Sunday, June 23, 2024
Homeरिपोर्टमीडियापत्रकार और सपा नेता मो. कतील शेख ने नौकरी का झाँसा देकर किया रेप,...

पत्रकार और सपा नेता मो. कतील शेख ने नौकरी का झाँसा देकर किया रेप, शादीशुदा और दो बच्चों का बाप भी है

कतील सपा शासनकाल में राज्य मुख्यालय से मान्यता प्राप्त पत्रकार बना था। वो लखनऊ के पॉश इलाके में विधायक निवास में सरकारी मकान भी अलॉट करवाया हुआ है। आरोपित की पहली पत्नी हिंदू है, जिससे उसके दो बच्चे हैं।

उत्तर प्रदेश के एक पत्रकार को 24 साल की एक लड़की से बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पत्रकार की पहचान मो. कतील शेख के रूप में हुई है। कतील पर आरोप है कि उसने एक लड़की को पत्रकारिता जगत में अच्छी नौकरी दिलाने के बहाने कई बार अपने पास बुलाया। फिर, एक दिन कॉफी में नशीला पदार्थ देकर उसका रेप कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, प्रभारी निरीक्षक धीरज कुमार ने बताया कि शनिवार देर रात आरोपित के ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया गया है। चिनहट इलाके की रहने वाली 24 वर्षीय युवती ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि 1 साल पहले वह नौकरी की तलाश में विनीतखंड निवासी मो. कतील के घर गई थी। जहाँ कतील ने उसे नौकरी दिलाने की बात कही और इसी कारण दोनों के बीच आगे बातें शुरू हो गईं।

युवती का आरोप है कि बातचीत शुरू होने के करीब चार दिन बाद क़तील ने उसे घर बुलाया और कॉफी पिलाई। कॉफी पीते ही उसे कुछ होश नहीं रहा। जब होश में आई तो कपड़े अस्त-व्यस्त थे। लड़की के मुताबिक, उसने जब इस मामले में पुलिस से शिकायत करने की बात कही तो वह माफी माँगने लगा और उसे शादी का झाँसा देकर चुप करवा दिया। इसके बाद वह अक्सर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाता।

पीड़िता की मानें तो एक दिन उसने जब कतील से उसकी पत्नी और बच्चों के बारे में सवाल किया तो पत्रकार ने अपने रुतबे का प्रभाव दिखाकर उसे जान से मारने की धमकी दे दी। इसी के बाद लड़की पुलिस थाने पहुँची और तहरीर दी। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज करके पड़ताल शुरू कर दी है।

अभी तक की जाँच में पता चला है कि पत्रकार कतील ने न केवल मान्यता प्राप्त पत्रकार का दर्जा ले रखा है बल्कि लखनऊ के पॉश इलाके में विधायक निवास में सरकारी मकान भी अलॉट करवाया हुआ है। पुलिस का कहना है कि आरोपित की पहली पत्नी भी हिंदू है, जिससे उसके दो बच्चे हैं।

सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल उमरांव ने भी इस मामले पर ट्वीट किया है। उनका दावा है कि कतील सपा शासनकाल में राज्य मुख्यालय से मान्यता प्राप्त पत्रकार बने थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -