Sunday, June 23, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा10 गोली खाकर भी जिस Axel ने आतंकी को दबोचा, उस आर्मी डॉग को...

10 गोली खाकर भी जिस Axel ने आतंकी को दबोचा, उस आर्मी डॉग को ‘सर्वोच्च’ वीरता पुरस्कार: बचाई थी कई सैनिकों की जान

सेना के एलीट असॉल्ट डॉग एक्सल को एक आतंकवादी ने 10 गोली मारी थी। गोली लगने के बावजूद उसने आतंकवादी को पकड़ लिया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला कि...

कुछ देश अपने मृत सैनिकों तक का सम्मान नहीं करते जबकि भारत ने अपने वीर पुरुषों को ही नहीं बल्कि जीवों तक का सम्मान किया है। आतंक-विरोधी अभियान में बलिदान हुए आर्मी डॉग एक्सल (Indian Army Dog Axel) को मरणोपरांत सम्मान देना उसी परंपरा की निशानी है।

इंडियन आर्मी डॉग एक्सल को मरणोपरांत आज 15 अगस्त 2022, स्वतंत्रता दिवस के दिन वीरता पुरस्कार ‘मेंशन-इन-डिस्पैच’ से सम्मानित किया गया। एक्सल भारतीय सेना का वो बहादुर डॉग था, जिसने गोली लगने के बाद भी आतंकी को दबोचा था।

30 जुलाई को कश्मीर के बारामूला जिले में सेना के एलीट असॉल्ट डॉग एक्सल की एक आतंकवादी ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। एक्सल ने गोली लगने के बावजूद आतंकवादी को पकड़ लिया था। एक्सल सिर्फ 2 साल का था और वह बेल्जियन मैलिनोइस (Belgian Malinois) प्रजाति का कुत्ता था।

एक्सल (Axel) की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला है कि 10 गोलियों के घाव के अलावा, उसकी फीमर पर फ्रैक्चर के साथ-साथ अन्य घाव भी थे। इससे स्पष्ट है कि लोगी लगने के बाद भी सेना के बहादुर डॉग ने आतंकी को नहीं छोड़ा था।

एक्सल की बहादुरी ने उन सैनिकों की जान बचाने में मदद की, जो ऑपरेशन का हिस्सा थे। सैनिकों के इमारत के अंदर जाने से पहले एक्सल ने एक कमरे में जाकर उसे ‘क्लीयर (मतलब कोई विस्फोटक नहीं, कोई खतरा नहीं की सूचना दी)’ किया। उसके बाद जैसे ही वो दूसरे कमरे में गया, वहाँ छिपे आतंकी ने उसे गोली मार दी। इसके बाद सैनिकों और आतंकियों के बीच फायरिंग शुरू हो गई। एक्सल के हैंडलर को भी इस अभियान के दौरान गंभीर चोंटे आईं।

एक्सल की बहादुरी के कारण हालाँकि कई सैनिकों की जान बच गई। क्योंकि जहाँ आतंकी छिपे हुए हों, ऐसे कमरे में हस्तक्षेप बहुत जोखिम भरा होता है। एक्सल ने पहले कमरे में जाकर आतंकी के होने का संकेत दिया, जिससे कई सैनिकों की जान बच सकी।

इंडियन आर्मी डॉग एक्सल (Indian Army Dog Axel) की इस बहादुरी को जानने के बाद उसकी वीरता को हर किसी ने सराहा। भारतीय सेना के उत्तरी कमान ने एक्सल को देश की सेवा करने वाला रियल हीरो कह करार दिया था। इंडियन आर्मी के ही चिनार कोर ने एक्सल की बहादुरी को सलाम किया था।

हाल के वर्षों में यह सर्वोच्च वीरता पुरस्कार (मेंशन-इन-डिस्पैच) होगा, जो एक आर्मी डॉग को ‘काउंटर इंसर्जेंसी ऑपरेशन’ में प्रदान की गई सेवाओं के लिए मिला है। आम तौर पर आर्मी डॉग्स को आतंकवाद विरोधी अभियानों में उनकी उत्कृष्टता के लिए सेना प्रमुख प्रशस्ति पत्र और उप-सेना प्रमुख प्रशस्ति पत्र जैसे प्रशंसा पुरस्कारों से सम्मानित किया जाता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -