Saturday, July 2, 2022
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र में शिवसेना ने फिर शुरू की 'होटल पॉलिटिक्स': तीन दिन के लिए बंद...

महाराष्ट्र में शिवसेना ने फिर शुरू की ‘होटल पॉलिटिक्स’: तीन दिन के लिए बंद किए जा रहे पार्टी के विधायक, होने हैं राज्यसभा चुनाव

कॉन्ग्रेस और एनसीपी भी क्रॉस वोटिंग के डर से अपने सभी विधायकों के साथ-साथ निर्दलीय और सहयोगी दलों के विधायकों को एक साथ रखने की योजना बना रही है।

महाराष्ट्र में राज्यसभा चुनाव से पहले शिवसेना के विधायकों को एक होटल में शिफ्ट करने की खबर सामने आई है। यह होटल मुंबई के मलाड में स्थित है। समाचार एजेंसी एएनआई ने इसकी कुछ तस्वीरें भी शेयर की हैं। इन तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि एक टूरिस्ट बस में पुलिस की निगरानी में उन विधायकों को होटल ले जाया जा रहा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र में 10 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव के मद्देनजर शिवसेना, एनसीपी और कॉन्ग्रेस की महा विकास आघाड़ी ने 7 जून को मुंबई में अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। शिवसेना, राकांपा और कॉन्ग्रेस के विधायकों के साथ-साथ छोटे दलों और निर्दलीय विधायकों के मंगलवार (7 जून 2022) को मुंबई के ट्राइडेंट होटल में बैठक में शामिल होने की उम्मीद है। ये विधायक अगले तीन दिन होटल में बिताएँगे। सूत्रों के अनुसार, कॉन्ग्रेस और एनसीपी भी क्रॉस वोटिंग के डर से अपने सभी विधायकों के साथ-साथ निर्दलीय और सहयोगी दलों के विधायकों को एक साथ रखने की योजना बना रही है।

शिवसेना नेता और राज्य सरकार में मंत्री उदय सामंत ने रविवार (5 जून, 2022) को मीडियाकर्मियों से बातचीत में दावा किया कि महा विकास आघाड़ी के सभी चार उम्मीदवार आराम से चुनाव जीतेंगे। उन्होंने कहा था, “चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। मुझे नहीं पता कि भाजपा में तीन उम्मीदवार उतारने की हिम्मत कहाँ से आ रही है।”

मालूम हो कि महाराष्ट्र से छठी राज्यसभा सीट के लिए चुनावी मुकाबला भाजपा के धनंजय महादिक और शिवसेना के संजय पवार के बीच है। राज्य में कुल छह सीटों के लिए हो रहे चुनाव में भाजपा ने तीन, शिवसेना ने दो और कॉन्ग्रेस व एनसीपी ने एक-एक उम्मीदवार उतारे हैं।

बता दें कि चुनाव होने तक शिवसेना (55), एनसीपी (52) और कॉन्ग्रेस (44) के सभी विधायक मुंबई में एक साथ रहेंगे। चार प्रमुख दलों के अलावा राज्य विधानसभा में निर्दलीय और छोटे दलों के 25 विधायक हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe