Monday, June 27, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयWHO ने फिर की PM मोदी की तारीफ, कहा- घनी आबादी होने के बावजूद...

WHO ने फिर की PM मोदी की तारीफ, कहा- घनी आबादी होने के बावजूद भारत ने कोरोना संक्रमण को किया काबू

यह बयान डब्ल्यूएचओ की दक्षिण पूर्वीं एशिया की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. पूनम खेत्रपाल ने दिया है। उन्होंने आगे कहा कि भारत सरकार कोरोना के प्रसार को काफ़ी हद तक फैलने से रोकने में कामयाब रही है। भारत ने महामारी को अनदेखा नहीं किया बल्कि कोविड-19 के खिलाफ शुरू से ही काफी सतर्क रहा।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना के संक्रमण को रोकने में भारत की कोशिशों की तारीफ की है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने (22 जुलाई, 2020) को अपने एक बयान में कहा कि कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए भारत ने सही समय पर आवश्यक कदम उठाना शुरू कर दिया था। जिसकी वजह से देश की इतनी आबादी होने के बावजूद कोरोना संक्रमण अभी भी काबू में है।

यह बयान डब्ल्यूएचओ की दक्षिण पूर्वीं एशिया की क्षेत्रीय निदेशक डॉ. पूनम खेत्रपाल ने दिया है। उन्होंने आगे कहा कि भारत सरकार कोरोना के प्रसार को काफ़ी हद तक फैलने से रोकने में कामयाब रही है। भारत ने महामारी को अनदेखा नहीं किया बल्कि कोविड-19 के खिलाफ शुरू से ही काफी सतर्क रहा।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस जिस वक्त दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में तेजी से बढ़ रहा था, उस समय भारत में बहुत ही कम केस थे। मगर भारत उसी समय से अस्पतालों को तैयार करने, दवाइयों की व्यवस्था करने और जाँच क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ लगातार अपनी तैयारियों और जवाबी मानकों को विस्तारित कर रहा है।

पूनम खेत्रपाल ने कहा कि हम भारत में राज्यों के स्तर पर इन क्षमताओं में विभिन्नता से परिचित हैं। अगर हम देश की आबादी और उसके क्षेत्रफल के अनुसार देखें तो यह कह सकते हैं कि वहाँ हालात असमान्य नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि जो कदम उठाए गए वह जरूर पूरी तरह से पर्याप्त नहीं हो सकते लेकिन इन उपायों ने संक्रमण को फैलने से रोकने में जरूर मदद की है।

भारत में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 11 लाख 92 हजार 915 हो गई है। देश में पिछले 24 घंटे में 37,724 नए मामले सामने आए हैं और 648 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा देश में अभी तक इस महामारी की वजह से 28,781 लोगों की मौत हुई है। देश में चार लाख 13 हजार 892 मामले सक्रिय हैं और सात लाख 52 हजार 596 मरीज ठीक हुए हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘लगातार मिल रही धमकियाँ, हमें और हमारे समर्थकों को जान का खतरा’: शिंदे गुट पहुँचा सुप्रीम कोर्ट, बोले आदित्य ठाकरे – हम शरीफ क्या...

एकनाथ शिंदे व उनके समर्थक नेताओं ने उस नोटिस के विरुद्ध कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है जिसमें 16 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने की बात है।

YRF की ‘शमशेरा’ में बड़ा सा त्रिपुण्ड तिलक वाला गुंडा, देश का गद्दार: लगातार फ्लॉप के बावजूद नहीं सुधर रहा बॉलीवुड, फिर हिन्दूफ़ोबिया

लगातार फ्लॉप फिल्मों के बावजूद बॉलीवुड नहीं सुधर रहा है। एक बार फिर से त्रिपुण्ड वाले 'हिन्दू विलेन' ('शमशेरा' में संजय दत्त) को लाया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,604FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe