Wednesday, May 25, 2022
Homeरिपोर्टमीडियाअमन चोपड़ा की गिरफ़्तारी पर जोधपुर HC ने लगाई रोक, राजस्थान पुलिस को बड़ा...

अमन चोपड़ा की गिरफ़्तारी पर जोधपुर HC ने लगाई रोक, राजस्थान पुलिस को बड़ा झटका: मंदिरों पर चले बुलडोजर तो किया था शो

हाई कोर्ट ने यह आदेश अमन चोपड़ा पर डूंगरपुर के बिछवाड़ा थाने में दर्ज एफआईआर के खिलाफ पेश की गई याचिका पर पर सुनवाई के बाद दिया है। बता दें कि उनके खिलाफ राजस्थान में धार्मिक भावनाएँ भड़काने का मामला दर्ज किया गया है।

‘न्यूज 18’ के पत्रकार अमन चोपड़ा (Aman Chopra) को राजस्थान के जोधपुर हाई कोर्ट ने बड़ी राहत देते हुए उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। अब कोर्ट इस मामले पर आगे की सुनवाई बुधवार (11 मई, 2022) को करेगा। कोर्ट ने कहा कि अगले आदेश तक अमन चोपड़ा की गिरफ्तारी नहीं हो सकती। 

हाई कोर्ट ने यह आदेश अमन चोपड़ा पर डूंगरपुर के बिछवाड़ा थाने में दर्ज एफआईआर के खिलाफ पेश की गई याचिका पर पर सुनवाई के बाद दिया है। बता दें कि उनके खिलाफ राजस्थान में धार्मिक भावनाएँ भड़काने का मामला दर्ज किया गया है। राजस्थान के अलवर में जिस तरह से मंदिरों पर बुलडोजर चलाया गया और प्रतिमाएँ फेंक दी गईं, उस पर शो करने के कारण उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया है। शिकायत में कहा गया कि अमन चोपड़ा ने अपने शो में झूठ और काल्पनिक जानकारी देकर यह साबित करना चाहा था कि अलवर में जो मंदिर गिराया गया, उसके पीछे राज्य सरकार का हाथ था और ऐसा जहाँगीरपुरी हिंसा का बदला लेने के लिए किया गया था।

कोर्ट में बहस के दौरान चोपड़ा पर लगाई धाराओं के मामले में उनके वकील ने पक्ष रखते हुए कहा कि उनकी तरफ से किसी प्रकार से कोई देशद्रोह नहीं किया गया। वह केवल एक डिबेट प्रोग्राम था, न कि कोई सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ाने की प्रेरणा थी। सुनवाई के दौरान सभी धाराओं को चुनौती देते हुए एक-एक धारा पर पूरी तरीके से बहस हुई।

इस दौरान कोर्ट ने कहा कि वह इस शो को देखने के बाद ही अंतिम फैसले पर पहुँचेंगे। इसलिए कोर्ट के अगले आदेश तक अमन चोपड़ा को गिरफ्तार न किया जाए। कोर्ट मामले में बुधवार को अपना फैसला देगी।

बता दें कि अमन चोपड़ा के प्रोग्राम को लेकर उनके खिलाफ लेकर तीन अलग-अलग जिलों में एफआईआर दर्ज की गई थी। ये एफआईआर अलवर के कोतवाली, बूंदी के सदर और डूंगरपुर के बिछवाड़ा थाने में दर्ज की गई थी। इनमें अलवर और बूंदी थाने में दर्ज एफआईआर के खिलाफ पेश याचिका पर सुनवाई करते हुए जयपुर बेंच कोर्ट ने अमन चोपड़ा को राहत देते हुए अग्रिम आदेश तक पहले ही गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी। अब तीसरी एफआईआर में भी अमन चोपड़ा को राहत मिल गई है।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान पुलिस रविवार (8 मई 2022) को अमन चोपड़ा को गिरफ्तार करने नोएडा पहुँची थी। इससे पहले शनिवार (7 मई 2022) को राजस्थान पुलिस उस सोसाइटी में घुस गई, जहाँ अमन चोपड़ा रहते हैं और उनके दरवाजे पर वॉरंट चिपका दिया। ये सब तब हुआ, जब राजस्थान उच्च-न्यायालय ने ‘न्यूज़ 18’ के एडिटर अमन चोपड़ा के खिलाफ कोई भी कार्रवाई करने से पुलिस को रोक रखा था। उनके घर के दरवाजे पर गिरफ़्तारी का वॉरंट चिपकाने के बाद राजस्थान पुलिस को यूपी पुलिस थाने लेकर गई। इस दौरान अमन चोपड़ा के घर का ताला बंद था।

इससे पहले राजस्थान पुलिस ने ‘न्यूज़ 18’ के दफ्तर में जाकर भी इस तरह की हरकतें की थीं और बाद में बयान दिया था कि अमन चोपड़ा उन्हें नहीं मिले। उनके खिलाफ राजस्थान में धार्मिक भावनाएँ भड़काने का मामला दर्ज किया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिम छात्रों के झूठे आरोपों पर अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी ने किया निलंबित’: हिन्दू छात्र का आरोप – मिली धर्म ने समझौता न करने की...

तिवारी और उनके दोस्तों को कॉलेज में सार्वजनिक रूप से संघी, भाजपा के प्रवक्ता और भाजपा आईटी सेल का सदस्य कहा जाता था।

आतंकी यासीन मलिक को उम्रकैद: टेरर फंडिग में सजा के बाद बजे ढोल, श्रीनगर में कट्टरपंथियों ने की पत्थरबाजी

कश्मीर में कश्मीरी हिंदुओं के नरसंहार के आरोपित यासीन मलिक को टेरर फंडिंग केस में 25 मई को सजा मुकर्रर हुई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,731FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe