Monday, June 24, 2024
Homeरिपोर्टमीडियाNDTV अजित पवार पर Odd-Even मोड में: हटाए 'भ्रष्टाचारी' और 'दागी' जैसे शब्द

NDTV अजित पवार पर Odd-Even मोड में: हटाए ‘भ्रष्टाचारी’ और ‘दागी’ जैसे शब्द

एनडीटीवी अजित पवार को लेकर Odd-Even मोड में चल रहा है। जब वो भाजपा के साथ रहें तो 'भ्रस्टाचारी एनसीपी नेता' और जब भाजपा के विरुद्ध रहें तो सीधा 'एनसीपी नेता'।

अजित पवार को लेकर एनडीटीवी काफ़ी दुविधा में दिख रहा है। दरअसल, उनका इतिहास ही ऐसा है कि एनडीटीवी एकमत पर पहुँच नहीं पा रहा क्योंकि उसकी हैडलाइन इस आधार पर बनाई जाती है कि वो भाजपा के साथ हैं, या फिर भाजपा के विरुद्ध। पहले वो कॉन्ग्रेस की सरकार में उप-मुख्यमंत्री रह चुके हैं। हाल ही में उन्होंने देवेंद्र फडणवीस को समर्थन देकर उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। हालाँकि, फडणवीस ने बहुमत न होने के कारण इस्तीफा दे दिया था। अब एनसीपी ने शिवसेना को समर्थन दिया है, जिसमें अजित पवार फिर से उप-मुख्यमंत्री बने हैं।

जब अजित पवार ने भाजपा की सरकार में उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, तब एनडीटीवी ने उन्हें ‘भ्रष्टाचारी और दागी नेता’ बताया था। वहीं सोमवार (दिसंबर 30, 2019) को जब अजित पवार ने ठाकरे सरकार में उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, तब एनडीटीवी ने ‘भ्रष्टाचारी’ और ‘दागी’ जैसे शब्दों को हटा दिया। अब वो सीधा ‘एनसीपी नेता अजित पवार’ हो गए हैं। अर्थात, एनडीटीवी अजित पवार को लेकर Odd-Even मोड में चल रहा है। जब वो भाजपा के साथ रहें तो ‘भ्रस्टाचारी एनसीपी नेता’ और जब भाजपा के विरुद्ध रहें तो सीधा ‘एनसीपी नेता’।

जब अजित पवार के उप-मुख्यमंत्री बनने की सम्भावना जताई जा रही थी, तब एनडीटीवी ने लगातार उन्हें ‘एनसीपी के अजित पवार’ लिख कर सम्बोधित किया। भाजपा के साथ जाने पर उनके लिए जिन शब्दों का प्रयोग किया गया था, वैसे किसी भी शब्द से बचा गया। इससे पहले एनडीटीवी ने अजित पवार को लेकर फेक न्यूज़ भी चलाई थी, जिसमें कहा गया था कि उन्हें इरीगेशन स्कैम से जुड़े सभी मामलों में क्लीन चिट दे दी गई है। जबकि सच्चाई ये थी कि जिन मामलों को बंद किया गया था, उनमें से कोई भी अजित पवार से जुड़ा नहीं था।

आज उद्धव ठाकरे मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ, जिसमें उद्धव ठाकरे को उप-मुख़्यमंत्री बनाया गया। उद्धव के बेटे और युवा सेना के सुप्रीमो आदित्य ठाकरे को भी मंत्रिमंडल में जगह दी गई। कॉन्ग्रेस की तरफ से अमित देशमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण मंत्री बने। पिछली कॉन्ग्रेस सरकार में भी मंत्री रह चुके अमित दिवंगत कॉन्ग्रेस नेता विलासराव देशमुख के बेटे हैं। उनके भाई रितेश देशमुख फ़िल्मों में सक्रिय हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

चर्च में फायरिंग, यहूदियों के धर्मस्थल को जलाया, पादरी का काटा गला: आतंकी हमले में रूस के 15 पुलिसकर्मियों की मौत, 6 आतंकवादी भी...

रूस में हुए आतंकी हमले में 15 से ज्यादा पुलिसकर्मियों की मौत हो गई, पादरी का सिर कलम कर दिया गया और 25 से ज्यादा घायल बताए जा रहे हैं।

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -