Tuesday, June 22, 2021
Home रिपोर्ट ममता जी! बालाकोट में जो हुआ उसका पता चल जाएगा, आप बताएँ IPS...

ममता जी! बालाकोट में जो हुआ उसका पता चल जाएगा, आप बताएँ IPS अधिकारी के साथ आपने क्या किया था?

जिस घटना से ममता के अस्तित्व पर सवाल उठना शुरू हो गए उनके लिए उस प्रश्न का कोई औचित्य नहीं है। राजनीति करते-करते ममता जैसे नेता दूसरों पर सवाल उठाने से पहले भूल जाते हैं कि उनका दामन हर जगह कीचड़ से सना हुआ है।

बालाकोट में भारतीय वायु सेना के हमले के बाद चारों ओर भारतीय सेना और मोदी सरकार की तारीफ़ में आवाज़ें बुलंद हो रही हैं। सोशल मीडिया के गलियारों से लेकर देश की सड़कों तक बालाकोट में जो हुआ उसका समर्थन किया जा रहा है। लेकिन इस जवाबी कार्रवाई से विपक्ष में बैठे कुछ लोगों को शांति नहीं मिली है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दीदी ने सवाल दागा है कि जवानों का जीवन चुनावी राजनीति से ज्यादा कीमती है, लेकिन देश को यह जानने का अधिकार है कि पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना के हवाई हमले के बाद आख़िर वास्तव में क्या हुआ।

ममता के इस सवाल के बाद यकीन करना मुश्किल नहीं कि ऐसा बौद्धिक स्तर विपक्ष में बैठे लोगों में ही हो सकता है। जो जानते हैं कि किस चीज पर राजनीति नहीं होनी चाहिए लेकिन फिर भी वह उसी चीज पर राजनीति करने से बाज नहीं आते।

खैर अब जब सवाल कर ही दिया है तो उन्हें बताया जाना चाहिए कि बालाकोट में ‘क्या हुआ’ उसके सबूत धीरे-धीरे सामने आ रहे हैं। 26 फरवरी को हुए इस हमले के एक दिन बाद वायुसेना कमांडर अभिनंदन के पाकिस्तान में होने की ख़बर आई, जिसके कारण सभी का ध्यान उनकी तरफ केंद्रित हो गया। लेकिन ममता अपनी राजनीति पर अटकी रहीं। ऐसे में उन्हें बताना जरूरी है कि ‘दीदी’ थोड़ा इंतज़ार करिए धीरे-धीरे बालाकोट में क्या-कैसे-कब हुआ सबके जवाब दिए जाएँगे, जैसे F-16 के मिसाइल के टुकड़े दिखाकर दिए गए हैं।

तब तक आप उस आईपीएस ऑफिसर के बारे में जवाब दे दीजिए जिसने सुसाइड नोट लिखकर आपको खबरों का हिस्सा बना दिया। ममता को यह बताना चाहिए कि उस आईपीएस अधिकारी ने अपनी आत्महत्या का कारण ममता को ही क्यों बताया? क्यों गौरव दत्त की पत्नी श्रेयांशी ममता को अपने पति की मौत का ज़िम्मेदार बता रही है? आख़िर आपने दस साल तक किसी आईपीएस अफसर को किस प्रकार इतना प्रताड़ित किया कि उसने नौकरी से सेवानिवृत्त होकर मौत को गले लगाना ही उचित समझा? इन सवालों का जवाब दे दीजिए फिर देश के हवाले से पूछते रहिए कि बालाकोट में क्या हुआ क्या नहीं हुआ?

सोचिए ज़रा! वायुसेना के जिस एक्शन से पूरे देश में संतुष्टि का माहौल बना, उसपर ममता जानना चाहती हैं कि आखिर उस दिन बालाकोट में वास्तविकता में हुआ क्या? और जिस घटना से ममता के अस्तित्व पर सवाल उठना शुरू हो गए उनके लिए उस प्रश्न का कोई औचित्य नहीं है। राजनीति करते-करते ममता जैसे नेता दूसरों पर सवाल उठाने से पहले भूल जाते हैं कि उनका दामन हर जगह कीचड़ से सना हुआ है। देश की जिस कामयाबी पर लोग गौरव करते नहीं थक रहे, उस पर सवाल उठाना भी बड़ी दिलेरी का ही काम है।

ममता ने मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से कहा कि हवाई हमले के बाद उन्हें बताया गया कि 300-350 आतंकी मारे गए हैं । लेकिन उनका कहना यह भी है कि उन्होंने वॉशिंगटन पोस्ट और न्यूऑर्क टाइम्स की खबरें भी पढ़ी हैं जो बता रहे हैं कि इस हमले में कोई मारा नहीं गया है, सिर्फ एक इंसान घायल हुआ है।

विदेशी अखबारों से जानकारी इकट्ठा करके सवाल दागने वाली ममता बनर्जी के सवाल ही उनपर सवाल खड़े कर रहे हैं कि वह जिस देश की प्रधानमंत्री होने के सपने देख रही हैं, उसी देश की सेना पर ऊँगली उठाने से उन्हें किसी प्रकार का कोई गुरेज़ नहीं हैं।

खैर, सीबीआई की पूछताछ से आहत होकर धरने पर बैठ जाने वाले यदि सेना की कार्रवाई पर सवाल उठाए तों ज्यादा हैरानी नहीं होती। ऐसे लोगों के हर कदम में राजनीति की ही गंध आती हैं। जो साबित करते हैं कि मुद्दा चाहे कोई भी हो लेकिन उसपर राजनीति जमकर करेंगे, वो भी तब जब लोकसभा चुनाव नज़दीक हों।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

घर से फरार हुआ मूक-बधिर आदित्य, अब्दुल्ला बन कर लौटा: व्हाट्सएप्प-टेलीग्राम से ब्रेनवॉश, केरल से जुड़े तार

आदित्य की उम्र 24 साल है। उसके पिता वकील हैं। ये सब कुछ लॉकडाउन लगने के साथ शुरू हुआ, जब आदित्य मोबाइल का ज्यादा प्रयोग करने लगा।

‘एक दिन में मात्र 81 लाख लोगों को वैक्सीन? बेहद खराब!’: रवीश कुमार के लिए पानी पर चलने वाले कुत्ते की कहानी

'पोलियो रविवार' के दिन मोदी सरकार ने 9.1 करोड़ बच्चों को वैक्सीन लगाई। रवीश 2012 के रिकॉर्ड की बात कर रहे। 1950 में पहला पोलियो वैक्सीन आया, 62 साल बाद बने रिकॉर्ड की तुलना 6 महीने बाद बने रिकॉर्ड से?

ॐ को योग से तोड़ना और अल्लाह को योग से जोड़ने का कॉन्ग्रेसी प्रोपेगेंडा, कुछ और नहीं हिन्दू विरोध का पुराना पैंतरा

पॉलिटिकल करेक्टनेस किसे कहाँ तक ले जाता है वह देखने वाली बात होगी पर फिलहाल तो सरकार के विरोध के उद्देश्य से आरंभ हुई एक प्रक्रिया योग विरोध पर पहुँची और वहाँ से एक और छलांग लगाकर हिन्दू विरोध पर जा खड़ी हुई है।

24 जून, सुबह 10:30 तक गाजियाबाद के लोनी थाना पहुँचो ट्विटर इंडिया MD: फर्जी वीडियो मामले में UP पुलिस का आदेश

गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर को दूसरा नोटिस जारी किया है। इस नोटिस में कहा गया कि ट्विटर जाँच में सहयोग नहीं कर रहा है और उसके द्वारा दिया गया स्पष्टीकरण औचित्य पूर्ण नहीं है।

‘उनके हाथ पहले ही खून से सने थे, अब महिलाओं पर अत्याचार के दाग भी हैं दामन पर’: स्मृति ईरानी ने ममता पर साधा...

“मैं हमारे लोकतंत्र में पहली बार देख रही हूँ कि शायद सीएम लोगों को मरते हुए देख रही हैं क्योंकि उन्होंने उन्हें वोट नहीं दिया था।"

टीनएज में सेक्स, पोर्न, शराब, वन नाइट स्टैंड, प्रेग्नेंसी… अनुराग कश्यप ने बेटी को कहा- जैसी तुम्हारी मर्जी

ब्वॉयफ्रेंड के साथ सोने के सवाल पर अनुराग ने कहा, "यह तुम्हारा अपना डिसीजन है कि तुम किसके साथ रहती हो। मैं केवल इतना चाहता हूँ कि तुम सेफ रहो।"

प्रचलित ख़बरें

टीनएज में सेक्स, पोर्न, शराब, वन नाइट स्टैंड, प्रेग्नेंसी… अनुराग कश्यप ने बेटी को कहा- जैसी तुम्हारी मर्जी

ब्वॉयफ्रेंड के साथ सोने के सवाल पर अनुराग ने कहा, "यह तुम्हारा अपना डिसीजन है कि तुम किसके साथ रहती हो। मैं केवल इतना चाहता हूँ कि तुम सेफ रहो।"

वो ब्राह्मण राजा, जिनका सिर कलम कर दिया गया: जिन मुस्लिमों को शरण दी, उन्होंने ही अरब से युद्ध में दिया धोखा

राजा दाहिर ने जब कई दिनों तक शरण देने की एवज में खलीफा के उन दुश्मनों से मदद माँगी, तो उन्होंने कहा, "हम आपके आभारी हैं, लेकिन हम इस्लाम की फौज के खिलाफ तलवार नहीं उठा सकते। हम जा रहे हैं।"

70 साल का मौलाना, नाम: मुफ्ती अजीजुर रहमान; मदरसे के बच्चे से सेक्स: Video वायरल होने पर केस

पीड़ित छात्र का कहना है कि परीक्षा में पास करने के नाम पर तीन साल से हर जुम्मे को मुफ्ती उसके साथ सेक्स कर रहा था।

‘एक दिन में मात्र 81 लाख लोगों को वैक्सीन? बेहद खराब!’: रवीश कुमार के लिए पानी पर चलने वाले कुत्ते की कहानी

'पोलियो रविवार' के दिन मोदी सरकार ने 9.1 करोड़ बच्चों को वैक्सीन लगाई। रवीश 2012 के रिकॉर्ड की बात कर रहे। 1950 में पहला पोलियो वैक्सीन आया, 62 साल बाद बने रिकॉर्ड की तुलना 6 महीने बाद बने रिकॉर्ड से?

‘पापा को क्यों जलाया’: मुकेश के 9 साल के बेटे ने पंचायत को सुनाया दर्द, टिकैत ने दी ‘इलाज’ करने की धमकी

BKU के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार मानने वाली नहीं है, इसीलिए 'इलाज' करना पड़ेगा। टिकैत ने किसानों को अपने-अपने ट्रैक्टरों के साथ तैयार रहने की भी सलाह दी।

राम मंदिर वाले चंपत राय पर अभद्र टिप्पणी, फर्जी दस्तावेज शेयर किए: पूर्व एंकर, महिला समेत 3 पर FIR

फेसबुक पोस्ट में गाली-गलौज की भाषा का भी उपयोग किया गया था और साथ ही हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुँचाने वाली बातें थीं। आरोपितों में एक महिला भी शामिल है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
105,302FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe