Friday, July 19, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षापटाखे बनाने का लाइसेंस, बना रहे थे बम: अमृतसर में हुए धमाकों में पंजाब...

पटाखे बनाने का लाइसेंस, बना रहे थे बम: अमृतसर में हुए धमाकों में पंजाब पुलिस का खुलासा, गिरफ्तार लोगों के पास से 1 किलो विस्फोटक भी मिला

पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने गुरुवार को बताया कि गिरफ्तार लोग पंजाब के ही रहने वाले हैं। इनकी पहचान अमरीक सिंह, आजादवीर सिंह, साहिब सिंह, हरजीत सिंह और धर्मेंद्र सिंह के तौर पर हुई है।

अमृतसर के स्वर्ण मंदिर (Golden Temple Amritsar) के पास हुए धमाकों की गुत्थी पंजाब पुलिस ने सुलझा ली है। बुधवार (10 मई 2023) देर रात धमाके बाद 5 लोगों की गिरफ्तारी हुई थी। इनके पास से 1 किलो से ज्यादा विस्फोटक भी मिला है। इनमें से कुछ के पास पटाखा बनाने का लाइसेंस है। पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने गुरुवार को बताया कि गिरफ्तार लोग पंजाब के ही रहने वाले हैं। इनकी पहचान अमरीक सिंह, आजादवीर सिंह, साहिब सिंह, हरजीत सिंह और धर्मेंद्र सिंह के तौर पर हुई है।

डीजीपी ने बताया कि आजादवीर सिंह और अमरीक सिंह ने IED का इंतजाम किया था। अमरीक सिंह की पत्नी से भी पूछताछ की जा रही है। जानकारी के अनुसार विस्फोटक तैयार करने में अमरीक की पत्नी ने भी मदद की थी। उसके नाम पर पटाखे बनाने का लाइसेंस है। गिरफ्तार आरोपित साहिब सिंह भी अमृतसर में पटाखे बनाने का काम करता है।

डीजीपी यादव ने फॉरेंसिक रिपोर्ट के हवाले से जानकारी दी कि विस्फोटकों को क्लोराइड, ब्रोमाइड, सल्फर और पोटाश मिलाकर तैयार किया गया था। धर्मेंद्र ने विस्फोटकों को हरजीत सिंह के पास पहुँचाया। फिर हरजीत सिंह ने उसे सप्लायर साहिब सिंह को दिया। डीजीपी के अनुसार शनिवार (6 मई) को आजादवीर ने 200 ग्राम विस्फोटक पोलीथीन बैग में रखकर धमाके वाली जगह पर छिपाया था।

धमाके के बाद उसे लगा कि इसका कुछ खास असर नहीं हुआ है। इसलिए फिर दूसरा (8 मई) और तीसरा (10 मई) धमका किया गया। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डीजीपी गौरव यादव ने शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) के प्रमुख और एसजीपीसी टास्क फोर्स को गुनहगारों को पकड़ने में मदद के लिए धन्यवाद दिया।

बता दें कि बुधवार (10 मई) की रात श्री गुरु राम दास सराय के टॉयलेट से विस्फोटक बाहर फेंका गया था। आसपास के दुकानदारों ने तत्काल इसके बारे में पुलिस को सूचित किया। इस बीच एसजीपीसी के कर्मचारियों को एक आदमी टॉयलेट में जाता और बाहर निकलता दिखाई पड़ा। सीसीटीवी से ट्रेस कर उसे पकड़ा गया और पुलिस के हवाले कर दिया गया। इस बीच वह सराय में जाकर लेट चुका था। उससे पूछताछ के आधार पर अन्य लोगों की गिरफ्तारी हुई।

बता दें कि स्वर्ण मंदिर के पास सबसे पहले 6 मई 2023 को अमृतसर के हेरिटेज स्ट्रीट में ब्लास्ट हुआ था। इस धमाके में करीब 6 लोग घायल हुए थे। शुरुआत में इसे रेस्टोरेंट की चिमनी में हुआ ब्लास्ट बताया जा रहा था, लेकिन बाद में घटनास्थल से कुछ संदिग्ध चीजें बरामद हुई थी। इसके बाद 8 मई 2023 को स्वर्ण मंदिर से लगभग 800 मीटर दूर एक और ब्लास्ट हुआ। इस बार कोल्ड ड्रिंक के कैन में बम डालकर उसे लटका दिया गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फ्लाइट में साथ बैठे थे, पूछा मूवी देखती हो, दिखाने लगे पोर्न… जिंदल स्टील के CEO पर महिला यात्री ने लगाया इल्जाम, कहा- मुझे...

अनन्या छौछरिया नाम की महिला ने जिंदल स्टील के सीईओ दिनेश सारोगी के ऊपर यौन उत्पीड़न का इल्जाम लगाया है।

वाहन फूँके, पुलिस पर हमला… दंगों में जला ब्रिटेन का लीड्स: यहीं से सांसद चुना गया है गाजा समर्थक मोतिन अली, जीत के बाद...

ब्रिटेन के शहर लीड्स में दंगे भड़क गए हैं। प्रवासी दंगाइयों ने एक इलाके में जम का उत्पात मचाया और पुलिस की गाड़ियों को तोड़ आग लगा दी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -