Thursday, June 30, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाजम्मू-कश्मीर पुलिस ने बांदीपोरा में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी मॉड्यूल का किया भंडाफोड़, पाकिस्तान से...

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बांदीपोरा में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी मॉड्यूल का किया भंडाफोड़, पाकिस्तान से ट्रेंड आरिफ एजाज सहित 7 गिरफ्तार

गिरफ्तार किए गए आतंकवादियों में एक पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आए आतंकवादी के अलावा दो हाइब्रिड आतंकवादी और चार आतंकियों के सहयोगी शामिल हैं।

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। पुलिस ने सुरक्षाबलों के साथ मिलकर बांदीपोरा जिले में प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया। सुरक्षाबलों ने बांदीपोरा में सात आतंकियों और उनके सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। 

इनके पास से आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद, और चार दोपहिया सहित छह वाहन जब्त किए गए हैं। पुलिस ने जो हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है, उनमें दो पिस्तौल, तीन पिस्टल मैगजीन, 25 पिस्टल राउंड और तीन हथगोले शामिल हैं।

गिरफ्तार किए गए आतंकवादियों में एक पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आए आतंकवादी के अलावा दो हाइब्रिड आतंकवादी और चार आतंकियों के सहयोगी शामिल हैं। पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आए आतंकवादी की पहचान नदिहाल के अनफॉल निवासी आरिफ एजाज शेहरी के रूप में हुई है। शेहरी 2018 में वाघा बॉर्डर के जरिए वैध वीजा पर पाकिस्तान गया था और अवैध हथियार ट्रेनिंग लेने के बाद वापस भारत में घुसपैठ कर गया था और बांदीपोरा में प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर के साथ सक्रिय रूप से काम करना शुरू कर दिया था।

वहीं दो हाइब्रिड आतंकवादियों की पहचान रामपोरा निवासी एजाज अहमद रेशी और गुंडपोरा निवासी शारिक अहमद लोन के रूप में हुई है। गिरफ्तार आतंकवादियों को खास तौर पर बांदीपोरा जिले में पुलिस/सुरक्षा बलों और अन्य आसान ठिकानों पर हमले करने का काम सौंपा गया था।

इसके साथ ही गिरफ्तार किए गए चार आतंकी साथियों की पहचान बांदीपोरा निवासी रियाज अहमद मीर उर्फ मेठा सेहरी, तवहीदाबाद बाग निवासी मोहम्मद वजा उर्फ गुल बाब, चिट्टीबंडी अरागा निवासी मकसूद अहमद मलिक और तवहीदाबाद बाग निवासी शीमा शफी वजा के तौर पर हुई है।

शुरुआती जाँच से पता चला है कि गिरफ्तार आतंकियों के सहयोगी बांदीपोरा जिले में आतंकवादियों को पनाह देने, आतंकवादियों के परिवहन सहित रसद / सामग्री सहायता देने में शामिल थे। गिरफ्तार महिला आतंकवादी सहयोगी बांदीपोरा शहर में वाई-फाई हॉटस्पॉट, आवास और आतंकवादियों को फेरी लगाने में भी शामिल थी। मामले में संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe