Saturday, July 13, 2024
Homeरिपोर्टमीडियासरकार लाएगी इंटरनेशनल चैनल, भारत का दृष्टिकोण रखने में मिलेगी मदद, विदेशी मीडिया के...

सरकार लाएगी इंटरनेशनल चैनल, भारत का दृष्टिकोण रखने में मिलेगी मदद, विदेशी मीडिया के ‘प्रोपेगेंडा’ की होगी काट

प्रसार भारती बोर्ड ने अपनी पिछली बैठक (मार्च) में एक उपयुक्त रणनीति सलाहकार को शामिल करके इसके लिए एक परियोजना रोडमैप विकसित करने की अनुमति दी थी।

नेशनल ब्रॉडकास्टर दूरदर्शन ने एक इंटरनेशनल चैनल लॉन्च करने का फैसला किया है। सरकार ने ये कदम कोविड की दूसरी लहर के दौरान कई बड़े अंतराराष्ट्रीय मीडिया संस्थानों द्वारा भारत के बारे में नकारात्मक और भ्रामक खबरें प्रकाशिक करने के बाद उठाया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दूरदर्शन ने पिछले हफ्ते डीडी इंटरनेशनल के लिए एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (ईओआई) जारी किया, जिसमें निजी कंपनियों से नए चैनल के लिए एक विस्तृत परियोजना रिपोर्ट का मसौदा तैयार करने के लिए टिप्पणियां माँगी गईं। परियोजनाओं पर अंतरराष्ट्रीय प्रसारकों/मीडिया घरानों को सलाह देने के अनुभव के साथ प्रतिष्ठित वैश्विक सलाहकारों से बोलियां आमंत्रित की गईं।

डीडी इंटरनेशनल की 24×7 वर्ल्ड सर्विस शुरू करने की योजना

प्रसार भारती के सीईओ एस. एस. वेम्पति ने कहा कि इस तरह की एक परियोजना पिछले कुछ समय से चल रही थी। उन्होंने कहा, “दूरदर्शन के लिए अंतरराष्ट्रीय उपस्थिति स्थापित करना लंबे समय से लंबित रणनीतिक उद्देश्य रहा है। प्रसार भारती बोर्ड ने अपनी पिछली बैठक (मार्च) में एक उपयुक्त रणनीति सलाहकार को शामिल करके इसके लिए एक परियोजना रोडमैप विकसित करने की अनुमति दी थी। यह ईओआई उसी दिशा में एक कदम है।’

डीडी इंटरनेशनल के तहत वैश्विक स्तर पर ब्यूरो स्थापित किए जाएंगे जिनकी वर्ल्ड सर्विस स्ट्रीमिंग चौबीसों घंटे होंगी।

क्या यह बीबीसी या अलजजीरा जैसे चैनलों के भारतीय वर्जन की तरह होगा? इस पर वेम्पति ने कहा कि “अभी यह बीबीसी वर्ल्ड सर्विस की तरह समाचार पर अधिक आधारित होगा” लेकिन बाद में यह “विकसित” हो सकता है क्योंकि भारत में बहुत से अंतर्राष्ट्रीय हित सांस्कृतिक हैं।

हालाँकि, लगभग एक दशक से इस परियोजना के विभिन्न पदों से जुड़े रहे एक अधिकारी ने बताया किया यह विचार 10 वर्षों से अधिक समय से अस्तित्व में है, और “हर बार जब प्रसार भारती के नेतृत्व में बदलाव होता है, तो कुछ कार्रवाई होती है।” अधिकारी ने कहा कि जब दूरदर्शन इंडिया को अंग्रेजी चैनल बनाया गया था, तब चर्चा हुई थी कि इसे “एक अंतरराष्ट्रीय चैनल बनाया जाएगा”। लेकिन दूरदर्शन समाचार के केवल अंग्रेजी संस्करण को दिखाने से इसने कंटेंट के “डुप्लीकेशन” को ही जन्म दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -