Tuesday, January 18, 2022
Homeरिपोर्टमीडियाNews18 ने माँगी माफी: CM योगी के कोविड और ऑक्सीजन संकट पर दिए बयान...

News18 ने माँगी माफी: CM योगी के कोविड और ऑक्सीजन संकट पर दिए बयान पर चलाया था गलत ग्राफिक

“गलत ग्राफिक्स चलने पर हमें खेद है। कल सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि जहाँ तक ऑक्सीजन की कमी की बात है यूपी में ऑक्सीजन की कमी ना के बराबर है। पर जल्दबाजी में टाइपिंग गलती से ग्राफिक्स में चल गया कि यूपी में कोविड केस ना के बराबर है। इस गलती पर हमें खेद है।”

न्यूज 18 उत्तर प्रदेश ने कल (अप्रैल 26, 2021) सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान को गलत ग्राफिक्स के साथ दिखाने के लिए माफी माँगी है। चैनल ने अपनी गलती के लिए ट्वीट करके माफी माँगी है।

न्यूज 18 उत्तर प्रदेश ने ट्वीट करते हुए लिखा, “गलत ग्राफिक्स चलने पर हमें खेद है। कल सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि जहाँ तक ऑक्सीजन की कमी की बात है यूपी में ऑक्सीजन की कमी ना के बराबर है। पर जल्दबाजी में टाइपिंग गलती से ग्राफिक्स में चल गया कि यूपी में कोविड केस ना के बराबर है। इस गलती पर हमें खेद है।”

मेनस्ट्रीम के हिंदी चैनल ने उत्तर प्रदेश में मेडिकल ऑक्सीजन सप्लाई के बारे में अपडेट देते हुए सीएम के बयान को गलत तरीके से पेश किया। संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को यह कहते हुए सुना गया कि राज्य में ऑक्सीजन की कमी ना के बराबर है, जबकि चैनल ने अपनी ग्राफिक्स में चलाया कि यूपी में कोरोना के मामले ना के बराबर हैं। 

सीएम के बयान को गलत तरीके से पेश करता न्यूज 18 का ग्राफिक

सीएम योगी का यह संबोधन राज्य को कोविड-19 महामारी की वर्तमान स्थिति और निपटने के तरीके से अपडेट कराने को लेकर था। राज्य में नए मामलों की कमी के बारे में बताते हुए उन्होंने राज्य को आश्वासन दिया कि बेड, मेडिकल ऑक्सीजन और चिकित्सा आपूर्ति में कोई कमी नहीं होगी। उन्होंने लोगों से यह भी आग्रह किया कि वे पैनिक और आपदा के कारण भयभीत न हों।

पिछले सप्ताह विभिन्न समाचार पत्रों के संपादकों के साथ हुई वर्चुअल बातचीत में, सीएम ने कालाबाजारी और लोगों के बीच व्याप्त भय पर प्रकाश डाला और कहा, “किसी भी COVID अस्पताल में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है, चाहे वह निजी हो या सरकारी। समस्या कालाबाजारी और जमाखोरी है, जिससे जल्द ही निपट लिया जाएगा। हम ऑक्सीजन की उचित निगरानी के लिए IIT कानपुर, IIM लखनऊ और IIT BHU के साथ मिलकर एक ऑक्सीजन ऑडिट करेंगे। ऑक्सीजन की माँग, आपूर्ति और वितरण के लाइव ट्रैकिंग की व्यवस्था लागू की जाएगी।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जब 5 मिनट तक फ्लाइंग किस देते रहे थे भगवंत मान, बार-बार गिर रहे थे: AAP ने बनाया चेहरा तो बोले लोग – ‘उड़ते...

ट्विटर पर यूजर्स उन्हें 'पेगवंत मान' कहकर संबोधित कर रहे हैं और केजरीवाल के फैसले को गलत ठहरा रहे हैं।

भारत का कीमती ‘लाल सोना’, जिसके इर्दगिर्द घूमती है ‘पुष्पा’: 2021 में इसकी ₹508 Cr की लकड़ियाँ जब्त हुईं, चीन भी दीवाना

अल्लू अर्जुन की फिल्म 'पुष्पा' की कहानी 'रक्त चन्दन' की तस्करी के इर्दगिर्द घूमती है। आपको बताते हैं कि ये है क्या और क्यों इतना महँगा बिकता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,996FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe