Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयश्रीलंका के प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघे ने दिया पद से इस्तीफा, बनेगी सर्वदलीय सरकार: चीनी...

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघे ने दिया पद से इस्तीफा, बनेगी सर्वदलीय सरकार: चीनी ऋण से संकट में पड़ोसी मुल्क

रनिल विक्रमसिंघे ने बताया कि सरकार के संचालन को सुनिश्चित करने के लिए और हर नागरिक की सुरक्षा के लिए उन्होंने पार्टी नेताओं के सर्वदलीय सरकार बनाने के सुझाव को स्वीकार लिया। उन्होंने ट्वीट में घोषणा की कि वह पीएम पद से इस्तीफा दे रहे हैं।

चीन के कर्ज में डूबे श्रीलंका के खस्ता हालातों के बाद वहाँ प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघे ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने पीएम पद को छोड़ने की सूचना अपने ट्विटर के जरिए दी। यह फैसला श्रीलंका में सर्वदलीय सरकार बनाने के लिहाज से किया गया है।

रनिल विक्रमसिंघे ने बताया कि सरकार के संचालन को सुनिश्चित करने के लिए और हर नागरिक की सुरक्षा के लिए उन्होंने पार्टी नेताओं के सर्वदलीय सरकार बनाने के सुझाव को स्वीकार लिया। उन्होंने ट्वीट में घोषणा की कि वह पीएम पद से इस्तीफा दे रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले खबर आई थी कि देश के बिगड़े हालातों के कारण सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारी राजधानी कोलंबो में शनिवार (9 जुलाई 2022) को राष्ट्रपति भवन में घुस गए। इसके बाद राष्ट्रपति गोताबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) वहाँ से भाग गए। वहीं, सुरक्षाबलों की कार्रवाई में कई प्रदर्शनकारियों घायल होने की भी खबर आई।

प्रदर्शनकारियों की माँग थी राजपक्षे राष्ट्रपति पद से तुरंत इस्तीफा दें। गुस्साए प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए सुरक्षाबलों ने हवा में कई राउंड गोलियाँ चलाईं। लेकिन कोई ज्यादा असर नहीं हुआ। बाद में वीडियो आई कि ये प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति भवन के स्वीमिंग पूल में नहा रहे हैं और साथ ही वहाँ की किचन में खाना पकाकर बेड पर आराम कर रहे हैं। हालात को देखते हुए देश में सभी स्कूल-कॉलेजों को 15 जुलाई तक के लिए बंद कर दिया गया है।

पूर्व श्रीलंकाई क्रिकेटर सनथ जयसूर्या ने ट्विटर के जरिए प्रदर्शनकारियों का समर्थन करते हुए कहा, “अपने पूरे जीवन में मैंने एक असफल नेता को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने के लिए देश को इस तरह एकजुट होते नहीं देखा। जनता ने इनके आधिकारिक घर में ही इनको औकात दिखा दी। कृपया शांति से चले जाएँ।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

औरतें और बच्चियाँ सेक्स का खिलौना नहीं… कट्टर इस्लामी मानसिकता पर बैन लगाओ, OpIndia पर नहीं: हज पर यौन शोषण की खबरें 100% सच

हज पर मुस्लिम महिलाओं और बच्चियों का यौन शोषण होता है, यह खबर 100% सत्य है। BBC, Washington Post और अरब देश की मीडिया में भी यह छपा है।

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -