Monday, November 29, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाजम्मू-कश्मीर: आतंकियों ने दो और गैर-कश्मीरी हिंदुओं की हत्या की, गोलीबारी में एक घायल,...

जम्मू-कश्मीर: आतंकियों ने दो और गैर-कश्मीरी हिंदुओं की हत्या की, गोलीबारी में एक घायल, मरने वाले दोनों बिहारी

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, "उन्हें (मजदूरों को) आतंकवादियों ने छह गोलियाँ मारी थीं। मुझे नहीं पता कि कमरे के अंदर कितने बंदूकधारी थे।" एक अनुमान के मुताबिक इस समय घाटी में 50 हजार से अधिक मजदूर रह रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर में केंद्र सरकार द्वारा कश्मीरी पंडितों को फिर से बसाए जाने की घोषणा के बाद से आतंकी बौखलाए हुए हैं। इसी बौखलाहट में वो कश्मीर में रहने वाले गैर-मुस्लिमों और गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर लगातार उन पर जानलेवा हमले कर रहे हैं। ताजा मामला दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम का है, जहाँ आतंकियों ने दो गैर-कश्मीरी मजदूरों की बेरहमी से हत्या कर दी है। बता दें कि पिछले 15 दिनों में कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा 11 नागरिकों की हत्या कर दी गई है।

मृतकों की पहचान बिहार निवासी राजा और जोगिंदर देव के रूप में हुई है। वहीं, घायल व्यक्ति की पहचान चुनचुन देव के रूप में हुई है। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, “हम अपने कमरे में बैठे थे जब हमारा एक साथी आया और कहा कि हमारे तीन लोगों को गोली मार दी गई है। हम उन्हें अस्पताल ले गए, जहाँ दो को मृत घोषित कर दिया गया।”

एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, “उन्हें (मजदूरों को) आतंकवादियों ने छह गोलियाँ मारी थीं। मुझे नहीं पता कि कमरे के अंदर कितने बंदूकधारी थे।” एक अनुमान के मुताबिक इस समय घाटी में 50 हजार से अधिक मजदूर रह रहे हैं।

इस घटना की पुष्टि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कर दी है। राज्य की पुलिस की ओर से बताया गया है कि कुलगाम के वानपोह इलाके में स्थित दो गैर-स्थानीय मजदूरों के घर में घुसकर अंधाधुंध फायरिंग की गई। इस आतंकवादी घटना में 2 लोग मारे गए और 1 घायल हुआ है। फिलहाल, सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान छेड़ दिया है।

गौरतलब है कि इससे पहले शनिवार (16 अक्टूबर 2021) को श्रीनगर में भी आतंकियों ने दो गैर-कश्मीरियों को निशाना बनाया था। इसमें श्रीनगर के ईदगाह इलाके में रेहड़ी लगाने वाले बिहार के एक निवासी को गोली मार दी गई, जो वहाँ पानी-पूरी बेचने थे। मृतक का नाम अरविंद कुमार साह था। उन्हें गंभीर स्थिति में ही श्रीनगर SMHS ले जाया गया, जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। वो बिहार के बाँका जिले के रहने वाले थे। उन्हें ईदगाह पार्क के बाहर गोली मारी गई थी।

वहीं, आतंकियों ने पुलवामा में उत्तर प्रदेश के रहने वाले सगीर अहमद नाम के शख्स को गोली मार दी थी, जो मिस्त्री का काम करते थे। इस घटना के बाद जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने घटना को निंदनीय बताया था। हालाँकि, शनिवार को ही सेना ने पुलवामा के पंपोर में लश्कर ए तैयबा के टॉप कमांडर उमर मुश्ताक खांडे समेत 2 आतंकियों को मार कर ढेर कर दिया था।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की टारगेटेड किलिंग के बाद उनका सफाया करने के लिए सेना ने ‘ऑपरेशन क्लीन’ लॉन्च किया है। इसके तहत सेना ने अक्टबूर महीने में अब तक 11 आतंकियों को ढेर कर दिया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हो गया निधन, कोरोना से रिकवर होने के बाद से ही गिर रहा था स्वास्थ्य’: जानिए क्या है सच्चाई

सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट्स में दावा किया जा रहा है कि पत्रकार विनोद दुआ की मौत हो गई है। लेकिन, असल में सच्चाई कुछ और ही।

यीशु के नाम पर शैतानों को भगाने का खेल: नडियाद के ईसाई समूह ने गोधरा में कराया धर्मांतरण, वायरल वीडियो से खुली पोल

जब ईसाइयों का वही समूह नडियाद से दोबारा आया तो पड़ोसियों को घर में हो रही संदिग्ध गतिविधियों पर शक हुआ और उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,465FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe