Saturday, May 18, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाआतंकियों से सीधे संपर्क में था गोरखनाथ मंदिर का हमलावर मुर्तजा, ISIS में होने...

आतंकियों से सीधे संपर्क में था गोरखनाथ मंदिर का हमलावर मुर्तजा, ISIS में होने वाला था शामिल: UAPA लगने के बाद NIA ले सकती है केस

मुर्तजा के घर पुलिस को कई एयरगन और जेहादी साहित्य मिले थे। कुछ जेहादी साहित्य अरबी भाषा में थे। इसके साथ ही वह सीरिया सहित अन्य देशों में आतंकी संगठनों को पैसे भी भेजता था।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर स्थित गोरखनाथ मंदिर में हमला करने वाला अहमद मुर्तजा अब्बासी आतंकियों के संपर्क में था और उसने कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (Islamic State) में शामिल होने की ऑनलाइन शपथ भी ली थी। ATS ने उसके खिलाफ गैर-कानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) के तहत मामला दर्ज किया है।

यूपी के आतंकवाद निरोधी दस्ते (ATS) द्वारा जुटाए गए सबूतों के आधार पर पता चला है कि वह कट्टरपंथियों से लगातार संपर्क में था। उसके घर से बरामद किए लैपटॉप और मोबाइल की फोरेेंसिक जाँच के बाद ATS ने UAPA की धारा बढ़ाई है। जल्दी ही इस केस को विशेष अदालत में स्थनांतरित कराया जाएगा। यह भी कहा जा रहा है कि NIA इस केस को अपने हाथ में लेगी।

रिमांड पूरा होने के बाद शनिवार (16 अप्रैल 2022) को उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में गोरखपुर जेल भेज दिया गया। मुर्तजा के दो वीडियो भी सामने आये थे, जिनमें वह खुद गोरखनाथ मंदिर में हमले के पीछे नागरिकता संशोधन कानून (CAA) व नेशनल रजिस्टर फॉर सिटीजन (NRC) को लेकर अपना गुस्सा जाहिर किया था।

बता दें कि UAPA लगने के बाद जाँच एजेंसियों को 180 दिन में चार्जशीट दायर करना होगा। वहीं, न्यायिक हिरासत भी 60 दिन मिलती है। आम अपराधों में जाँच एजेंसी को 90 दिन में चार्जशीट दायर करना होता है और आरोपित को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा जाता है, जिसे हर 14 दिन पर बढ़वाना भी पड़ता है। वहीं, UAPA लगने के बाद मामले की जाँच गजटेड ऑफिसर करता है।

जाँच के दौरान मुर्तजा के घर पुलिस को कई एयरगन और जेहादी साहित्य मिले थे। इनमें से कुछ अरबी भाषा में थे। वह अक्सर इस्लामिक कट्टरपंथियों का वीडियो देखा करता था। यही नहीं, वह सीरिया सहित अन्य देशों में आतंकी संगठनों को पैसे भी भेजता था।

यूपी एटीएस की जाँच में यह खुलासा भी हुआ है कि मुर्तजा सोशल मीडिया पर बहुत एक्टिव रहता था। फेसबुक पर उसकी 6 आईडी हैं और हर आईडी में करीब 1,000 दोस्त। इनमें उसके केवल मुस्लिम दोस्त ही हैं। एटीएस को इनमें अभी तक सिर्फ एक गैर-मुस्लिम युवक मिला है, जो महाराष्ट्र का रहने वाला है। उसने मुर्तजा के साथ आईआईटी (IIT) की पढ़ाई की है।

गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर पर 3 अप्रैल 2022 को हमला करने वाले मुर्तजा अब्बासी के अब्बा मुशीर अहमद अब्बासी को ATS ने तलब किया था। यह बात भी सामने आई थी कि मुर्तजा सीरिया भागने की फिराक में था। गोरखनाथ मंदिर पर हमले के बाद उसकी योजना नेपाल होते हुए सीरिया या अफगानिस्तान जाने की थी। वह आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के लिए केमिकल हथियारों की खेप तैयार करना चाहता था।

रिपोर्ट में बताया गया है कि इस्लामिक स्टेट ने 25 मार्च को एक वीडियो जारी किया था। इसमें नजर आ रहे आतंकी के हाथ में भी उसी तरह के हथियार थे जैसा मंदिर पर हमले के दौरान मुर्तजा ने ले रखा था। मुर्तजा अब्बासी का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। इसमें वह कह रहा है, “मेरे बड़े पापा ने कहा कि थोड़ा सीरियस लग रहा है। ये पुलिस वाले हैं और ये समन दे रहे हैं। कोई केस किए हो क्या? यहाँ रहोगे कि कहीं जाओगे? फिर हम दिमाग लगाए और निकल गए घर से। हम वहाँ से नेपाल चले गए।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CM केजरीवाल के घर से विभव कुमार को दिल्ली पुलिस ने उठाया: स्वाति मालीवाल की आई मेडिकल रिपोर्ट, आँख-चेहरा-पैर में चोट

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने सीएम केजरीवाल के पीए विभव कुमार को हिरासत में ले लिया है।

‘AAP झूठ की बुनियाद पर बनी पार्टी, इसकी विश्वसनीयता शून्य नहीं, माइनस में’ – BJP के साथ स्वाति मालीवाल मुद्दे पर जेपी नड्डा का...

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल लंबे समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में हैं और उनके ही इशारे पर ये साजिश रची गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -