Tuesday, May 21, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाNRC का असर: बंगाल से वापस बांग्लादेश लौटने लगे घुसपैठिए, कन्हैया सहित वामपंथी नेताओं...

NRC का असर: बंगाल से वापस बांग्लादेश लौटने लगे घुसपैठिए, कन्हैया सहित वामपंथी नेताओं ने सरकार को कोसा

बीएसएफ का कोकरौदा कैम्प बंगलादेश सीमा के बेहद नज़दीक है। इसके करीब दर्जनों ऐसे गाँव हैं जो एनआरसी के फैसले के बाद सूने हो गए हैं। पास के ही एक गाँव पंडितपारा के रहने वाले मोहम्मद शमशाद आलम ने बताया कि.....

भारत-बांग्लादेश की सीमा से सटे इलाकों में एनआरसी का असर साफ़ दिखाने लगा है। सरकार ने जब से एनआरसी को लेकर अपनी नीति स्पष्ट की है। तब से ही देश में बाहर से आकर अवैध रूपसे बसने वालों के बीच खलबली मच गई है।

अख़बार में छपी एक खबर के मुताबिक जो लोग कभी सीमा पर तैनात सुरक्षाबालों की निगरानी से बचते-बचाते भारत में घुस आए थे आज वे सभी वापस सीमा पर जाने लगे हैं। यही कारण है कि बंगाल के सीमावर्ती गाँवों में एकदम सन्नाटा पसर गया है। बता दें कि बांग्लादेश से आए यह लोग चाय-पत्ती तोड़ने से लेकर रुई धुनने और घर बनाने का काम किया करते थे।

एनआरसी के बाद अवैध शरणार्थियों के गाँव को छोड़कर चले जाने के बाद स्थानीय विधायक ने इसपर राजनीति शुरू कर दी। इस सम्बन्ध स्थानीय विधायक अली इमरान ने एक सभा बुलाई थी। इस सभा में वामपंथी नेता कन्हैया कुमार भी शामिल हुए थे। सभी ने एक सुर में एनआरसी और बीजेपी सरकार को खूब कोसा।

दरअसल बीएसएफ का कोकरौदा कैम्प बंगलादेश सीमा के बेहद नज़दीक है। इसके करीब दर्जनों ऐसे गाँव हैं जो एनआरसी के फैसले के बाद सूने हो गए हैं। पास के ही एक गाँव पंडितपारा के रहने वाले मोहम्मद शमशाद आलम ने बताया कि अधिकतर गाँव पूरी तरह से खाली हो गए हैं। इन गाँव में रहने वाले लोग अब सीमा पार करके वापस जाने लगे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -