Monday, August 2, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा64% आतंकियों को सेना ने आतंकी बनने के साल भर में ही मार गिराया,...

64% आतंकियों को सेना ने आतंकी बनने के साल भर में ही मार गिराया, 7% को तो बस 10 दिन में

अपनी बातचीत में कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने कश्मीरी अभिभावकों से अपील की कि वो अपने बच्चे को 500 रुपए के लिए आतंकवादी न बनने दें।

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन और जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंग ने शुक्रवार (जुलाई 2, 2019) को की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में आतंकवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर बात की।

उन्होंने आतंकवाद की ओर जा रहे घाटी के युवकों की ओर इशारा करते हुए मीडिया से बातचीत में सेना के गहन शोध का हवाला दिया।

उन्होंने बताया कि 2019 में आतंकवाद से जुड़ने वाले 7 प्रतिशत आतंकियों को सेना ने 10 दिन के अंदर मार गिराया, जबकि हथियार उठाने वाले 64 प्रतिशत स्थानीय आतंकियों को आतंकवाद से जुड़कर पहले साल ही अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

अपनी बातचीत में कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने कश्मीरी अभिभावकों से अपील की कि वो अपने बच्चे को 500 रुपए के लिए आतंकवादी न बनने दें। सेना के मुताबिक 83% स्थानीय आतंकियों का पत्थरबाजी का ही इतिहास होता है। इसलिए, अगर वो आज वो अपने बच्चों को नहीं नहीं रोकते तो साल भीतर उन्हें मरना पड़ेगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इंडिया जीता… लेकिन सब गोल पंजाबी खिलाड़ियों ने किया: CM अमरिंदर सिंह के ट्वीट में भारत-पंजाब अलग-अलग क्यों?

पंजाब मुख्यमंत्री ने ट्वीट में कहा, ”इस बात को जानकर खुश हूँ कि सभी 3 गोल पंजाब के खिलाड़ी दिलप्रीत सिंह, गुरजंत सिंह और हार्दिक सिंह ने किए।”

शिव-पार्वती के होंठ वाला कवि, रोमिला थापर की बहू: MP की सरकारी समितियों में अब तक कॉन्ग्रेस के लोग, वामपंथी

मुख्यमंत्री बनते ही कमलनाथ ने मध्य प्रदेश की सरकारी समितियों को भंग कर उनमें कॉन्ग्रेस के विश्वस्तों को बिठाया था। अब भी वो लोग जमे हुए हैं। भाजपा को सत्ता में आए सवा साल हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,611FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe