Monday, July 26, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा2 Pak कमांडो ढेर, बाकी जान बचाकर भागे: घुसपैठ कर रही पाकिस्तानी सेना को...

2 Pak कमांडो ढेर, बाकी जान बचाकर भागे: घुसपैठ कर रही पाकिस्तानी सेना को मिला मुँहतोड़ जवाब

पाकिस्तानी घुसपैठिया दस्ते के अन्य सदस्य अपनी जान बचाकर मौक़े से भाग निकले। इस कार्रवाई में 1 भारतीय जवान के शहीद होने की भी खबर है।

जम्मू-कश्मीर की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की नापाक हरकतों का आज भारतीय सेना ने मुँहतोड़ जवाब दिया। सुंदरबनी सेक्टर में घुसपैठ करते हुए सेना के जवानों ने पाकिस्तान के कम से कम 2 एसएसजी के कमांडो को ढेर किया। जबकि दस्ते के अन्य सदस्य अपनी जान बचाकर मौक़े से भाग निकले। इस कार्रवाई में 1 भारतीय जवान के शहीद होने की भी खबर है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोमवार (दिसंबर 16, 2019) की शाम, भारतीय जवानों की मुस्तैदी के बावजूद, सुंदरबनी सेक्टर में पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) द्वारा घुसपैठ की कोशिश की जा रही थी। लेकिन संदिग्ध गतिविधियों का पता चलते ही भारत ने जवाबी कार्रवाई की और पाकिस्तान की एसएसजी यूनिट के कम से कम 2 एलीट कमांडो को मार गिराया।

जानकारी के अनुसार, सोमवार को राजौरी के सुंदरबनी सेक्टर के अंतर्गत केरी बट्टल इलाके में एलओसी पर स्थित ललयाली चौकी पर पाकिस्तानी सेना के बैट दस्ते ने हमला किया। हालाँकि, फायरिंग होने से भारतीय सेना समझ गई कि या तो घुसपैठ की कोशिश हो रही है या फिर पाकिस्तानी सेना किसी बड़े बैट हमले को अंजाम दे रही है। सेना ने उसी समय सभी नाका पार्टियों और अग्रिम चौकियों को सचेत कर दिया।

इसके बाद पाकिस्तानी की ओर से हो रही गोलाबारी के थोड़ा धीमा पड़ते ही पाकिस्तानी सेना का बैट दस्ता एलओसी पार कर ललियाली चौकी की तरफ बढ़ा, लेकिन वहाँ मौजूद जवानों ने तुरंत जवाबी कार्रवाई करते हुए बैट दस्ते के 2 कमांडों को ढेर कर दिया। जिसके बाद उनके अन्य साथी उन शवों को अपने साथ अपने इलाके में ले गए।

बता दें कि पाकिस्तान की ओर से हुई इस नापाक हरकत पर रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल देवेंद्र आनंद ने जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए पाकिस्तानी सेना ने भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी की। इसमें एक जवान शहीद हो गया।

उन्होंने ये भी बताया कि इसी दौरान अग्रिम इलाके में नाका पार्टी ने कुछ संदिग्ध तत्वों को भारतीय इलाके में घुसते देखा। जवानों द्वारा ललकारे जाने पर उन्होंने फायरिग शुरू कर दी और वापस भागने लगे। जवानों ने भी जवाबी फायर किया और उन्हें वापस भागने पर मजबूर कर दिया।

कारगिल के ‘शैतान’ परवेज़ मुशर्रफ़ को फाँसी की सजा: इमरजेंसी थोपने के लिए देशद्रोह का था मामला

‘मैं महक केसवानी अब बन गई हूँ महक फातिमा, अपनी मर्जी से अपनाया इस्लाम’ – पाकिस्तान से आया Video

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,215FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe