Thursday, August 5, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइमरान ख़ान के ऑफ़िस में घुसकर TikTok गर्ल ने बनाया वीडियो, लोगों ने कहा-...

इमरान ख़ान के ऑफ़िस में घुसकर TikTok गर्ल ने बनाया वीडियो, लोगों ने कहा- ये देखो हो रही है गुफ़्तगू

"मैं नेशनल असेंबली भी गई थी, वहाँ मैंने अपना पास वापस लिया और सही से तरीक़े से वहाँ दाख़िल हुई। मैंने इसके लिए जो भी प्रोसेस है, उसे पूरा किया है। मुझे वहाँ किसी सिक्योरिटी ने रोका-टोका नहीं था। किसी ने मेरी मदद नहीं की और मैं ख़ुद वहाँ गई थी।"

पाकिस्तान की पॉपुलर टिकटॉक गर्ल हरीम शाह एक बार फिर से सुर्ख़ियों में हैं। दरअसल, हरीम का एक वीडियो सोशल मीडिया पर बड़ी तेज़ी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वो पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के कॉन्फ्रेन्स रूम में शूट किया गया है। इस वीडियो के सोशल मीडिया पर पहुँचते ही पाकिस्तान सरकार की जमकर किरकिरी हो रही है।  

आप इस वीडियो में देख सकते हैं TikTok गर्ल हरीम शाह हाई-सिक्योरिटी वाले पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के कॉन्फ्रेन्स रूम में मस्ती में घूमती-फिरती नज़र आ रही हैं। इस दौरान वो मुस्कुराते हुए अपनी अदाओं का जलवा भी बिखेरती दिखती हैं। 

ग़ौर करने वाली बात यह है कि TikTok गर्ल वीडियो शूट करके समय ज़रा भी नहीं हिचकिचाईं कि आख़िर वो किस जगह पर हैं। हिन्दी-पंजाबी गीत का लुत्फ़ उठाते हुए उन्होंने बिना किसी बात के परवाह किए वीडियो न सिर्फ़ शूट किया बल्कि सोशल मीडिया के ज़रिए यूज़र्स तक भी पहुँचाया। भले ही हरीम को इस वीडियो शूट पर बड़ा नाज़ हो, लेकिन सच्चाई यह है कि सोशल मीडिया पर इस वीडियो पर कई तीख़ी प्रतिक्रियाएँ आई हैं जो न TikTok गर्ल के लिए ठीक है और न ही पाकिस्तान सरकार के लिए।

पाकिस्तानी पत्रकार नायला इनायत ने ट्वीट किया कि पाकिस्तान विदेश कार्यालय में होने वाली बातें…

अदील राजा ने ट्वीट किया कि पीएमओ ऑफ़िस में हरीम शाह, यह कैसे हो गया?

डॉ अर्सलान ख़ालिद नाम के ट्विटर यूज़र ने अपने ट्वीट में लिखा कि यह प्रधानमंत्री कार्यालय नहीं हैं बल्कि विदेश मंत्रालय का कक्ष है। TikTok स्टार यहाँ कैसे पहुँची, इस बात की जाँच हो रही है।

फ़िलहाल, इस वीडियो को देखकर पाकिस्तान के अधिकारियों ने इस मामले को गंभीरता से लिया और जाँच शुरू कर दी। वहीं, TikTok गर्ल हरीम शाह ने कहा, “मैं नेशनल असेंबली भी गई थी, वहाँ मैंने अपना पास वापस लिया और सही से तरीक़े से वहाँ दाख़िल हुई। मैंने इसके लिए जो भी प्रोसेस है, उसे पूरा किया है। मुझे वहाँ किसी सिक्योरिटी ने रोका-टोका नहीं था। किसी ने मेरी मदद नहीं की और मैं ख़ुद वहाँ गई थी।” शाह ने कहा कि अगर वहाँ वीडियो बनाना नियमों के ख़िलाफ़ था, तो अधिकारियों को उन्हें वीडियो बनाने की इजाज़त नहीं देनी चाहिए थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,042FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe