन्ज कॉन्फ्रेंस (COP26)’ का आयोजन भी होना है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योगी सरकार के एक्शन के डर से 3 कुख्यात गैंगस्टर मोमीन, इन्तजार और मंगता हाथ उठाकर पहुँचे थाने, किया आत्मसमर्पण

मामला यूपी के शामली जिले का है। सभी गैंगस्टर्स ने कहा कि वो अपराध से तौबा कर भविष्य में अपराध न करने की कसम खाते हैं।

जहाँ से इस्लाम शुरू, नारीवाद वहीं पर खत्म… डर और मौत भला ‘चॉइस’ कैसे: नितिन गुप्ता (रिवाल्डो)

हिंदुस्तान में नारीवाद वहीं पर खत्म हो जाता है, जहाँ से इस्लाम शुरू होता है। तीन तलाक, निकाह, हलाला पर चुप रहने वाले...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,018FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe