Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षामहाराष्ट्र के गढ़चिरौली में C-60 कमांडो के साथ मुठभेड़ में शीर्ष कमांडर सहित 26...

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में C-60 कमांडो के साथ मुठभेड़ में शीर्ष कमांडर सहित 26 नक्सली ढेर, 4 पुलिसकर्मी भी जख्मी

पुलिस को सूचना मिली थी कि जिले के कोरची तालुके के ग्यारहबत्ती कोटगुल इलाके के जंगलों में नक्सलियों ने शिविर लगाए हैं। सूचना मिलते ही एएसपी सौम्या मुंडे के नेतृत्व में पुलिस की C-60 कमांडो टीम को तलाशी अभियान के लिए भेज दिया गया।

देश की सुरक्षा और शांति में बाधा बने नक्सलियों के सफाये का काम प्राथमिकता के आधार पर जारी है। महाराष्ट्र पुलिस ने शनिवार (13 नवंबर) को गढ़चिरौली के जंगलों में 26 नक्सलियों को मार गिराया है। इस ऑपरेशन में पुलिस के 4 जवान भी घायल हो गए हैं, जिन्हें इलाज के लिए नागपुर भेजा गया है। कहा जा रहा है कि मारे गए नक्सलियों में एक शीर्ष कमांडर भी शामिल है। महाराष्ट्र पुलिस के नक्सल रोधी स्पेशल स्क्वॉयड C-60 कमांडो दस्ते ने इस ऑपरेशन को अंजाम दिया।

गढ़चिरौली के एसपी अंकित गोयल ने इस ऑपरेशन के बारे में जानकारी दी। गोयल ने बताया कि मुठभेड़ सुबह 7 बजे मर्दिनटोला वन क्षेत्र के कोरची में हुई। ऑपरेशन को अंजाम देने वाली C-60 पुलिस कमांडो का नेतृत्व एएसपी सौम्या मुंडे कर रही थी। मुंडे के नेतृत्व में तलाशी अभियान चला रही थी। मारे गए नक्सलियों की पहचान को अभी उजागर नहीं किया गया है। कहा जा रहा है कि मारे गए नक्सलियों में एक शीर्ष कमांडर भी शामिल है।

दरअसल, पुलिस को सूचना मिली थी कि जिले के कोरची तालुके के ग्यारहबत्ती कोटगुल इलाके के जंगलों में नक्सलियों ने शिविर लगाए हैं। सूचना मिलते ही पुलिस की C-60 टीम को तलाशी अभियान के लिए भेज दिया गया। इसके बाद पुलिस की कमांडो टीम एएसपी सौम्या मुंडे के नेतृत्व में घने जंगलों में नक्सलियों की टोह के लिए निकल पड़ी।

पुलिस टीम जैसे ही उनके ठिकाने के पास पहुँची, नक्सलियों को इसकी जानकारी मिल गई और उन्होंने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस टीम ने भी जवाबी कार्रवाई की। दोनों तरफ से कई घंटे तक चली इस मुठभेड़ में पुलिस ने 26 नक्सलियों को मार गिराया। इसके साथ ही पुलिस ने उनके शिविरों को भी ध्वस्त कर दिया।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने 26 नक्सलियों को मार गिराने पर गढ़चिरौली पुलिस के साथ-साथ C-60 कमांडो को बधाई दी। उन्होंने जिले के पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल के नेतृत्व की भी जमकर तारीफ की है। मुंबई से 920 दूर गढ़चिरौली जिला नक्सली गतिविधियों के लिए कुख्यात है। यहाँ के घने जंगल नक्सलियों के लिए पनाहगाह बने हैं।

बीते गुरुवार को महाराष्ट्र पुलिस ने एक नक्सली को गिरफ्तार कर बड़ी कामयाबी हासिल की थी। पुलिस ने इसी इलाके से कुख्यात नक्सली मंगारु मांडवी को गिरफ्तार किया था। मंगारु पर सरकार ने 2 लाख रुपये का सरकार इनाम रखा था। पुलिस के मुताबिक, मंगारु के खिलाफ हत्या और पुलिस पर हमला करने जैसे कई गंभीर मामले दर्ज हैं।

नक्सलियों को उत्पात को देखते हुए कई राज्यों ने स्पेशल टीम बना रखी है। नक्सल प्रभावित आंध्र प्रदेश पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए ग्रेहाउंड यूनिट बना रखी है। इस यूनिट के जवान नक्सलियों की ड्रेस में जंगलों में रहते हैं और उनके बारे में सूचनाएँ जुटाकर उनका सफाया करते हैं। इसी तरह महाराष्ट्र में नक्सल रोधी स्पेशल स्क्वॉयड C-60 यूनिट तैयार की गई है। इस यूनिट में राज्य पुलिस के 60 सबसे तेज-तर्रार जवानों को शामिल किया गया है। ये जवान आधुनिक हथियारों से लैस होते हैं और नक्सलियों की तरह जंगलों में रहकर ही उनके बारे में सूचनाएँ जुटाते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -