Friday, June 21, 2024
Homeरिपोर्टमीडिया'अब आइसक्रीम नहीं धूल खाएँगे': सचिन वाजे के तलोजा जेल पहुँचने पर अर्नब गोस्वामी...

‘अब आइसक्रीम नहीं धूल खाएँगे’: सचिन वाजे के तलोजा जेल पहुँचने पर अर्नब गोस्वामी ने साधा बरखा दत्त पर निशाना

"जिस रात मुझे गिरफ्तार किया गया था और मेरा परिवार भरी हुई AK-47 के साथ घिरा हुआ था, एक पत्रकार, कोट-अनकोट, मैं उसे पत्रकार नहीं कहूँगा, भारत में हाफिज सईद की पसंदीदा ने कथिततौर पर कहा था कि वह आइसक्रीम खाकर इस रात का जश्न मनाना चाहती हैं। आज वो आइसक्रीम नहीं खाएँगी। अब वह धूल खाएँगे।"

मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाजे को तलोजा जेल भेजे जाने के बाद रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी ने अपने प्राइम टाइम में बरखा दत्त को एक विशेष संदेश दिया।

शो में बिना कोई नाम लिए गोस्वामी ने बरखा दत्त को पिछले साल उनके साथ हुई उस घटना पर जश्न मनाने के लिए लताड़ा, जब मुंबई पुलिस ने गोस्वामी को उनके घर से ले जाकर जेल में प्रताड़ित किया था।

शुक्रवार के प्राइम टाइम में अर्नब लुटियन पत्रकारों और मीडिया संस्थानों पर बरसे। डिबेट के 46 मिनट 19 सेकेंड के स्लॉट पर अर्नब ने सीधे बरखा दत्ता को उनकी अवैध गिरफ्तारी पर जश्न मनाने और सचिन वाजे जैसे भ्रष्ट अधिकारी के कुकर्मों का महिमामंडन करने के लिए लताड़ा।

गोस्वामी ने कहा, “जिस रात मुझे गिरफ्तार किया गया था और मेरा परिवार भरी हुई AK-47 के साथ घिरा हुआ था, एक पत्रकार, कोट-अनकोट, मैं उसे पत्रकार नहीं कहूँगा, भारत में हाफिज सईद की पसंदीदा ने कथिततौर पर कहा था कि वह आइसक्रीम खाकर इस रात का जश्न मनाना चाहती हैं। आज वो आइसक्रीम नहीं खाएँगी। अब वह धूल खाएँगे।”

अर्नब ने आगे कहा, “मेरे टारगेट कई हैं, तब मीडिया का दुरुपयोग नहीं किया गया था, उन्होंने  मेरे खिलाफ साजिश रची थी। मेरे हाथ बहुत सबूत लगे हैं और मैं समय आने पर नाम लूँगा।”

अर्नब की गिरफ्तारी पर बरखा को खानी थी आइसक्रीम

गौरतलब है कि 4 नवंबर 2020 को जब अर्नब को 40 मुंबई पुलिसकर्मी उनके घर से खींचकर अपने साथ ले गए थे, उस समय बरखा दत्त ने आइसक्रीम खाने की बात अपने ट्विटर पर लिखी थी। आज उसी ट्वीट के जवाब में अर्नब ने अपना संदेश दिया है।

मालूम हो कि बरखा दत्त की फैन फॉलोइंग आतंकियों में भी हैं। उन्हें लश्कर ए तैयबा का हाफिज सईद फॉलो करता है। एक इंटरव्यू में सईद ने बरखा को सराहते हुए कहा था, “भारत में बरखा दत्त जैसे लोग भी मौजूद, बहुत अच्छी बात करने वाले भी मौजूद हैं।”

याद दिला दें कि पिछले साल 4 नवंबर 2020 को अर्नब गोस्वामी को बिना समन जारी किए घर से जबरदस्ती उठाया गया था। कुछ पुलिस अधिकारियों ने उन्हें उस दौरान उनके साथ मारपीट करते हुए उन्हें गिरफ्तार किया था। बाद में उन्हें अलीबाग के क्वारंटाइन सेंटर ले जाया गया और फिर तलोजा जेल शिफ्ट कर दिया गया। गोस्वामी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को लीड सचिन वाजे ने किया था, जो अब खुद एंटीलिया केस में तलोजा जेल में बंद है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हलाल प्रोडक्ट का विरोध करने के कारण हम निशाने पर’: जिस चोर औरंगजेब की मौत को ‘मॉब लिंचिंग’ बता बवाली हुए मुस्लिम, उसकी सच्चाई...

औरंगजेब केस में अलीगढ़ के व्यापारियों ने भाजपा सांसद को ज्ञापन देकर कहा है कि हलाल प्रोडक्ट का बहिष्कार करने के बाद से वो लोग निशाने पर हैं।

लगातार तीसरी बार नरेंद्र मोदी बने हैं PM, पर ‘पत्रकार’ बिल मेर लोकसभा चुनावों में ‘बड़ी हार’ बता अमेरिकी दर्शकों को बना रहा पोपट

बिल मेर ने दावा किया कि भारत में लोगों ने 'दक्षिणपंथी राजनीति' को अस्वीकार कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -