Friday, June 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयथाईलैंड में छोटे बच्चों के स्कूल में अंधाधुंध फायरिंग, 36 की मौत: हमलावर ने...

थाईलैंड में छोटे बच्चों के स्कूल में अंधाधुंध फायरिंग, 36 की मौत: हमलावर ने खुद के बीवी-बच्चे को भी गोली मारी, खुद भी मरा

पुलिस के अनुसार, 34 साल के हमलावर (पूर्व पुलिसकर्मी) की पहचान पन्या कामराब के तौर पर हुई है। कथिततौर पर ड्रग्स केस में शामिल होने के कारण उसे नौकरी से निकाला गया था।

थाईलैंड के पूर्वोत्तरी इलाके में गुरुवार (6 अक्टूबर 2022) को एक चाइल्ड केयर सेंटर में अंधाधुंध गोलियाँ चलीं। घटना में 36 लोगों की जान चली गई। मरने वालों में कई बच्चे और कुछ औरतें हैं। पुलिस ने आरोपित की पहचान एक पूर्व पुलिसकर्मी के तौर पर की। बताया जा रहा है कि उसने हमले में खुद की बीवी और बच्चे को भी गोली मार दी। इसके बाद खुद की जान भी ले ली।

सामने आई वीडियोज में लोग फायरिंग से बचते हुए दिखाई पड़ रहे हैं। वहीं कुछ लोग घायलों को संभाल रहे हैं। पुलिस के अनुसार, 34 साल के हमलावर (पूर्व पुलिसकर्मी) की पहचान पन्या कामराब के तौर पर हुई है। कथिततौर पर ड्रग्स केस में शामिल होने के कारण उसे नौकरी से निकाला गया था।

इसके बाद वह गुरुवार को सफेद रंग की टोयोटा गाड़ी से चाइल्ड सेंटर पर आया। गाड़ी पर बैंकॉक का नंबर था। यहाँ उसने बच्चों पर गोलियाँ चलाईं। साथ ही कुछ रिपोर्ट्स बता रही हैं कि उसने बच्चों पर चाकू से भी हमले किए। पुलिस का कहना है कि अभी मरने वालों की संख्या का ठीक से नहीं पता चल पाया है।जो मालूम हुआ है उसके अनुसार 24 बच्चों समेत 36 लोग इस गोलीबारी में मारे गए हैं। संख्या के बढ़ने का अनुमान है।

घटना की जानकारी होते ही सरकारी प्रवक्ता ने और प्रधानमंत्री ने हर एजेंसी को अलर्ट कर दिया है। लांफू प्रांत में भी सेना को भी अलर्ट दिया गया है। पूरे इलाके में दहशत का माहौल है। कुछ रिपोर्ट्स कह रही हैं कि हमलावर ने खुद को गोली मार ली है जबकि कुछ में कहा जा रहा है कि पुलिस आरोपित को जल्द गिरफ्तार करने की बात कह रही है।

बता दें कि थाईलैंड में इससे पहले साल 2020 में एक सिपाही ने प्रॉपर्टी डील के मामले में 29 लोगों की हत्या कर दी थी। इस घटना में कुल 57 लोग घायल हुए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -