Thursday, July 29, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका ने चीन को दिया 72 घंटे के अंदर वाणिज्य दूतावास बंद करने का...

अमेरिका ने चीन को दिया 72 घंटे के अंदर वाणिज्य दूतावास बंद करने का आदेश, हड़बड़ी में गोपनीय दस्तावेज जलाने लगे अधिकारी

अमेरिका ने चीन के साथ जारी गंभीर तनाव को देखते हुए ह्यूस्‍टन के महावाणिज्‍य दूतावास को बंद करने का आदेश दिया गया है। इसके लिए अमेरिका ने चीन को 72 घंटे का समय दिया है। इतने कम समय में महावाणिज्‍य दूतावास को खाली करने के आदेश से चीन के विदेश मंत्रालय में हड़कंप मच गया है। चीन के विदेश मंत्रालय ने इस पर........

अमेरिका ने एक अप्रत्‍याशित कदम उठाते हुए चीन को अपने ह्यूस्‍टन स्थित महावाणिज्‍य दूतावास को 72 घंटे के अंदर बंद करने का आदेश दिया है। इस अमेरिकी आदेश के बाद चीनी दूतावास के कर्मचारी गोपनीय दस्‍तावेजों को जलाते हुए देखे गए हैं।

अमेर‍िका के इस कदम के बाद चीन भड़क उठा है और उसने आवश्‍यक जवाबी कार्यवाही की धमकी दी है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने बुधवार (जुलाई 22, 2020) को बीजिंग में संवाददाताओं से कहा कि अमेरिका ने यह एकतरफा पहल की है और चीन इसका जवाब जरूर देगा। उन्होंने कहा कि अमेरिका में चीनी अधिकारियों को पिछले दिनों बम हमले और हत्या की धमकी दी गई थी।

बताया जा रहा है कि अमेरिका ने चीन के साथ जारी गंभीर तनाव को देखते हुए ह्यूस्‍टन के महावाणिज्‍य दूतावास को बंद करने का आदेश दिया गया है। इसके लिए अमेरिका ने चीन को 72 घंटे का समय दिया है। इतने कम समय में महावाणिज्‍य दूतावास को खाली करने के आदेश से चीन के विदेश मंत्रालय में हड़कंप मच गया है। चीन के विदेश मंत्रालय ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है।

चीन के विदेश मंत्रालय ने अमेरिका के इस कदम की कड़ी निंदा की है और कहा कि अमेरिका ने इस गलत आदेश को वापस नहीं लिया तो वह ‘एक न्‍यायोचित और आवश्‍यक जवाबी कार्यवाही’ करेगा।

चीन के मुखपत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स की तरफ से बताया गया है कि अमेरिका ने 72 घंटे के अंदर इस कांसुलेट से कामकाज समेटने को कहा है। अखबार के एडिटर हू जिजिन की तरफ से ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी गई है।

अमेरिका के आदेश के बाद चीनी दूतावास के अंदर अफरातफरी का माहौल देखा गया। यही नहीं, चीन के कर्मचारी बड़ी संख्‍या में गोपनीय दस्‍तावेजों को जलाते देखे गए हैं।

हालत यहाँ तक हो गई कि आग को देखकर ह्यूस्‍टन के फायर डिपार्टमेंट की गाड़‍ियाँ मौके पर पहुँच गईं लेकिन वे दूतावास के अंदर नहीं गईं। चीन के दूतावास से निकल रही आग की लपटों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। अमेरिका के इस कदम से अब चीन के साथ उसके संबंधों के और ज्‍यादा तनावपूर्ण होने की आशंका बढ़ गई है।

स्थानीय लोगों द्वारा वाणिज्य दूतावास के बाहर कुछ कंटेनरों में कागज जलाने की सूचना के बाद ह्यूस्टन पुलिस और दमकल के पहुँचने के कुछ घंटों बाद हू का ट्वीट आया। ह्यूस्टन क्रॉनिकल और दो स्थानीय टीवी स्टेशनों ने पुलिस के हवाले से खुले में कंटेनर में कागज जलाए जाने की खबर चलाई थी।

ह्यूस्‍टन की लोकल मीडिया की तरफ से जो वीडियो पोस्‍ट किए गए हैं उनमें नजर आ रहा है कि कंटेनर्स के अंदर से काला धुआँ निकल रहा है। फायर फाइटर्स को दूतावास की बिल्डिंग के अंदर जाने की मंजूरी नहीं थी। कुछ मिनटों बाद आग बुझ गई थी। इस घटना में कोई भी घायल नहीं हुआ है। ह्यूस्‍टन क्रॉनिकल और दोनों चैनलों की मानें तो स्‍थानीय समयानुसार कांसुलेट को शुक्रवार 4 बजे तक खाली कर दिया जाएगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना से अनाथ हुई लड़कियों के विवाह का खर्च उठाएगी योगी सरकार: शादी से 90 दिन पहले/बाद ऐसे करें आवेदन

योजना का लाभ पाने के लिए लड़कियाँ खुद या उनके माता/पिता या फिर अभिभावक ऑफलाइन आवेदन करेंगे। इसके साथ ही कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने आवश्यक होंगे।

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe