Thursday, September 23, 2021
Homeरिपोर्टमीडियाकट्टरपंथ की आग में भभक रही थी दिल्ली: सरदेसाई ट्विटर पर परोस रहे...

कट्टरपंथ की आग में भभक रही थी दिल्ली: सरदेसाई ट्विटर पर परोस रहे थे बच्चों के लिए झूठ, CBSE ने खोली पोल

सोशल मीडिया पर केवल राजदीप सरदेसाई ही नहीं बल्कि उनकी लिबरल गैंग के बहुत से पत्रकार कल रात सोशल मीडिया पर सक्रिय रहे और इस नैरेटिव को गढ़ने का प्रयास करते रहे कि ये पूरी हिंसा भाजपा नेताओं के कारण और सीएए समर्थकों के कारण हुई है।

फर्जी समाचार फैलाने के लिए पहचाने जाने वाले राजदीप सरदेसाई दिल्ली के तनावपूर्ण माहौल में भी सोशल मीडिया पर झूठ परोसने से बाज नहीं आए। दरअसल, सोमवार की देर रात सोशल मीडिया पर राजदीप ने सूचना डाली कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसक सीएए विरोध प्रदर्शनों के कारण सीबीएससी के एग्जाम नहीं होंगे।

हालाँकि, कुछ ही क्षणों में उनके इस झूठ का पर्दाफाश खुद सीबीएसई हेडक्वार्टर ने कर दिया। सीबीएसई हेडक्वार्टर ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए आदरपूर्वक सरदेसाई को जवाब दिया कि जिस एरिया में वो सीबीएसई के एग्जाम न होने की बात कह रहे हैं, वहाँ तो कल (यानी आज) के लिए कोई एग्जाम सेंटर निर्धारित ही नहीं हैं।

CBSE HQ ने लिखा, “सर, कल सीबीएसई परीक्षा के लिए पूर्वोत्तर दिल्ली में कोई परीक्षा केंद्र नहीं हैं।”

Rajdeep Sardesai shares misleading info about CBSE exams in Delhi

अब आखिर जब सरेआम राजदीप सरदेसाई के झूठ से पर्दा उठ गया, तो राजदीप ने बड़ी शालीनता से सीबीएससी को धन्यवाद दिया और अपनी सफाई पेश की कि तथ्य तो यह है कि इलाकों में कल (यानी आज) स्कूल बंद रहेंगे। साथ ही अपनी विश्वसनीयता को बरकरार रखने के लिए उन्होंने दिल्ली के शिक्षा मंत्री मंनीष सिसोदिया का ट्वीट भी रीट्वीट किया।

गौरतलब है कि अपने इस फर्जी सूचना वाले ट्वीट में राजदीप ने केवल छात्र-छात्राओं और उनके अभिभावकों को ही भ्रमित नहीं किया। बल्कि ये भी बताना चाहा कि स्थानीय नेता और अपराधिक गैंग मिलकर हिंसा कर रहे हैं, जिससे नागरिक प्रताड़ित हो रहे हैं। उन्होंने सरकार के ख़िलाफ़ निशाना साधते हुए पूछा कि क्या इनके ख़िलाफ़ एक्शन लिया जाएगा?

बता दें, सोशल मीडिया पर केवल राजदीप सरदेसाई ही नहीं बल्कि उनकी लिबरल गैंग के बहुत से पत्रकार कल रात सोशल मीडिया पर सक्रिय रहे और इस नैरेटिव को गढ़ने का प्रयास करते रहे कि ये पूरी हिंसा भाजपा नेताओं के कारण और सीएए समर्थकों के कारण हुई है। जिन्होंने भगवे झंडे लेकर पत्थरबाजी और आगजनी की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,821FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe