Thursday, June 20, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाबम फेंका और सराय में जाकर सो गए: SGPC ने जारी किया CCTV फुटेज,...

बम फेंका और सराय में जाकर सो गए: SGPC ने जारी किया CCTV फुटेज, गोल्डन टेंपल के पास तीसरे धमाके के बाद 5 गिरफ्तार

बताया जा रहा है कि रात के 12:12 श्री गुरु राम दास सराय के टॉयलेट से विस्फोटक बाहर फेंका गया था, जिससे जोरदार धमाका हुआ। एसजीपीसी के कर्मचारियों को एक आदमी टाॅयलेट में जाता और बाहर निकलता दिखाई पड़ा। सीसीटीवी से ट्रेस कर उसे पकड़ा गया और पुलिस के हवाले कर दिया गया। इस बीच वह सराय में जाकर लेट चुका था।

पंजाब के अमृतसर में स्वर्ण मंदिर (Golden Temple Amritsar) के पास बुधवार (10 मई 2023) देर रात धमाका हुआ। 5 दिनों के भीतर इस इलाके में हुआ यह तीसरा विस्फोट है। पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार कर इन धमाकों की गुत्थी सुलझा लेने का दावा किया है। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी (SGPC) ने सीसीटीवी फुटेज जारी कर बताया है कि बम फेंकने के बाद संदिग्ध एक सराय में जाकर सो गए थे। प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष एचएस धामी ने इन धमाकों को पंजाब सरकार की नाकामी बताया है।

न्यूज एजेंसी एएनआई ने पंजाब पुलिस के सूत्रों के हवाले से बताया है कि अमृतसर विस्फोट की साजिश रचने वाले 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनका मकसद शांति भंग करना था। ब्लास्ट के लिए पटाखों वाला विस्फोटक इस्तेमाल किया गया था। गिरफ्तार लोगों में एक नवविवाहित जोड़ा भी बताया जा रहा है। यह जोड़ा गुरदासपुर का रहने वाला है। ये श्री गुरु राम दास सराय के कमरा नंबर 225 में ठहरे हुए थे।

बताया जा रहा है कि रात के 12:12 श्री गुरु राम दास सराय के टॉयलेट से विस्फोटक बाहर फेंका गया था, जिससे जोरदार धमाका हुआ। आसपास के दुकानदारों ने तत्काल इसके बारे में पुलिस को सूचित किया। इस बीच एसजीपीसी के कर्मचारियों को एक आदमी टाॅयलेट में जाता और बाहर निकलता दिखाई पड़ा। सीसीटीवी से ट्रेस कर उसे पकड़ा गया और पुलिस के हवाले कर दिया गया। इस बीच वह सराय में जाकर लेट चुका था। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शुरुआती पूछताछ में ही नवविवाहित जोड़े ने धमाकों को लेकर सारा मामला साफ कर दिया। इसके बाद पुलिस ने उनके तीन अन्य साथियों को गिरफ्तार किया।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष एचएस धामी ने ​इसे पंजाब सरकार की नाकामी बताते हुए कहा है कि पहले हुए दो विस्फोट की जाँच को लेकर राज्य सरकार ने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। अगर उन्होंने मामले को गंभीरता से लेकर जाँच को होती तो इसका असर दिखाई देता। उन्होंने कहा, “रात को एक बार फिर हृदय विदारक घटना हुई, जिसने हम सभी को सचेत कर दिया है। मैं मौजूदा सरकार से कहना चाहता हूँ कि अगर आप इस पवित्र स्थल की रक्षा करने में नाकाम हैं, तो किसी और मौका दें। हम अपनी खुद की टास्क फोर्स को मजबूत करेंगे। हम पुलिस से इस मामले की गहन जाँच का अनुरोध करते हैं।”

बता दें कि स्वर्ण मंदिर के पास सबसे पहले 6 मई 2023 को अमृतसर के हेरिटेज स्ट्रीट में ब्लास्ट हुआ था। इस धमाके में करीब 6 लोग घायल हुए थे। शुरुआत में इसे रेस्टोरेंट की चिमनी में हुआ ब्लास्ट बताया जा रहा था, लेकिन बाद में घटनास्थल से कुछ संदिग्ध चीजें बरामद हुई थी। इसके बाद 8 मई 2023 को स्वर्ण मंदिर से लगभग 800 मीटर दूर एक और ब्लास्ट हुआ। इस बार कोल्ड ड्रिंक के कैन में बम डालकर उसे लटका दिया गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -