Friday, June 21, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाकश्मीर में यूपी के हिन्दू मजदूर को आतंकियों ने मार डाला, 1 दिन पहले...

कश्मीर में यूपी के हिन्दू मजदूर को आतंकियों ने मार डाला, 1 दिन पहले पुलिस अधिकारी को मार दी थी गोली

"पुलिस घायल को अपने साथ अस्पताल ले जाने लगी। रास्ते में मुकेश ने दम तोड़ दिया। मुकेश की हत्या आतंकियों द्वारा किए जाने की आशंका है।"

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा इलाके में आतंकियों ने एक प्रवासी मजदूर की हत्या कर दी है। मृतक का नाम मुकेश है जो मूलतः उत्तर प्रदेश का रहने वाला था। मृतक का पोस्टमॉर्टम करवाया जा रहा है। घटना सोमवार (30 अक्टूबर, 2023) की है। आतंकियों की तलाश में पुलिस और पैरामिलिट्री ने इलाके को घेर लिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला पुलवामा के नौपोरा इलाके का है। यहाँ के तुमची क्षेत्र में सोमवार को पुलिस को एक व्यक्ति के घायल होने की सूचना मिली। मौके पर पहुँची पुलिस ने घायल की पहचान मुकेश के तौर पर की। उत्तर प्रदेश से मजदूरी करने आए मुकेश को गोली लगी थी। पुलिस घायल को अपने साथ अस्पताल ले जाने लगी। रास्ते में मुकेश ने दम तोड़ दिया। मुकेश की हत्या आतंकियों द्वारा किए जाने की आशंका है। पुलिस ने पैरामिलिट्री के साथ मिल कर इलाके को घेर कर सघन तलाशी अभियान शुरू कर दिया है।

इस मामले में कश्मीर पुलिस के DGP दिलबाग सिंह का बयान आया है। उन्होंने कहा कि पुलिस टीमें हमलावरों की पहचान में जुटी हुई हैं। जाँच और कार्रवाई के लिए ADG स्तर के अधिकारी की टीम काम पर लगाई गई है। DGP का दावा है कि जाँच दल को पुख्ता सबूत मिले हैं।

1 दिन पहले इंस्पेक्टर को बनाया था निशाना

आतंकियों द्वारा उन्नाव जिले के मुकेश की हत्या से 1 दिन पहले कश्मीर में आतंकियों ने पुलिस के एक इंस्पेक्टर को निशाना बनाया था। घटना श्रीनगर के ईदगाह क्षेत्र की है जहाँ पुलिस इंस्पेक्टर मसरूर अहमद कुछ बच्चों के साथ क्रिकेट खेल रहे थे। गोली लगने से गंभीर रूप से घायल मसरूर अहमद का इलाज अस्पताल में चल रहा है। इंस्पेक्टर पर हमला करने वालों की तलाश की जा रही है।

पहले भी हुए हैं गैर प्रदेशों से आए लोगों पर हमले

बताते चलें कि कश्मीर में प्रवासी मजदूरों पर हमले की ये पहली घटना नहीं है। इस से पहले भी सिलसिलेवार ढंग से गैर-मुस्लिम व्यापारियों को निशाना बनाया गया था। गुरुवार (13 जुलाई, 2023) को शोपियाँ के गगरान गाँव में 2 नकाबपोश आतंकियों ने बिहार के मजदूर पिंटू, हीरालाल और अनमोल को गोली मार दी थी। तीनों को गंभीर हालात में अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

इसके अलावा अक्टूबर 2022 को शोपियां में उत्तर प्रदेश के कन्नौज से कमाने गए मजदूर मोनिश कुमार और राम सागर पर ग्रेनेड फेंका गया था। इस हमले में दोनों की मौत हो गई थी। इस हमले को इमरान बशीर गनी ने अंजाम दिया था जिसका संबंध लश्कर-ए-तैय्यबा से पाया गया था। आतंकी को गिरफ्तार कर लिया गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभी तिहाड़ जेल से बाहर नहीं आ पाएँगे दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल, हाई कोर्ट ने बेल पर लगाई रोक: ED ने बताया- अब...

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट से बेल मिलने के बाद भी अभी सीएम केजरीवाल जेल से रिहा नहीं होंगे। ईडी के विरोध पर दिल्ली हाई कोर्ट ने बेल पर रोक लगा दी है।

साल भर में 70% कम हुआ स्विस बैंकों में रखा धन, 2019 से भारत के साथ जानकारी साझा कर रहा है स्विट्जरलैंड: जानिए क्यों...

भारत में ग्राहक जमा खातों और अन्य बैंक शाखाओं के माध्यम से रखी गई धनराशि में भी काफी गिरावट आई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -