Wednesday, August 4, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयधर्मान्तरण कराने पहुँचा था ईसाई मिशनरी, बौद्ध भिक्षु ने मारा ज़ोरदार थप्पड़, वीडियो वायरल

धर्मान्तरण कराने पहुँचा था ईसाई मिशनरी, बौद्ध भिक्षु ने मारा ज़ोरदार थप्पड़, वीडियो वायरल

बौद्ध भिक्षु ने वहाँ के पुलिस अधिकारियों की भी क्लास लगाई। उन्होंने पुलिसकर्मियों को पूछा कि वो अपने क्षेत्रों में ईसाई धर्मान्तरण को रोकने में विफल क्यों साबित हो रहे? उस बौद्ध भिक्षु ने एक अन्य क्रिस्चियन मिशनरी को उसकी बाइक रोक कर उसे फटकार लगाई।

दुनिया भर में ईसाई मिशनरियों द्वारा दूसरे धर्म के लोगों का धर्मान्तरण कराए जाने की बातें सामने आती रहती हैं। ख़ासकर ऐसे लोगों को ज़्यादा निशाना बनाया जाता है, जो आर्थिक रूप से पिछड़े इलाक़ों में रहते हैं या फिर मुख्यधारा से दूर हैं। तरह-तरह के प्रलोभन देकर और ईसाई मजहब को सबसे श्रेष्ठ बता कर ऐसी करतूतों को अंजाम दिया जाता है। ऐसे ही एक मिशनरी को एक बौद्ध भिक्षु ने करारा सबक सिखाया। श्रीलंका के पूर्वी क्षेत्र में स्थित बट्टीकलोआ में बौद्ध भिक्षु सुमनरत्ना थेरो ने एक ईसाई मिशनरी को खींच कर चाटा मारा।

ईसाई मिशनरी भोले-भाले लोगों को प्रलोभन दे रहा था और अपने मजहब की श्रेष्ठता का बखान कर रहा था। तभी वहाँ पहुँचे बौद्ध भिक्षु सुमनरत्ना ने उसे ऐसा चाटा मारा कि उसका चश्मा ज़मीन पर जा गिरा और वो व्यक्ति कुछ क़दम पीछे जा खड़ा हुआ। इस घटना के समय वहाँ कई अन्य बौद्ध भिक्षु और स्थानीय लोग भी उपस्थित थे। नीचे संलग्न किए गए वीडियो में आप देख सकते हैं:

इसके बाद बौद्ध भिक्षु ने वहाँ के पुलिस अधिकारियों की भी क्लास लगाई। सुमनरत्ना थेरो ने पुलिसकर्मियों को जम कर फटकारा और पूछा कि वो अपने क्षेत्रों में ईसाई धर्मान्तरण को रोकने में विफल क्यों साबित हो रहे हैं? सुमनरत्ना ने एक अन्य क्रिस्चियन मिशनरी को उसकी बाइक रोक कर उसे फटकार लगाई। कई लिबरल लोगों ने जहाँ इस घटना को लेकर कहा कि अगर ग़लत हो रहा था तो क़ानून को कार्रवाई करनी चाहिए थी, वहीं आम लोगों ने बौद्ध भिक्षु की सराहना की।

‘कोलोंबो टेलीग्राफ’ के अनुसार, श्रीलंका में राष्ट्रपति गोटाभाया राजपक्षे के सत्ता में आने के बाद से ही क्रिस्चियन मिशनरियों व इस्लामिक कट्टरपंथियों के ख़िलाफ़ लोग आवाज़ उठा रहे हैं। श्रीलंका की सरकार पर आरोप लग रहे हैं कि ये सिंहला प्रभुत्व वाली सरकार है और तमिलों को उनका हक़ नहीं मिल रहा। हाल ही में भारत दौरे पर आए राष्ट्रपति राजपक्षे ने ऐसे किसी भेदभाव से इनकार किया था। लेकिन, इस्लामिक आतंकवाद और कटवारपंथ को लेकर उन्होंने कड़े तेवर दिखाए थे।

ईसाइयों पर मेहरबान जगन सरकार, धर्मांतरण के लिए खोला खजाना: आंध्र प्रदेश में विकास गया तेल लेने

धर्मान्तरण का ‘ईसाई’ आतंक: यूपी के मऊ में तीन पादरी गिरफ्तार, बीमारी ठीक होने के नाम पर किया सहमत

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारतीय हॉकी का ‘द ग्रेट वॉल’: जिसे घेर कर पीटने पहुँचे थे शिवसेना के 150 गुंडे, टोक्यो ओलंपिक में वही भारत का नायक

शिवसेना वालों ने PR श्रीजेश से पूछा - "क्या तुम पाकिस्तानी हो?" अपने ही देश में ये देख कर उन्हें हैरत हुई। टोक्यो ओलंपिक के बाद सब इनके कायल।

अफगानिस्तान के सबसे सुरक्षित इलाके में तालिबानी हमला, रक्षा मंत्री निशाना: ब्लास्ट-गोलीबारी, सड़कों पर ‘अल्लाहु अकबर’

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के विभिन्न हिस्सों में गोलीबारी और बम ब्लास्ट की आवाज़ें आईं। शहर के उस 'ग्रीन जोन' में भी ये सब हुआ, जो कड़ी सुरक्षा वाला इलाका है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,873FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe