Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाNDTV पत्रकार की दलील: स्कूली छात्रों को CAA के बारे में बताना राजनीति है,...

NDTV पत्रकार की दलील: स्कूली छात्रों को CAA के बारे में बताना राजनीति है, क्योंकि इसे बड़े लोग नहीं समझ सके

NDTV के पत्रकार के मुताबिक नए संशोधित कानून के बारे में बात करना, जागरूकता फैलाना राजनीति है। शायद उन्हें ये डर सता रही होगी कि यदि लोगों को CAA के बारे में सही-सही जानकारी मिल जाएगी तो फिर वो अपना प्रोपेगेंडा कैसे फैलाएँगे?

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर अभी भी लोगों के बीच असमंजस है और यही वजह है कि इसको लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी लोगों के बीच इस नए संशोधित कानून को लेकर जारूकता फैलाने का काम कर रही है। इसको लेकर कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जिसमें लोगों को CAA के बारे में विस्तार से समझाया जा रहा है।

मगर NDTV को बीजेपी का इस तरह से लोगों के बीच जा-जाकर नागरिकता संशोधन कानून के बारे में समझाना रास नहीं आ रहा है। इसी कड़ी में जब मुंबई में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन को लेकर प्रोग्राम किया गया और उसमें स्कूल के छात्रों को ले जाया गया तो NDTV ने इस पर सवाल खड़े कर दिए। NDTV के पत्रकार सोहित राकेश मिश्रा ने इस पर सवाल उठाते हुए कहा कि स्कूल में छात्रों को नागरिकता कानून के बारे में बताना राजनीति है, क्योंकि इसे अभी तक बड़े लोग नहीं समझ सके हैं।

उन्होंने बीजेपी नेता किरीट सोमैया से सवाल करते हुए कहा कि क्या आपको नहीं लगता है कि जब बड़े लोग इस कानून को नहीं समझ पा रहे हैं तो फिर बच्चों को इसके बारे में बताना गंदी राजनीति है। हालाँकि, किरीट सोमैया ने इनके बेतुके सा सवाल का जवाब देना मुनासिब नहीं समझा और कहा कि उन्होंने पहले ही इसके बारे में बता दिया है। NDTV के पत्रकार का कहना है कि चूँकि बड़े लोग इसे समझ नहीं पा रहे हैं, इसलिए स्कूल के छात्रों को इसके बारे में बताना गलत है।

इस दौरान NDTV के पत्रकार ने आदित्य ठाकरे के ट्वीट का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि अगर आपको छात्रों से बात करना है तो पर्यावरण पर बात कीजिए, हेलमेट पर बात कीजिए, प्लास्टिक का इस्तेमाल कैसे करें… इस पर बात करें। CAA पर बात करके आप राजनीति कर रहे हैं।

यानी कि NDTV के पत्रकार के मुताबिक नए संशोधित कानून के बारे में बात करना, जागरूकता फैलाना राजनीति है। शायद उन्हें ये डर सता रही होगी कि यदि लोगों को CAA के बारे में सही-सही जानकारी मिल जाएगी तो फिर वो अपना प्रोपेगेंडा कैसे फैलाएँगे? वहीं मुंबई की उद्धव ठाकरे की सरकार ने CAA प्रोग्राम को लेकर स्कूल के खिलाफ नोटिस भेज दिया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पश्चिम बंगाल में दुर्गा विसर्जन से लौट रहे श्रद्धालुओं पर बम से हमला, कई घायल, पुलिस ने कहा – ‘हमलावरों की अभी तक पहचान...

हमलावर मौके से फरार हो गए। सूचना पाकर पहुँची पुलिस ने लोगों की भीड़ को हटाकर मामला शांत किया और घायलों को अस्पताल भेजा।

राहुल गाँधी सहित सभी कॉन्ग्रेसियों ने दम भर खाया, 2 साल से नहीं दे रहे 35 लाख रुपए: कैटरिंग मालिक ने दी आत्महत्या की...

कैटरिंग मालिक खंडेलवाल का आरोप है कि उन्हें 71 लाख रुपए का ठेका दिया गया था। 36 लाख रुपए का भुगतान कर दिया गया है जबकि 35 लाख रुपए...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe