Saturday, May 25, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमहाभारत और चाणक्य का हवाला दे यूक्रेन की PM मोदी से गुहार, कहा- पुतिन...

महाभारत और चाणक्य का हवाला दे यूक्रेन की PM मोदी से गुहार, कहा- पुतिन आपके दोस्त, उनसे हमारे राष्ट्रपति जेनेंस्की की बात करवा दीजिए

यूक्रेन के राजदूत ने कहा कि मुझे नहीं पता कि दुनिया के कितने नेताओं को पुतिन गंभीरता से लेते हैं लेकिन मोदी जी का स्टेटस अलग है। उनकी बात पुतिन को सुननी चाहिए। हम भारत सरकार से ऐसे कदम की उम्मीद लगाए हैं।

रूस ने यूक्रेन पर हमला कर दिया है। राजधानी कीव सहित यूक्रेन के सैन्य प्रतिष्ठानों और हवाई अड्डों पर भी धमाके की खबरें हैं। ऐसे संकट में यूक्रेन ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप के लिए अनुरोध किया है। रूस के हमले से थर्राए यूक्रेन ने चाणक्य और महाभारत का जिक्र कर भारत से मदद की गुहार लगाई है। यूक्रेन के राजदूत ने कहा कि मुझे नहीं पता कि दुनिया के कितने नेताओं को पुतिन गंभीरता से लेते हैं लेकिन मोदी जी का स्टेटस अलग है। उनकी बात पुतिन को सुननी चाहिए। हम भारत सरकार से ऐसे कदम की उम्मीद लगाए हैं।

नई दिल्ली में तैनात यूक्रेन के राजदूत डॉ इगर पोलिखा (Dr Igor Polikha) ने पीएम मोदी से इस मामले में मदद माँगी है। यूक्रेन के राजदूत ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ब्लादिमीर पुतिन से दोस्ती का रिश्ता है। वह स्थिति को और बिगड़ने से बचाने में अहम रोल निभा सकते हैं। यूक्रेन के राजदूत इगर पोलिखा ने कहा, “हमारी पीएम मोदी से अपील है कि वह तुरंत रूसी राष्ट्रपति पुतिन और हमारे राष्ट्रपति जेनेंस्की के बीच बात करवाएँ।”

दरअसल, रूस-भारत के दशकों पुराने मजबूत संबंध और पीएम मोदी की रूस के राष्ट्रपति पुतिन के साथ घनिष्ठता देख यूक्रेन चाहता है कि वह इस युद्ध को रोकने के लिए आगे आएँ। भारत में यूक्रेन के राजदूत इगर पोलिखा (Dr Igor Polikha) ने कहा कि महाभारत को याद कीजिए। महाभारत के युद्ध से पहले भी शांति की कई कोशिशें हुई थीं। दुर्भाग्य से महाभारत में शांति की वह कोशिशें सफल नहीं हो सकी थीं, लेकिन मुझे उम्मीद है कि इस मामले में ऐसी बातचीत सफल रहेगी।

उन्होंने कहा, “यूक्रेन भारत की तरह लोकतांत्रिक देश है। मैं भारत में राजदूत हूँ। हमारे लिए भारत स्पेशल है। भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनना चाहता है। भारत दुनिया में काफी प्रभावशाली देश है।” उन्होंने चाणक्य का जिक्र करते हुए कहा, “मैंने आपका इतिहास पढ़ा है। यहाँ चाणक्य 2400 साल पहले हुए। जब यूरोप में कोई सभ्यता नहीं थी, यहाँ भारत में विद्वान हुए।”

यूक्रेन के राजदूत ने कहा, “हमारे पास पुष्ट जानकारी है कि कई यूक्रेनियन सैन्य प्रतिष्ठानों पर हमले हुए हैं। बम और मिसाइल हमलों से सैन्य हवाई अड्डों, सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया गया है। कुछ हमले राजधानी के उपनगरीय इलाके में भी हुए हैं। कुछ हमले यूक्रेन की सीमा में काफी अंदर भी हुए हैं। हालात काफी बदल चुके हैं। आखिर तक हमारे राष्ट्रपति रूस के साथ द्विपक्षीय बातचीत के लिए कहते रहे लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। आज सुबह 5 बजे से यह आक्रामक कार्रवाई शुरू हुई।”

क्या है भारत का स्टैंड

भले ही यूक्रेन के राजदूत की तरफ से पीएम मोदी से मदद की गुहार लगाई गई है, लेकिन भारत का इस पूरे मामले पर न्यूट्रल रुख है। भारत ने अभी तक किसी भी पक्ष की तरफ से नहीं बोला है। साथ ही पीएम मोदी ने भी अब तक इस घटनाक्रम को लेकर कोई ट्वीट या सन्देश नहीं दिया है। साथ ही विदेश राज्य मंत्री की तरफ से भी साफ किया गया कि यूक्रेन मामले पर फिलहाल हम न्यूट्रल हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि, शांति बनाए रखने के लिए कोशिशें जारी रहनी चाहिए।

गौरतलब है कि यूक्रेन की राजधानी कीव समेत कई जगह हुए धमाकों के बाद यूक्रेन में मार्शल ला लगा दिया गया है। इतना ही नहीं यूक्रेन ने दावा किया है कि उन्होंने 5 रूसी विमानों और एक रूसी हेलीकाप्टर को मार गिराया है। साथ ही यूक्रेन ने दावा किया है कि उनके हमले में 50 रूसी सैनिक भी मारे गए हैं। वहीं यूक्रेन के भी 40 सैनिक और 10 सिविलियन के मारे जाने की खबर भी सामने आई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुजरा करने दो विपक्ष को… मैं खड़ा हूँ एसी-एसटी और ओबीसी के आरक्षण के साथ’ : PM मोदी की बिहार-यूपी में हुंकार, बोले- नहीं...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि वो एससी/एसटी ओबीसी के आरक्षण के साथ हर हाल में खड़े हैं। वो वंचितों का अधिकार नहीं छिनने देंगे।

ईवीएम पर नहीं लगा था BJP का टैग, तृणमूल कॉन्ग्रेस ने झूठ फैलाया: चुनाव आयोग ने खोली पोल, बताया- क्यों लिए जाते हैं मशीन...

भारतीय निर्वाचन आयोग ने टीएमसी के आरोपों का जवाब देते हुए झूठे दावे की पोल खोली और बताया कि ईवीएम पर कोई भाजपा का टैग नहीं हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -